मुरादाबाद में 27 में से 25 पर भाजपा प्रत्याशी घोषित:BJP ने पांच जाट, तीन ठाकुर और पांच SC मैदान में उतारे, दो वैश्य, एक ब्राह्मण को दिया टिकट

मुरादाबाद5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुरादाबाद मंडल की 27 में से 25 सीटों पर भाजपा ने घोषित किए अपने उम्मीदवार। - Dainik Bhaskar
मुरादाबाद मंडल की 27 में से 25 सीटों पर भाजपा ने घोषित किए अपने उम्मीदवार।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने मुरादाबाद मंडल की 27 में से 25 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं। इन सभी सीटों पर दूसरे चरण में मतदान होना है। जो 25 प्रत्याशी घोषित किए गए हैं, उनमें सबसे ज्यादा पांच कैंडिडेट जाट समुदाय से हैं। SC में आने वाली अलग-अलग जातियों के भी पांच उम्मीदवारों को मैदान में उतारा गया है। वहीं, तीन ठाकुरों पर पार्टी ने विश्वास जताया है। पूरे मंडल में सिर्फ एक ब्राह्मण को पार्टी ने टिकट दिया है।

मुरादाबाद मंडल में कुल 27 विधानसभा सीट हैं। इनमें से 14 पर भाजपा के विधायक हैं, जिनमें से 13 विधायकों को पार्टी ने फिर से टिकट देकर मैदान में उतारा है। मंडल में सिर्फ एक सिटिंग विधायक संगीता चौहान का टिकट कटा है। वह दिवंगत क्रिकेटर और योगी कैबिनेट में कैबिनेट मंत्री रहे चेतन चौहान की पत्नी हैं। कोरोना से चेतन चौहान की मौत होने के बाद संगीता चौहान अमरोहा की नौगावां सीट से उपचुनाव लड़कर विधायक बनी थीं। संगीता का टिकट काटकर BJP ने देवेंद्र नागपाल को टिकट दिया है, जो अमरोहा के सांसद रह चुके हैं।

ठाकुरद्वारा और स्वार पर प्रत्याशी घोषित नहीं

मुरादाबाद जिले की ठाकुरद्वारा विधानसभा सीट और रामपुर जिले की स्वार सीट पर भाजपा ने अभी प्रत्याशी घोषित नहीं किए हैं। इन दोनों सीटों पर टिकट नहीं घोषित होने के अपने अलग-अलग कारण हैं। मुरादाबाद की ठाकुरद्वारा सीट से पूर्व सांसद कुंवर सर्वेश सिंह टिकट मांग रहे हैं। पार्टी बढ़ापुर से उनके बेटे सुशांत सिंह को टिकट दे चुकी है, जो वहां से मौजूदा विधायक हैं।

ऐसे में एक ही परिवार के दो लोगों को टिकट देने में पार्टी कतरा रही है। टिकट कटने पर सर्वेश पिछले दो चुनावों की तरह पार्टी प्रत्याशी को बगावत करके हरवा सकते हैं। इसलिए इस सीट पर अभी पार्टी विचार करने के बाद ही निर्णय लेगी। बताया जाता है कि संगठन की राय से इतर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ठाकुरद्वारा से सर्वेश को चुनाव लड़वाना चाहते हैं।

वहीं, दूसरी सीट रामपुर की स्वार है। यहां से मोहम्मद आजम खां के बेटे अबदुल्ला आजम 2017 में जीतकर विधायक बने थे। हालांकि, उम्र संबंधी विवाद सामने आने के बाद निर्वाचन आयोग ने अब्दुल्ला का निर्वाचन बाद में रद्द कर दिया था। इस सीट से भाजपा किसी मजबूत प्रत्याशी को उतरने की कवायद में है।

टिकटों की जिलावार सूची

1-जनपद - मुरादाबाद

विधानसभा सीटप्रत्याशीजातिकैटेगिरी
मुरादाबाद नगररितेश गुप्तावैश्यसामान्य
मुरादाबाद ग्रामीणकेके मिश्राब्राह्मणसामान्य
कांठराजेश सिंह उर्फ चुन्नूजाटओबीसी
कुंदरकीकमल प्रजापतिकुम्हारओबीसी
बिलारीपरमेश्वरलाल सैनीसैनीओबीसी
ठाकुरद्वाराअभी घोषित नहीं

2-जनपद- रामपुर

विधानसभा सीटप्रत्याशीजातिकैटेगिरी
रामपुरआकाश सक्सेनाकायस्थसामान्य
बिलासपुरबलदेव सिंह औलख ​​​​​​जाटओबीसी
मिलकराजबाला ​​​​​​​जाटव ​​​​​​​एससी
चमरौआ ​​​​​​​मोहन कुमार लोधीलोधीओबीसी
स्वारअभी घोषित नहीं

3- जनपद - संभल

विधानसभा सीटप्रत्याशीजातिकैटेगिरी
संभलराजेश सिंघलवैश्यसामान्य
असमोलीहरेंद्र सिंह रिंकू ​​​​​​​जाटओबीसी
चंदौसीगुलाबो देवीधोबीएससी
गुन्नौर ​​​​​​​अजीत कुमार राजूयादव

ओबीसी​​​​​​​​​​​​​​

4-जनपद - अमरोहा

विधानसभा सीटप्रत्याशीजातिकैटेगिरी
अमरोहा ​​​​​​​राम सिंह सैनीसैनीओबीसी
नौगावां सादातदेवेंद्र नागपाल ​​​​​​​पंजाबीसामान्य
धनौरा ​​​​​​​राजीव तराराजाटवएससी
हसनपुरमहेंद्र सिंह खड़गवंशीखड़गवंशी ​​​​​​​ओबीसी

5-जनपद - बिजनौर

विधानसभा सीटप्रत्याशीजातिकैटेगिरी
नजीबाबादभारतेंदु ​​​​​​​जाटओबीसी
नगीनाडॉ. यशवंतजाटवएससी
बढ़ापुर ​​​​​​​सुशांत सिंहठाकुरसामान्य
धामपुर ​​​​​​​अशोक राणाठाकुरसामान्य
नहटौरओम कुमारजाटवएससी
बिजनौर सूचीमौसम चौधरीजाटओबीसी
चांदपुरकमलेश सैनीसैनीओबीसी
नूरपुर ​​​​​​​सीपी सिंहठाकुरसामान्य

इन विधायकों को फिर से मिला टिकट

मुरादाबाद शहर से रितेश गुप्ता, कांठ से राजेश सिंह उर्फ चुन्नू, रामपुर में बिलासपुर से बलदेव सिंह औलख, मिलक से राजबाला, संभल में गुन्नौर से अजित कुमार यादव राजू, चंदौसरी से गुलाबो देवी, अमरोहा में धनौरा से राजीव तरारा, हसनपुर से महेंद्र सिंह खड़गवंशी, बिजनौर में बढ़ापुर से सुशांत सिंह, धामपुर से अशोक राणा, बिजनौर से सूची मौसम चौधरी, चांदपुर से कमलेश सैनी और नहटौर से सिटिंग विधायक ओम कुमार को BJP ने फिर से टिकट देकर मैदान में उतारा है।

नूरपुर से लोकेंद्र के भाई को टिकट

नूरपुर सीट से 2017 में भाजपा के लोकेंद्र चौहान विधायक बने थे। कुछ समय बाद ही सड़क दुर्घटना में उनकी मौत हो गई थी। इसके बाद उपचुनाव में उनकी पत्नी चुनाव लड़ी थीं, लेकिन उन्हें सपा के नईमुलहसन ने हरा दिया था। इस बार भाजपा ने लोकेंद्र की पत्नी के स्थान के पर उनके भाई सीपी सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है।

12 ओबीसी में से पांच जाट

मंडल की 27 विधानसभा सीटों में से 12 सीटों पर BJP ने OBC प्रत्याशी उतारे हैं। इनमें से पांच जाट हैं। 27 सीटों में से जिन 25 सीटों पर पार्टी ने प्रत्याशी घोषित किए हैं, उनमें से दो वैश्यों को भी टिकट मिला है।

फिलहाल किस जिले में BJP के कितने विधायक

जिलाBJP विधायकों की संख्या
मुरादाबाद02
रामपुर02
संभल02
अमरोहा ​​​​​​​03
बिजनौर ​​​​​​​05
कुल14

​​​​​​

खबरें और भी हैं...