• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Moradabad
  • AIDYO Workers Reached The Collectorate With Placards Of Gorkhupar Police Murdabad, Said The Policemen Involved In The Murder Of Businessman Manish Should Be Sacked

गोरखपुर पुलिस के खिलाफ मुरादाबाद में प्रदर्शन:पुलिस मुर्दाबाद लिखी तख्तिया लेकर कलक्ट्रेट पहुंचे AIDYO कार्यकर्ता, बोले- बर्खास्त हों व्यापारी मनीष की हत्या में शामिल पुलिस वाले

मुरादाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर के व्यापाारी मनीष गुप्ता की गोरखपुर में पुलिस पिटाई से हुई मौत के मामले में मुरादाबाद में AIDYO कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। - Dainik Bhaskar
कानपुर के व्यापाारी मनीष गुप्ता की गोरखपुर में पुलिस पिटाई से हुई मौत के मामले में मुरादाबाद में AIDYO कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।

कानुपर के युवा व्यापारी मनीष गुप्ता की गोरखपुर में पुलिस पिटाई से मौत पर मुरादाबाद में भी आक्रोश है। गुरुवार को AIDYO (ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गेनाइजेशन) के कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। 'गोरखुपर पुलिस मुर्दाबाद' के नारे लिखी तख्तियां लेकर कार्यकर्ता कलक्ट्रेट पहुंचे और प्रदर्शन किया। AIDYO के जिला संयोजक मोहम्मद गौरी एडवोकेट ने प्रदर्शन के बाद एक ज्ञापन जिलाधिकारी कार्यालय में सौंपा। इसमें व्यापारी मनीष की हत्या में शामिल सभी पुलिस वालों काे तुरंत बर्खास्त करने और गिरफ्तार करने की मांग की गई है।

कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता की गोरखुपर में पुलिस पिटाई से मौत के मामले में मुरादाबाद में प्रदर्शन करते AIDYO के कार्यकर्ता।
कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता की गोरखुपर में पुलिस पिटाई से मौत के मामले में मुरादाबाद में प्रदर्शन करते AIDYO के कार्यकर्ता।

पुलिस की अराजकता को रोके सरकार

AIDYO कार्यकर्ताओं ने सरकार से मांग की है कि वह बेलगाम हो चुकी पुलिस पर अंकुश लगाए। कानुपर के युवा व्यापारी मनीष गुप्ता को पीट पीटकर मार डालने वाले गोरखपुर के पुलिस वालों को कड़ी सजा दी जाए। ताकि लोगों का विश्वास सिस्टम पर बना रहे। परिवार को 2 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता और सरकारी नौकरी की मांग भी की है।

DM-SSP पर भी हो एक्शन

AIDYO कार्यकर्ताओं ने कहा कि UP में गुंडाराज चल रहा है। एक तरफ महिलाओं का वस्त्रहरण हो रहा है, दूसरी तरफ पुलिस व्यापारियों की हत्या कर रही है। मोहम्मद गोरी ने कहा कि सरकार गोरखपुर के DM और SSP के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करे। दोनों अफसर पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलान के बजाए उल्टा उन्हें धमका रहे थे। वीडियो सामने आने के बाद भी दोनों अधिकारियों के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

खबरें और भी हैं...