मिर्जापुर में टीचर का मिला शव:रात को माता-पिता से फोन पर की थी बात, सुबह स्कूल संचालक ने देखा तो नाक से निकल रहा था खून

मिर्जापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीचर नीरज की मौत कैसे हुई, पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। - Dainik Bhaskar
टीचर नीरज की मौत कैसे हुई, पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।

मिर्जापुर के जिगना थाना क्षेत्र के बिहसड़ा कला स्थित सरस्वती विद्या मंदिर के प्रबन्धक तथा अध्यापक नीरज त्रिपाठी पुत्र गंगा प्रसाद त्रिपाठी का शव मंगलवार को संदिग्ध अवस्था में उनके कमरे पर मिला। प्रतापगढ़ निवासी नीरज तकरीबन तीन वर्षों से अध्यापन का कार्य कर रहे थे। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया।

काफी देर तक नहीं खुला कमरा
कुंडा निवासी नीरज त्रिपाठी पिछले वर्ष से निजी संस्थान में सेवा दे रहे थे। वह विद्यालय परिसर में स्थित अपने आवास पर बच्चों को ट्यूशन भी पढ़ाते थे। बताते हैं कि उनके देर तक कमरे से बाहर न आने पर विद्यालय संचालक उनके कमरे में पहुंचे, तो नीरज के मुंह से झाग निकला था। उन्होंने पुलिस को सूचना दी । मौके पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में लेकर जांच में जुटी है।

मृतक को है चार साल की बेटी
बताया जाता है कि एक हफ्ते पहले पत्नी अपने छोटे देवर के साथ ससुराल या मायके चली गई । लोगों का कहना है कि मृतक कुछ दिनों से बीमार था । मृतक को एक चार साल की बेटी है। नीरज त्रिपाठी तीन भाइयों में सबसे बड़े थे। बीती रात को खाना खाने के बाद उन्होंने माता और पिता से फोन से बात की थी। इसके बाद सुबह जब स्कूल के मालिक उन्हें जगाने पहुंचे तो देखा कि उनके नाक से खून और झाग निकल रहा था। आनन-फानन में स्कूल संचालक रामाश्रय कुशवाहा ने पुलिस को अवगत कराया।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार

जानकारी मिलने पर जिगना थानाध्यक्ष विजय कुमार सरोज क्षेत्राधिकारी लालगंज उमाशंकर सिंह पुलिस बल के साथ पहुंचे । शव को कब्जे में लेकर कानूनी कार्रवाई की जा रही है। थाना प्रभारी जिगना ने बताया कि जहर खाने या हार्टअटैक से मौत की आशांका है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सही वजह पता चलेगी।

खबरें और भी हैं...