कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर का स्वामी प्रसाद पर हमला:बोले- स्वामी को इलाज की जरूरत, भाजपा सरकार में मंत्री रहते नहीं बोले, पाला बदलते ही बदले सुर

मिर्जापुर11 दिन पहले

माता विंध्यवासिनी धाम में पहुंचे प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने माता रानी का दर्शन पूजन किया। साथ ही 1008 श्रमिकों की बेटी के विवाह का संकल्प लिया। स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर कहा कि एक बार उन्हें अपने आप को किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाना चाहिए। जनता सब समझती है, वह किसके इशारे पर बोल रहे हैं। 5 साल भाजपा सरकार में मंत्री रहते भगवान श्रीराम या रामायण पर कुछ नहीं बोले। आधा हिसाब विधान सभा चुनाव 2022 में हुआ है। जनता समझदार है। 2024 में पूरा हिसाब कर देगी।

अनिल राजभर ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य फ्रस्ट्रेशन में हैं। जो भारत भूमि की हमारी परंपरा, संस्कृति एवं हमारी पहचान है। जिस रामायण के प्रति भारत में रहने वाले करोड़ों की आस्था है, दुनिया के कोने कोने में रहने वाले भारतीयों की श्रद्धा है, उसपर इस तरह से टिप्पणी करना मैं समझता हूं कि एक मानसिक संतुलन जिसका ठीक है वह इस तरह बयान नहीं दे सकता।

विंध्याचल धाम में दर्शन करने पहुंचे कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर।
विंध्याचल धाम में दर्शन करने पहुंचे कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर।

सरकार में रहते हुए कुछ नहीं बोल पाए

उन्होंने कहा कि जनता को समझना चाहिए पिछली भाजपा सरकार में यह 5 साल मंत्री रहे। तब उन्होंने भगवान श्रीराम या रामायण पर कभी भी टिप्पणी नहीं की। ये ऐसे लोग हैं जो समाज को बड़ा नासमझ समझते हैं, वह समझते हैं कि हम बहुत चालाक हैं। जनता बहुत मूर्ख है। हम जो कहेंगे जनता उसको जनता सुनेगी। अब जनता बहुत समझदार है। वह सब जानती है। इस तरह के बयान के पीछे लोगों का मतलब क्या है।

थोड़ा बहुत जनता ने हिसाब किताब 2022 के चुनाव विधानसभा चुनाव में कर दिया। अब 2024 के लोकसभा चुनाव में उनके परिवार के दल को जिसके कहने पर ऐसा बयान दे रहे हैं। बाकी का सबक 2024 में जनता सिखा देगी । इस मौके पर नगर विधायक रत्नाकर मिश्र, मड़िहान विधायक रामाशंकर सिंह पटेल एवं क्षेत्राधिकारी ट्रैफिक अनिल पांडेय मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...