• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Moradabad
  • In A Riot Without Permission, One Wrestler Slammed The Other By The Neck, The Wrestler Died In Agony Due To A Broken Neck, The Punks Settled The Matter For 60 Thousand

कैमरे में कैद पहलवान की मौत:मुरादाबाद में उत्तराखंड के पहलवान को दूसरे ने 5 सेकेंड में पटका, गर्दन टूटी; पंचों ने 60 हजार में करा दिया समझौता

मुरादाबाद3 महीने पहले
मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा इलाके में फरीदनगर गांव में हुए दंगल में एक पहलवान की गर्दन टूटने से मौत हो गई।

मुरादाबाद में दंगल में उत्तराखंड के एक पहलवान की मौत हो गई। एक पहलवान ने उसे 5 सेकेंड में उठाकर पटक दिया। इससे उसकी गर्दन टूट गई। कुछ देर तड़पने के बाद उसकी मौत हो गई। मामला 2 सितंबर का है। इसका वीडियो बुधवार की शाम सामने आया। दंगल का आयोजन बिना अनुमति के हुआ था। इसमें प्रशिक्षित कोच भी नहीं था। इसके बावजूद अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

पहलवान की मौत के बाद गांव में हुई पंचायत में मरने वाले पहलवान के परिवार को 60 हजार रुपए दिलाकर मामला रफा-दफा करा दिया। अपर पुलिस अधीक्षक विद्या सागर मिश्र ने जांच कराए जाने का दावा किया है।

ठाकुरद्वारा के गांव फरीदनगर में हुआ था दंगल
ठाकुरद्वारा थाना क्षेत्र के गांव फरीदनगर में 2 सितंबर को दंगल था। दंगल के लिए नौमी मेला कमेटी ने न तो कोई इजाजत ली थी और न ही किसी प्रशिक्षित कोच का बंदोबस्त किया था। यहां की मिट्‌टी भी दंगल के मुफीद तैयार नहीं की गई थी।

उत्तराखंड में काशीपुर के गांव गंगानगर का पहलवान महेश भी इसमें शामिल होने के लिए आया था। उसक मुकाबला पहलवान साजिद अंसारी के साथ हो रहा था। साजिद ने महेश को गर्दन से उठाकर सिर के बल जमीन पर पटक दिया।

मौत का तमाशा देखते रहे लोग
पहलवान साजिद अंसारी ने जैसे ही महेश पहलवान को गर्दन से पकड़कर सिर के बल जमीन पर पटका, महेश की गर्दन मुड़ने से टूट गई। महेश की गर्दन लटकी तो लोग दूसरे पहलवान की जीत पर तालियां बजाते रहे। महेश को इलाज के लिए अस्पताल नहीं ले जाया गया। लोग अपने-अपने तरह से उसकी गर्दन को सीधा करने के लिए खींचतान करते रहे। इलाज नहीं मिलने से महेश ने कुछ देर में ही तड़पकर दम तोड़ दिया।

60 हजार में मामला हो गया रफा दफा
पहलवान की मौत का वीडियो सामने आने के बावजूद ठाकुरद्वारा पुलिस ने मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है। बताया जा रहा है कि घटना के बाद गांव में पंचायत बैठी। इसमें मृतक के परिजनों को 60 हजार रुपए देकर इस घटना को रफादफा कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...