CM योगी के जाते ही लगे हाय-हाय के नारे:मुरादाबाद में मकानों की चाबियां नहीं मिलने पर भड़के आवंटियों ने की MDA में नारेबाजी

मुरादाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुरादाबाद विकास प्राधिकरण के दफ्तर में नारेबाजी करते आवंटी। - Dainik Bhaskar
मुरादाबाद विकास प्राधिकरण के दफ्तर में नारेबाजी करते आवंटी।

CM योगी आदित्यनाथ के सोमवार को मुरादाबाद से जाने के कुछ देर बाद ही उनके खिलाफ हाय- हाय के नारे लगे। प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटियों ने MDA कार्यालय में प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी की।

दरअसल इन आवंटियों को MDA स्टाफ ने मकानों की चाबी सौंपने के लिए फोन करके बुलाया था। लेकिन इन्हें चाबियां नहीं दी गईं। जिस पर आवंटी भड़क गए और मुरादाबाद विकास प्राधिकरण (MDA) के दफ्तर में घंटों हंगामा किया।

MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।

चाबियां नहीं देनी थीं तो बुलाया क्यों
MDA स्टाफ ने प्रधानमंत्री आवास योजना के 1000 से अधिक आवंटियों को फोन करके बुलाया था। इन सभी से कहा गया था मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में उन्हें मकानों की चाबियां दिलाई जाएंगी। मकान मिलने की खुशी में आवंटी सुबह 8 बजे ही नया मुरादाबाद में प्रधानमंत्री आवास योजना में पहुंच गए। यहां विकास प्राधिकरण की ओर से बाकायदा मंच सजाकर पंडाल लगाया गया था।

इस कार्यक्रम को पुलिस लाइन में लगी LED वॉल पर मुख्यमंत्री को लाइव दिखाया जा रहा था। नया मुरादाबाद में कार्यक्रम स्थल पर भी CM का भाषण और चाबी वितरण कार्यक्रम लाइव था। लेकिन जैसे ही पुलिस लाइन से CM रवाना हुए आवंटियों को बगैर चाबी दिए घर जाने के लिए कहा गया। इस पर आवंटी भड़क गए। इनका कहना था कि मकानों की चाबियां देनी नहीं थीं तो MDA ने कई- कई कॉल करके बुलाया क्यों था।

हंगामा करती भीड को समझाते VC मधुसुदन हुल्गी।
हंगामा करती भीड को समझाते VC मधुसुदन हुल्गी।

जितना CM ऐलान कर गए उतने मकान बने भी नहीं

मुख्यमंत्री ने मंच से ऐलान किया कि मुरादाबाद में 1700 से अधिक मकान लोगों को सौंपे जा रहे हैं। लेकिन वास्तव में इतने मकानों की चाबियां सौंपा जाना तो दूर इतने मकान अभी बनकर तैयार भी नहीं हुए हैं। अफसरों ने 1744 मकानों की चाबियां देने का कार्यक्रम तो करा दिया, लेकिन अभी 1008 मकान ही बनकर तैयार हुए हैं। बाकी के 736 मकानों में अभी पानी, बिजली, सीवरेज आदि की बुनियादी सुविधाएं भी नहीं हैं। इन मकानों में MDA काम करा रहा है। अभी इनके कंप्लीट होने में 2 महीने का समय लग सकता है।

MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।

अफसरों के खराब होमवर्क ने बिगाड़ा खेल
MDA अफसरों के खराब होमवर्क ने CM की हाय- हाय के नारे लगवा दिए। MDA सचिव सर्वेश कुमार गुप्ता ने स्वीकार किया कि
MDA स्टाफ से कॉल करते समय कुछ चूक हुई। ऐसे आवंटियों को भी कॉल करके चाबी सौंपने के लिए बुला लिया गया जिनकी किस्तें पूरी जमा नहीं थीं। बगैर किस्तें जमा किए मकान की चाबी नहीं दी जा सकती थी। डिफाल्टर हो चुके आवंटियों को भी मकान की चाबी देने के लिए बुला लिया गया था। घंटों इंतजार के बाद भी जब इन्हें मकान नहीं मिले तो इन्होंने हंगामा कर दिया।

MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।

VC ने मशक्कत के बाद आवंटियों काे समझाया

मुख्यमंत्री ने सांकेतिक रूप से 5 आवंटियों को मकानों की चाबियां सौंपीं थीं। बाकी आवंटियों को चाबियां एमडीए अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों द्वारा दी जानी थीं। लेकिन हंगामे की वजह सेे पात्रों को भी चाबियां नहीं दी सकीं। भड़के आवंटियों ने कई घंटे तक एमडीए ऑफिस में हंगामा किया। VC (उपाध्यक्ष) मधुसूदन हुल्गी ने किसी तरह भीड़ को शांत किया। उन्होंने समझाया कि किस्तें पूरी होते ही उन्हें मकानों की चाबियां सौंप दी जाएंगी। बाकी बचे 736 मकानों में भी बिजली, पानी, सीवरेज जैसी बुनियादी सुविधाएं 2 महीन के भीतर पूरी कराकर उनकी भी चाबियां सौंप दी जाएंगी।

MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
MDA ऑफिस में हंगामा करते प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।
खबरें और भी हैं...