रुकिए जनाब! सबरी रेलवे फाटक है बंद:मिर्जापुर में रेलवे ट्रैक की होगी मरम्मत, 29 मार्च को 12 घंटे बंद रहेगा फाटक; उत्तर मध्य रेलवे ने दी जानकारी

मिर्जापुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ठहरिए! अगर आप मिर्जापुर नगर के सबरी रेलवे फाटक से 29 मार्च को जाना चाहते हैं तो इस रूट पर मत जाइएगा। वह इसलिए कि इस सड़क पर लगा रेलवे का फाटक सुबह 7 बजे से सायंकाल 7 बजे तक कुल 12 घंटे के लिए बंद रहेगा। यह फरमान उत्तर मध्य रेलवे के द्वारा जारी किया गया है। नगर के प्रमुख मार्ग बंद किए जाने से अगर मुश्किलों से बचना चाहते हैं तो यह संदेश आपके लिए सुखकारी होगा। यह मार्ग नगर को प्रयागराज समेत विभिन्न अंचलों से जोड़ने वाला जिले का प्रमुख मार्ग है।

12 घंटे बाद खुलेगा रेलवे फाटक
नगर को ग्रामीण अंचलों समेत जिला मुख्यालय को विभिन्न जनपदों से जोड़ने वाले सबरी मार्ग पर रेल की पटरियों को दुरुस्त करने के लिए उत्तर मध्य रेलवे ने 29 मार्च को प्रातः 7 बजे से सायंकाल 7 बजे तक रेलवे के फाटक को बंद रखने का निर्देश दिया है। इस दौरान रेल पटरियों पर परिचालन को दुरुस्त बनाए रखने के लिए मरम्मत का कार्य किया जाएगा। सबरी मार्ग नगर का सर्वाधिक व्यस्त मार्ग है।

आम दिनों में रेलवे फाटक बंद होने के बाद कुछ ही मिनट में यातायात के दबाव के चलते कई सौ मीटर तक वाहनों की कतार लग जाती है। अब 12 घंटे तक रेलवे फाटक बंद रखने पर अगर कोई वाहन चालक इस रूट पर चला गया तो उसे लौटने में काफी मुश्किलों का सामना करना तय है। फोर व्हीलर जाने के लिए यह मार्ग तो है, लेकिन सकरा होने के कारण इस पर चार पहिया वाहनों को बैक करने में यातायात के दबाव के चलते मुश्किलों भरा काम है। इस मार्ग पर न जाने पर ही वाहन चालकों की भलाई, समय और धन की बचत है।

यातायात का बोझ संभाल रहा सबरी फाटक
रेलवे प्रशासन आम जनता की सुरक्षा और हादसों को समाप्त करने के लिए रेलवे फाटकों को धीरे-धीरे बंद कर रहा है। उसके स्थान पर भूमिगत या ऊपरी गामी सेतु का निर्माण किया जा रहा है। सबरी फाटक से चंद दूरी पर दक्षिण की ओर राष्ट्रीय राजमार्ग और उत्तर में सबरी चौराहा होने के कारण सेतु निर्माण की योजना अधर में है। जगह कम होने और रेल फाटक मार्ग पर यातायात के दबाव को देखते हुए अभी इसे चालू रखा गया है। जिले के विंध्याचल क्षेत्र में बने अंडर ग्राउंड मार्ग बारिश के दिनों में वाहन चालकों के लिए पानी भर जाने के कारण मुसीबत बन जाते हैं। लिहाजा अभी तक सबरी रेलवे फाटक को पूर्ववत चलाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...