ट्रेन में रेप का आरोपी TTE बर्खास्त:लिंक एक्सप्रेस के AC कोच में TTE समेत 2 ने किया था महिला से गैंगरेप

मुरादाबाद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लिंक एक्सप्रेस के AC कोच में 16 जनवरी को महिला यात्री के साथ रेप करने के आरोपी टीटीई राजू सिंह को बर्खास्त कर दिया है। ट्रेन के AC फर्स्ट कोच में केबिन लॉक करने के बाद टीटीई राजू सिंह व उसके एक साथी ने महिला यात्री के साथ रेप किया था। घटना के समय महिला अपने 2 साल के बच्चे के साथ चंदौसी से प्रयागराज जा रही थी। प्रारंभिक जांच के बाद मुरादाबाद रेल डिवीजन के सीनियर डीसीएम सुधीर सिंह ने TTE की बर्खास्तगी का आदेश जारी किया है। जीआरपी पहले ही आरोपी टीटीई को गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है। जबकि दूसरे आरोपी की तलाश की जा रही है।

ट्रेन में सफर के दौरान हो गई थी पहचान

महिला ने बताया, वो मुरादाबाद में मेडिकल लाइन में काम करती थी। वहां जाने के लिए वो रोज ट्रेन से सफर करती थी। इसी बीच उसकी जान पहचान टीटीई से हो गई थी। वो अक्सर उसको सफर में मिल जाया करता था। कोरोना काल में उसने नौकरी छोड़ दी थी लेकिन अक्सर वो प्रयागराज रिश्तेदारी में जाया करती थी। महिला का कहना है, मैं उसको जानती थी तभी उसके कहने पर एसी कोच में चली गई थी। मुझे नहीं पता था वो मेरे साथ इतना गंदा काम करेगा।

एसी फर्स्ट कंपार्टमेंट में किया गैंगरेप

जानकारी के मुताबिक महिला अपने दो साल के बच्चे के साथ संभल के चंदौसी रेलवे स्टेशन से सूबेदारगंज (प्रयागराज) जाने के लिए लिंक एक्सप्रेस ट्रेन का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान चंदौसी रेलवे स्टेशन पर पोस्टेड टीटीई राजू सिंह उसके पास पहुंचा। बातचीत कर उसे एसी के फर्स्ट कोच में बैठने को कहा। इसके कुछ देर बाद टीटीई अपने साथी के साथ कंपार्टमेंट में पहुंचा और महिला के साथ गैंगरेप किया।

चंदौसी रेलवे स्टेशन पर पोस्टेड है टीटीई

मुरादाबाद के सीओ जीआरपी देवीदयाल ने बताया कि घटना एसी कोच में हुई है। पीड़िता ने गैंगरेप की FIR कराई है। महिला चंदौसी की रहने वाली है। टीटीई भी वहीं पोस्टेड है। उसको गिरफ्तार कर लिया गया है।

अब पढ़िए महिला ने पुलिस को दी तहरीर में क्या लिखा है...

"मैं सूबेदारगंज जाने के लिए 16 जनवरी को रात 8 बजे चंदौसी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रही थी। मेरे साथ मेरा 2 साल का बच्चा भी था। मैंने जनरल का टिकट ले रखा था। इसी दौरान टीटीई राजू सिंह मेरे पास आए। मैं उन्हें 3-4 सालों से जानती हूं।

उसी दौरान टीटीई ने पूछा कि आप अकेले बच्चे के साथ कहां जा रही हैं। आपके पास कौन सा टिकट है। इस पर मैंने अपने पास जनरल टिकट होने की बात बताई। राजू सिंह ने कहा कि बच्चे के साथ जनरल कोच में इतना लंबा सफर कैसे करोगी। तुम फर्स्ट एसी के केबिन B में जाकर बैठ जाओ, खाली है।

मैंने मना किया कि मेरे पास एसी का टिकट नहीं है। इस पर राजू सिंह ने कहा कि चिंता मत करो अलीगढ़ तक मेरी ड्यूटी है। ट्रेन में जाकर अलीगढ़ तक के लिए निश्चिंत होकर बैठ जाओ। फिर चाहे जनरल कोच में बैठ जाना।

टीटीई की बात मानकर उसी केबिन में जाकर बैठ गई। रात 9:55 बजे के करीब राजू अपने एक और दोस्त के साथ केबिन में आया। उसने खाना खाने की बात कही। लेकिन मैंने खाना खाने से इनकार कर दिया। इसके बाद पानी की बोतल पकड़ाते हुए कहा कि पानी पी लो। मैंने पानी पिया और अपने बच्चे को भी पिलाया।"

बच्चे को ऊपर की सीट पर लिटाया, लाइट बंद कर किया दुष्कर्म

"लगभग 5 मिनट बाद मुझे चक्कर आने लगा। मैंने कहा मुझे चक्कर क्यों आ रहा है। इस पर टीटीई ने कहा कि रात के 10 बज रहे हैं, शायद आपको नींद आ रही होगी। उसने कहा कि आप सो जाओ, और हंसते हुए उसने दरवाजा बंद कर दिया। दरवाजे पर पर्दा लगा दिया और लाइट बंद कर दी। मेरे 2 साल के बच्चे को ऊपर वाली सीट पर लिटा दिया। उसके बाद दोनों ने मेरे साथ गैंगरेप किया।

जब मुझे होश आया तो मैं डरी हुई थी। मैं दूसरे एसी कोच में जाकर महिला यात्रियों के साथ बैठ गई। 17 जनवरी की सुबह साढ़े पांच बजे सूबेदारगंज पहुंची। पहले लोकलाज के चलते कोई शिकायत नहीं की। पति को वारदात के बारे में बताई तो उन्होंने 20 जनवरी की शाम रेलवे के कस्टमर केयर नंबर 139 पर शिकायत दर्ज कराई।"