मिर्जापुर में मॉब लिंचिंग:परचून दुकानदार की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या, मकान में छुपे हमलावर को भीड़ ने पुलिस के सामने ही मार डाला

मिर्जापुर9 महीने पहले

मिर्जापुर में बुधवार दोपहर परचून दुकानदार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। दिनदहाड़े हमलावर ने पहले उसके हाथ में फिर सीने पर गोली मारी। खून से लथपथ दुकानदार 3 गोली लगने के बाद भी हमलावर से संघर्ष करता रहा। भीड़ को जमा होते देख हत्यारा पास स्थित एक मकान में भागकर छुप गया। घटना से आक्रोशित भीड़ ने हत्यारे को ढूंढ कर जमकर पीटा। बताया जा रहा है कि मौके पर मौजूद पुलिस भी भीड़ के आगे कुछ न कर सकी। लोगों ने उसे पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस और PAC तैनात कर दी गई।

सत्यम को मारी गई है 3 गोली
मामला मड़िहान थाना क्षेत्र के राजगढ़ पुलिस चौकी क्षेत्र के ददरा बाजार का है। यहां सत्यम की परचून की दुकान है। वह गद्दी पर बैठा हुआ था। दोपहर में पास के करौंदा गांव का रहने वाला ऋषभ पांडेय अपनी बाइक से दुकान पर पहुंचा। जब तक कोई कुछ समझ पाता उसने सत्यम को गोली मार दी।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि आरोपी ऋषभ बाइक खड़ी कर दुकान पर पहुंचा। उसने तमंचा निकाल लिया। इसे देख दुकानदार सत्यम दुकान से बाहर निकल आया और उसे पकड़ने की कोशिश करने लगा। तभी हमलावर ऋषभ ने उसके हाथ में गोली मार दी। इसके बावजूद दुकानदार तमंचा धारी ऋषभ से संघर्ष करता रहा। इस बीच हमलावर ने दूसरी गोली दुकानदार के सीने पर चला दी। इसके बाद एक और गोली चलाकर हमलावर भाग गया। खून से लथपथ दुकानदार किसी तरह दुकान के पास ही मौजूद डॉक्टर के पास पहुंचा और कहा कि मुझे अस्पताल ले चलिए। लोग उसे लेकर अस्पताल पहुंचे, पर तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

सत्यम की मौत के बाद उसके घर में मातम पसरा हुआ है। मां का रो-रो कर बुरा हाल है।
सत्यम की मौत के बाद उसके घर में मातम पसरा हुआ है। मां का रो-रो कर बुरा हाल है।

हत्यारोपी मकान में जाकर छुप गया
हत्या करने के बाद मौके पर बढ़ती भीड़ देख हमलावार ऋषभ भाग कर एक मकान में छिप गया। आक्रोशित भीड़ उस मकान में घुस गई। पहले भीड़ ने ऋषभ को छत पर खूब पीटा। फिर सड़क पर लाकर उसे लाठियों, ईंटों से पीटा। बताया जा रहा है कि उस वक्त मौके पर पुलिस भी थी, लेकिन आक्रोशित भीड़ को देख कर उन्होंने भी कुछ नहीं किया। बहरहाल, पुलिस फोर्स पर्याप्त संख्या में आने जख्मी हमलावर को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत बताया।

गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस और पीएसी तैनात की गई है।
गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस और पीएसी तैनात की गई है।

गांव में तनाव, लगाई गई PAC
दुकानदार सत्यम की मौत के बाद उसके घर में मातम पसरा हुआ है। मां का रो-रो कर बुरा हाल है। हालांकि, पुलिस अभी कारणों का पता नहीं लगा सकी है, लेकिन माना जा रहा है कि दोनों की आपसी रंजिश में यह घटना हुई है। वारदात की जानकारी लगते ही विंध्याचल मंडल के DIG रामकृष्ण भारद्वाज, जिलाधिकारी प्रवीण लक्षकार एवं पुलिस अधीक्षक अजय कुमार भी मौके पर पहुंचे। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस और PAC तैनात की है।

खबरें और भी हैं...