मुरादाबाद...BJP नेता ने रातोंरात किया तालाब पर कब्जा:लाकड़ी बाईपास पर तालाब डंपरों से मिट्टी डालकर पाटा; मेयर ने कहा-मैंने एक्शन लेने को कहा था

मुरादाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुरादाबाद में लाकड़ी बाईपास पर भाजपा नेता ने नगर निगम के 14 बीघा तालाब को मिट्टी से पाटकर अरबों रुपये की सरकारी जमीन पर कब्जा कर लिया। - Dainik Bhaskar
मुरादाबाद में लाकड़ी बाईपास पर भाजपा नेता ने नगर निगम के 14 बीघा तालाब को मिट्टी से पाटकर अरबों रुपये की सरकारी जमीन पर कब्जा कर लिया।

मुरादाबाद में एक भाजपा नेता ने नगर निगम का 14 बीघा का तालाब पाट दिया। पिछले कई दिनों से डंपर से इस तालाब के किनारे मिट्टी उतारी जा रही थी। मंगलवार देर शाम यहां JCB लगाकर मिट्टी से तालाब को पाट दिया गया। तालाब का बमुश्किल 20 फीसदी हिस्सा ही बाकी बचा है। बाकी हिस्से को मिट्टी से पाटकर समतल कर दिया गया है।

लाकड़ी बाईपास में लाकड़ी का मजरा के रकबे में यह तालाब स्टॉलवर्ट और मीनाक्षी एक्सपोर्टस के पास में है। आसपास के कुछ निर्यातकों ने बताया कि तालाब पर शाम को करीब 6 बजे JCB लगाई गईं। पहले से तालाब किनारे उतारी गई मिट्टी को तालाब में खींचकर 14 में से करीब 10 बीघा तालाब को समतल कर दिया गया है। आसपास के लोगों का कहना है कि पिछले कई महीनों से भाजपा नेता की नजरें इस तालाब पर गढ़ी थीं। धीरे - धीरे करके वह यहां डंपर से मिट्टी डलवा रहा था।

लाकड़ी बाईपास पर निगम के इस तालाब पर रातोंरात कब्जा किया गया।
लाकड़ी बाईपास पर निगम के इस तालाब पर रातोंरात कब्जा किया गया।

दशकों पुराना है तालाब
तालाब के आसपास एक्सपोर्ट फैक्ट्री हैं। एक निर्यातक ने बताया कि तालाब करीब 100 साल से भी पुराना है। लेकिन अब इसे पाटा जा रहा है। तालाब को सरेआम पाटे जाने के बावजूद नगर निगम या प्रशासन का कोई नुमाइंदा मौके पर नहीं पहुंचा। कब्जा की जा रही जमीन की कीमत अरबों रुपये में बताई जा रही है।

BJP नेता ने किया तालाब पर कब्जा।
BJP नेता ने किया तालाब पर कब्जा।

DM बोले- टीम भेजकर चेक कराएंगे
जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि तालाब को पाटे जाने की जानकारी उन्हें नहीं है। बोले- मौके पर टीम भेजकर चेक कराएंगे। यदि तालाब को पाटकर कब्जा किया गया है तो कार्रवाई की जाएगी।

जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह।
जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह।

इसी तरफ दफन हुए लाकड़ी के दर्जनों तालाब
लाकड़ी फाजलपुर बाईपास इलाके में दर्जनों तालाब थे। लेकिन इसी तरह उन पर धीरे - धीरे कब्जे होते चले गए। नगर निगम के अफसरों की मिलीभगत और समय - समय पर सत्ताधारी दल के नेताओं ने इन तालाबों को बेच डाला। कई तालाबों का पाटकर उन पर निर्यात फैक्ट्रियां खड़ी कर ली गईं। लेकिन प्रशासन की ओर से इनमें से किसी भी मामले में कार्रवाई नहीं की गई। सुप्रीम कोर्ट के तालाबों के संरक्षण के आदेशों के बावजूद मुरादाबाद जिला प्रशासन तालाबों को बचाने में नाकाम रहा है।

14 बीघा तालाब के 80 फीसदी हिस्से को मिट्टी डालने के बाद JCB से प्लेन किया।
14 बीघा तालाब के 80 फीसदी हिस्से को मिट्टी डालने के बाद JCB से प्लेन किया।

मेयर बोले- हमने थानाध्यक्ष से बात की थी
मेयर विनोद अग्रवाल का कहना है कि उन्होंने सोमवार को इंस्पेक्टर मझोला को मौके पर जाकर एक्शन लेने को कहा। मेयर ने बताया कि सोमवार को एक वृद्धा उनके पास आई थीं। उन्होंने कागज दिखाते हुए कहा था कि तालाब का पट्टा उनके नाम है लेकिन कुछ लोग उस पर कब्जा कर रहे हैं। निगम के रिकॉर्ड में तालाब का पट्टा महिला के नाम था। इसलिए इंस्पेक्टर मझोला से बात करके कहा था कि वह मौके पर जाकर अवैध कब्जे को रुकवा दें।
मझोला पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध
तालाब की सरकारी जमीन पर कब्जे के मामले में मझोला पुलिस पर भी उंगलियां उठ रही हैं। ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस चौकी और थाने के अहम ओदहेदारों पर खेल में शामिल होने के आरोप लग रहे हैं।