• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Moradabad
  • First RSS Leaders Themselves Sold Their Homes To Muslims, Now VHP And BJP Leaders Are Saying They Will Not Allow Other Communities To Live, Posters Of Mass Exodus Of 81 Hindu Families Have Created A Ruckus

UP में पलायन के पोस्टर व गंगाजल का सच:मुरादाबाद की जिस कॉलोनी में मुस्लिमों के घर खरीदने पर विहिप-भाजपा आंदोलन कर रहे, उसे RSS के नेताओं ने ही बेचा था

मुरादाबाद2 महीने पहले
मुरादाबाद की शिव मंदिर काॅलोनी में 81 हिंदू परिवारों के घरों पर सामूहिक पलायन के पोस्टरों के पीछे की कहानी सामने आई है। इन मकानों को RSS के नेताओं और उनके रिश्तेदारों ने ही दूसरे समुदाय को बेचा था।

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले की लाजपत नगर शिव मंदिर काॅलोनी में मुस्लिमों को घर बेचने के मामले में नया मोड़ आ गया है। दरअसल मुस्लिमों के घर खरीदने के विरोध में कॉलोनी के 81 हिंदू परिवारों ने अपने घर पर पलायन का पोस्टर लगा दिया था, जिसके बाद विश्व हिन्दू परिषद (VHP) ने कॉलोनी में गंगाजल छिड़ककर शुद्धिकरण किया था।

भास्कर की टीम ने पूरे मामले की पड़ताल की तो हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ। पड़ताल में यह सामने आया कि काॅलोनी में मुस्लिमों को मकान बेचने वालों में खुद RSS के विभाग व्यवस्था प्रमुख और प्रांत व्यवस्था प्रमुख व उनके करीबी रिश्तेदार शामिल हैं। भाजपा और विश्व हिन्दू परिषद के नेता इस मामले को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

विहिप नेताओं ने शुद्धिकरण यात्रा निकालते हुए गुरुवार को काॅलोनी की परिक्रमा कर गंगाजल का छिड़काव किया था। 2 अगस्त को कॉलोनी में पहुंचे BJP विधायक रितेश गुप्ता ने कहा था कि मुरादाबाद में साजिश के तहत हिंदू कॉलोनियों में मुसलमान मकान खरीद रहे हैं। उन्होंने ऐलान किया था कि मकान खरीदने वाले मुस्लिम को काॅलोनी में रहने नहीं देंगे।

विहिप नेताओं ने गुरुवार को में छिड़का था गंगाजल।
विहिप नेताओं ने गुरुवार को में छिड़का था गंगाजल।

RSS के विभाग व्यवस्था प्रमुख ने भी बेचा एक मकान
दैनिक भास्कर ने पड़ताल की तो पता चला कि काॅलोनी में जो मकान मुस्लिमों ने हिंदुओं से खरीदे हैं, उनमें से एक मकान RSS के विभाग व्यवस्था प्रमुख संदीप सिंघल का भी है। उन्होंने लाजपत नगर में अपने मकान संख्या H-38 को मोहम्मद आजम को 11 जून 2020 को बेचा था।

दूसरा मकान RSS के मेरठ प्रांत के प्रांत व्यवस्था प्रमुख अजय गोयल 'सुगंध' के साले विकास मोहन अग्रवाल ने बेचा है। लाजपत नगर में मकान नंबर H-53 विकास मोहन अग्रवाल की पत्नी नीलम अग्रवाल के पास था। इसकी रजिस्ट्री उन्होंने 9 जुलाई 2021 को मोहम्मद आदिल शम्सी और मोहम्मद सोलेह शम्सी के नाम की है। कॉलोनी का तीसरा मकान ज्वेलर्स ज्ञान प्रकाश रस्तोगी ने बेचा है।

हमें शिफ्ट होना था, जो खरीददार मिला उसे बेच दिया: सिंघल
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के विभाग व्यवस्था प्रमुख संदीप सिंघल ने स्वीकार किया कि उन्होंने मकान दूसरे समुदाय के व्यक्ति को बेचा है। क्योंकि उन्हें लाजपत नगर से MDA शिफ्ट होना था। सिंघल ने बताया कि मुझे जो खरीददार मिला उसे मकान बेच दिया। अब यदि काॅलोनी के लोगों को कोई दिक्कत है तो उन्हें बातचीत से समस्या का हल निकालना चाहिए। संदीप सिंघल का कहना है कि सर्वसमाज बैठकर समस्या का हल निकाले।

यह पहला मकान नहीं, और भी कई मकान बिके हैं: अजय गोयल
RSS के प्रांत व्यवस्था प्रमुख अजय गोयल 'सुगंध' ने भी स्वीकार किया कि लाजपत नगर में मुस्लिम समुदाय को मकान बेचने वाले विकास मोहन अग्रवाल उनके नजदीकी रिश्तेदार हैं। उन्होंने कहा कि उनके रिश्तेदार पिछले 3 साल से मकान बेचने की कोशिश कर रहे थे।

एक साल पहले एक हिंदू परिवार ने बयाना भी दिया था, लेकिन वह रजिस्ट्री नहीं करा सके तो दो माह पहले मकान दूसरे समुदाय के व्यक्ति को बेचा गया। अजय सुगंध का कहना है कि कॉलोनी में दूसरे समुदाय को बिका यह पहला मकान नहीं है। इससे पहले भी 7 मकान बिक चुके हैं। उन्होंने साफ कहा कि कानून में तो ऐसा कोई प्रावधान है नहीं कि किसी व्यक्ति को अपना मकान दूसरे समुदाय को बेचने से रोका जा सके।

1980 का शासनादेश लागू करने की मांग
RSS नेता अजय सुगंध का कहना है कि कुछ लोगों का ऐतराज उनके संज्ञान में आया है। उन्होंने कहा कि 1980 में मुरादाबाद में दंगों के बाद एक शासनादेश जारी हुआ था। उसमें नियम था कि किसी बहुसंख्यक काॅलोनी में कोई अल्पसंख्यक मकान खरीदेगा तो उसे DM से परमिशन लेनी होगी। अजय सुगंध कहते हैं कि इसी शासनादेश को नवीनीकरण के साथ दोबारा लागू कराया जा सकता है।

लाजपत नगर काॅलोनी में रहने वाले हिंदू परिवार इस बात से खफा हैं कि कॉलोनी में दूसरे वर्ग के लोगों ने मकान खरीद लिए हैं। कॉलोनी के लोग मुस्लिम खरीददारों को यहां से हटाने की जिद पर अड़े हैं।

मुस्लिमों को मकान बेचे जाने का विरोध कर रहे हैं कॉलोनीवासी।
मुस्लिमों को मकान बेचे जाने का विरोध कर रहे हैं कॉलोनीवासी।

क्या है पूरा मामला
कटघर थाना क्षेत्र में लाजपत नगर शिव मंदिर कालोनी में करीब एक सप्ताह पहले 81 हिंदू परिवारों ने घरों पर सामूहिक पलायन के पोस्टर लगा दिए थे। यहां रहने वाली पूनम बंसल और आशा देवी आदि महिलाओं का कहना था कि कॉलोनी में घर खरीदने वाले दूसरे समुदाय के लोगों को हटाया जाए।

दरअसल, कॉलोनी के दो मकान हाल ही में दूसरे समुदाय के लोगों ने खरीद लिए हैं, जिन्हें हिंदू परिवारों ने ही बेचा है। कॉलोनी के लोगों की इच्छा है कि वहां दूसरे समुदाय के लोग नहीं बसें। उन्होंने CM योगी से यहां तक मांग कर दी है कि सरकार इस तरह का कोई कानून बनाए। काॅलोनी में 'यह मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगने के बाद से ही यहां का माहौल गर्म है।

खबरें और भी हैं...