प्रतिज्ञा रैली के लिए मुरादाबाद पहुंचीं प्रियंका:कहा- भाजपा सरकार में 3 लाख कारीगरों की रोजी-रोटी खत्म हुई

मुरादाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने गुरुवार को मुरादाबाद में प्रतिज्ञा रैली को संबोधित किया। उनके साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी थे। मुरादाबाद मंडल में फिलहाल कांग्रेस के पास 27 में से एक भी सीट नहीं है। मुरादाबाद में प्रियंका की ससुराल है।

रैली में प्रियंका ने कहा कि आपके शहर ने मेरे परिवार को संरक्षण दिया। यहां आकर बहुत गर्व हो रहा है। मुरादाबाद देश-विदेश में पीतल नगरी के नाम जाना जाता है। मुझे याद है कि एक्सपोर्टरों के लिए मेरे पिता राजीव गांधी ने कारोबारियों के लोन माफ किए। टैक्स में भी मदद होती थी।

उन्होंने कहा कि आज स्थिति है कि 8000 करोड़ का निर्यात 2000 करोड़ पर आ गया है। 3 लाख कारीगरों की रोजी-रोटी खत्म हो गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने आपके कारोबार को बर्बाद किया। सबसे पहले नोटबंदी लागू की। जिससे आपको नुकसान हुआ। आपसे कहा काला धन वापस आएगा। आप सब को पता है कि काला धन नहीं आया। जीएसटी से आपकी कमर टूट गई। कारोबारी परेशान हुआ। बिजली-डीजल महंगा हुआ। कच्चा माल महंगा हुआ। उधर चीन आगे बढ़ रहा था। उन्होंने हुनर को लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर बनाया। लेकिन मुरादाबाद में वो काम नहीं हुआ। जो यहां होना चाहिए था। आपने पीतल नगरी अपने खून-पसीने से बनाई। यह सरकार सिर्फ अंधेर नगरी बनाती है। और अंधेर नगरी का चौपट राजा है। महंगाई, बेरोजगारी दी है इस सरकार ने।

प्रियंका ने कहा कि यह सरकार सिर्फ अंधेर नगरी बनाती है। और अंधेर नगरी का चौपट राजा है। महंगाई, बेरोजगारी दी है इस सरकार ने।
प्रियंका ने कहा कि यह सरकार सिर्फ अंधेर नगरी बनाती है। और अंधेर नगरी का चौपट राजा है। महंगाई, बेरोजगारी दी है इस सरकार ने।

10 लाख पद खाली, लेकिन सरकार नौकरी नहीं दे रही

उन्होंने कहा कि UP-TET की परीक्षा हुई। युवाओं ने मेहनत की, लेकिन पेपर आउट हो गया। 6-6 साल से युवा रोजगार का इंतजार कर रहे हैं। पेपर आउट होना नई बात नहीं है। 12 परीक्षाओं में ऐसा हुआ है। 10 लाख पद खाली हैं, लेकिन सरकार नौकरी नहीं दे रही है। युवाओं के पास रोजगार है, लेकिन सरकार के पास देने के लिए रोजगार नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि मैं लखनऊ की वाल्मीकि कॉलोनी में गई। वहां एक महिला ने कहा कि उसने घरों में काम कर करके बेटी को बीए आईटीआई कराया।लेकिन वह बेरोजगार है। उस कॉलोनी में युवाओं ने मुझे बताया कि उन्होंने मेहनत से पढ़ाई की, लेकिन रोजगार नहीं मिला। ऊपर से योगी जी कहते हैं कि नौकरी के लिए योग्य उम्मीदवार नहीं हैं।

पब्लिक को नेताओं से मांगनी होगी जवाबदेही

प्रियंका ने कहा कि एक्सपोर्टरों के लिए मेरे पिता राजीव गांधी ने कारोबारियों के लोन माफ किए। टैक्स में भी मदद होती थी।
प्रियंका ने कहा कि एक्सपोर्टरों के लिए मेरे पिता राजीव गांधी ने कारोबारियों के लोन माफ किए। टैक्स में भी मदद होती थी।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सांप्रदायिकता पर आधारित राजनीति और जाति पर आधारित राजनीति बहुत ज्यादा है। मुख्यमंत्री भी जानता है कि वह चुनाव के समय में लोगों की समस्याओं की बातें करके जीत जाएगा। जब तक पब्लिक नेताओं से अपनी जवाबदेही नहीं मांगेगी। तब तक यह सिलसिला चलता रहेगा। जब तक आप हिसाब नहीं मांगेंगे कि आपने 5 साल में क्या किया, तब तक ये चलेगा। तब तक आप माफियाओं के दलदल में फंसे रहेंगे। जमीन के माफिया, परीक्षा के माफिया। उन्होंने कहा कि गनीमत है कि इस प्रदेश में अभी सांस पर कोई माफिया नहीं है। इसलिए आप सांस ले पा रहे हैं।

हमने प्रतिज्ञा ली है, 20 लाख रोजगार दिलाएंगे

प्रियंका ने कहा कि हम बदलाव चाहते हैं। हमने प्रतिज्ञा ली है कि 20 लाख रोजगार दिलाएंगे। हर जिले में रोजगार का हब लगवाएंगे। यह प्रतिज्ञा है, खोखली बात नहीं है। छत्तीसगढ़ में आज 2500 रुपए प्रति क्विंटल धान खरीद रही है। हम कह रहे हैं। यहां भी करके दिखाएंगे।

किसानों ने साबित किया, अगर आप अडिग हैं तो सरकारें झुकेंगी
उन्होंने कहा कि किसानों ने साबित कर दिया है कि यदि आप अडिग हैं तो सरकारों को झुकना पड़ता है। 700 किसान शहीद हुए। उन किसानों के लिए प्रधानमंत्री 2 मिनट के लिए संसद में मौन नहीं रहे। लखीमपुर खीरी में नरसंहार हुआ। किसानों को मंत्री के बेटे ने अपनी कार के पहियों के नीचे कुचल कर मार डाला। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने कुछ नहीं कहा। कुछ दिन पहले PM लखनऊ आए, तो वही मंत्री मंच पर थे। मंत्री को बर्खास्त नहीं किया। उन परिवारों से प्रधानमंत्री ने कभी बात नहीं की। उन परिवारों का कहना है कि उन्हें मुआवजा नहीं चाहिए। उन्हें न्याय चाहिए। वो मंत्री की बर्खास्तगी चाहते हैं। किसान आंदोलन ने साबित किया है कि शक्ति आपके हाथों में है।

प्रियंका ने कहा कि भाजपा ने आपके कारोबार को बर्बाद किया। सबसे पहले नोटबंदी लागू की। जिससे आपको नुकसान हुआ।
प्रियंका ने कहा कि भाजपा ने आपके कारोबार को बर्बाद किया। सबसे पहले नोटबंदी लागू की। जिससे आपको नुकसान हुआ।

प्रियंका ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने एक हवाई जहाज कोरोना के समय खरीदा। वह 8000 करोड़ का है। आपका पूरा गन्ना भुगतान 4000 करोड़ का है। लेकिन वह नहीं किया। संसद जो पहले से इतना अच्छा है। उसके सुंदरीकरण के 20000 करोड़ खर्च कर सकते हैं। ये आपके लिए कुछ नहीं कर सकते। किसान खाद की लाइनों में दम तोड़ रहे हैं। मैं ललितपुर के परिवारों से मिलने गई। 2 किसानों ने खाद की लाइन में खड़े खड़े दम तोड़ दिया। 2 परिवारों ने खाद नहीं मिलने पर आत्महत्या कर ली। डीजल का दाम आसामन छू रहा है। MSP से कम पर अपकी फसलें खरीद रहे हैं।

मुरादाबाद में सिर्फ एक चीज स्मार्ट है, स्मार्ट मीटर और स्मार्ट लूट

उन्होंने कहा कि महंगाई बहुत ज्यादा है। ये समझ रहे हैं कि एक गैस सिलेंडर महिलाओं को देने से महंगाई खत्म हो गई। जिम्मेदारी खत्म हो गई। इतने से महिलाएं आगे नहीं बढ़ेंगी। जो बिजली का बल्व नहीं खोलते, उन्हें भी बड़े-बड़े बिल मिल रहे हैं। आपको कहा गया था कि मुरादाबाद का स्मार्ट सिटी बनाया जाएगा। केवल एक ही चीज स्मार्ट है, स्मार्ट मीटर और स्मार्ट लूट। मैं आपको कह रही हूं कि मैं आपको आगे बढ़ाऊंगी। 40 फीसदी टिकट महिलाओं को मिलेगा। यहां महिलाओं का रेप होता है। उनका शोषण होता है। लेकिन कोई कुछ नहीं कह रहा है। कोई आपको आगे नहीं बढ़ा रहा है। सब सिर्फ विज्ञापनों में है। आप जब कांग्रेस से टिकट लेंगी, तो हो सकता है कुछ जीतें और कुछ न जीतें। लेकिन कोई बात नहीं। आप सशक्त बनेंगी। अगली बार फिर मौका मिलेगा।

लड़कियों से बोलीं- सहना चाहती हो या लड़ना चाहती हो

उन्होंने लड़कियों से कहा कि स्कूटी स्मार्ट फोन किसके लिए है? आपके लिए है। आपको मिलेगा। आप लड़िए, आपकी शक्ति को कोई पहचान नहीं रहा है। 50 प्रतिशत आबादी हैं। आप खुद लड़ो, कोई नहीं आएगा। आपके लिए लड़ने में मैं आपके साथ खड़ी हूं। उन्होंने कहा कि बिजली बिल हाफ होगा। किसानों का कर्ज माफ होगा। कोरोना का बिल माफ होगा। सरकार ने बहुत ज्यादती की है। आपने ऑक्सीजन मांगी, तो सरकार आपके पीछे पड़ गई। कोरोना में जिनका काम बंद हुआ उनकी हम मदद करेंगे। इसलिए सबसे गरीब परिवारों को 25000 रुपए देना चाहते हैं। अगर हमारी सरकार आएगी तो चाहे कोई भी बीमारी हो। 10 लाख रुपए का इलाज सरकार मुफ्त में कराएगी। वृद्धा और विधवा पेंशन 1000 रुपए देंगे। सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण महिलाओं को देंगे।

बोलीं- आप सरकार से हिसाब क्यों नहीं मांगते
उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनता जिंदाबाद है। मुझे शिकायत है कि अपने नेताओं से आप हिसाब नहीं मांगते। आगरा में अरुण वाल्मीकि के परिवार को लॉकअप में रखकर पीटा तो हिसाब नहीं मांगा। हाथरस में दलित लड़की से रेप हुआ। पुलिस प्रशासन द्वारा उसकी चिता जलाई जाती है। प्रधानमंत्री-मुख्यमत्री चुप रहते हैं। आप हिसाब क्यों नहीं मांगते? किसानों का कितना अपमान किया। आंदोलन जीवी, देशद्रोही कहा। अब चुनाव आ रहा है तो कह रहे हैं, मुझे माफ करिए। क्यों माफ कर रहे हैं आप? माफ मत करो, हिसाब मांगो। कोरोना काल में हुई मौतों का हिसाब मांगों। राजनीतिक दलों से अपना रिश्ता बदलो, उनसे हिसाब लेना सीखो। विपक्ष भी इसी तरह की राजनीति कर रहे हैं। सपा और बसपा ने भी जाति की राजनीति की। सपा में जातिवाद और गुंडई हुई।

खबरें और भी हैं...