पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Moradabad
  • In Amroha, The Woman Lay On The Railway Track, The Lady Constable Of GRP Ran And Picked Up The Phone, Then The Son Said If The Mother Is Dead, Tell Me If She Is Alive Then There Is No Point

बेटा बोला मां मर गई हो तो आऊं:अमरोहा में महिला रेलवे ट्रैक पर लेटी, RPF की महिला सिपाही ने दौड़कर उठाया...फोन किया तो बेटा बोला- मां मर गई हो तो बताओ अगर जिंदा हैं तो कोई मतलब नहीं

अमरोहा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इन महिला सिपाहियों ने बचाई जान - Dainik Bhaskar
इन महिला सिपाहियों ने बचाई जान

अमरोहा जिले में शुक्रवार को एक वृद्ध महिला मालगाड़ी के सामने रेलवे ट्रैक पर लेट गई। तभी अचानक रेलवे चेकिंग दल की नजर महिला पर पड़ी तो दो महिला कांस्टेबिल ने दौड़कर ट्रैक से उठाया। महिला आत्महत्या की जिद पर अड़ी थी। टीम ने नंबर लेकर उसके बेटे को कॉल किया तो उसने जो जवाब दिया उससे महिला सिपाही भी दंग रह गई। महिला के बेटे ने जवाब दिया कि "यदि मां मर गई है तो मैं आता हूं और यदि जिंदा है तो मुझसे कोई मतलब नहीं"।

RPF की महिला सिपाही ने बचाई जान
सीआईटी विजयंत कुमार शर्मा ने शु्क्रवार शाम को प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक को सौंपी रिपोर्ट में कहा है कि शुक्रवार को उनकी टीम डीसीएम अंजू सिंह के नेतृत्व में मुरादाबाद से अमरोहा ट्रेन संख्या 05909 में चेकिंग करने गई थी। दोपहर करीब डेढ़ बजे टीम अमरोहा रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर एक पर उतरी तो अप साइड से आ रही रनथ्रू मालगाड़ी के सामने एक महिला रेल ट्रैक पर लेटी नजर आई। टीम में शामिल आरपीएफ की महिला कांस्टेबिल गुड्डन और हिमांशु ने दौड़कर महिला को किसी तरह ट्रैक से उठाया। जिससे उसकी जान बाल-बाल बची।
बेटा बोला-मां मर गई है तो आता हूं
सीटीआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि महिला ने अपना नाम जावित्री देवी (60 साल) बताया। वह रिटायर्ड रेल कर्मी की पत्नी है और स्टेशन के पास ही रेलवे क्वाटर्स में रहती है। जब महिला को समझा बुझाकर उससे उसके बेटे अरविंद का नंबर लेकर उसे कॉल की गई तो उसने चौंकाने वाला जवाब दिया। उसने कहा कि यदि उसकी मां मर गई है तो वह आता है नहीं तो उसका कोई मतलब नहीं है। महिला का बेटा उसे लेने नहीं आया तो रेलवे टीम ने उसे जीआरपी अमरोहा के हवाले कर दिया।

पिता ने रिटायरमेंट लिया तब मिली थी बेटे को नौकरी
अमरोहा जीआरपी के चौकी इंचार्ज माहिर अब्बास ने बताया कि महिला और उसके बेटे के बीच कुछ कहासुनी हुई थी। इसके बाद वह घर से आत्महत्या करने से इरादे से निकली और रेलवे ट्रैक पर आकर लेट गई। उन्होंने बताया कि महिला के पति परम सिंह ने जल्दी सेवानिवृत्ति लेकर बेटे को नौकरी दिला दी थी। अरविंद उनका इकलौता बेटा है। परम सिंह का स्वास्थ्य ठीक नहीं है। जिसे लेकर कहासुनी होती है।