मुरादाबाद ...पीरियड लीव की उठाई मांग:वुमेन टीचर्स संघ की जिलाध्यक्ष ने कहा- चुनाव में गर्भवती टीचर्स की ड्यूटी न लगाएं, राज्य निर्वाचन आयुक्त को सौंपा ज्ञापन

मुरादाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ ने बीमार और गर्भवती महिला टीचर्स की BLO व चुनाव संबंधी अन्य ड्यूटी नहीं लगाने की मांग की है। - Dainik Bhaskar
उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ ने बीमार और गर्भवती महिला टीचर्स की BLO व चुनाव संबंधी अन्य ड्यूटी नहीं लगाने की मांग की है।

उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ ने महिला टीचर्स को चुनाव ड्यूटियों से दूर रखने की मांग की है। संघ का कहना है कि गर्भवती, छोटे बच्चों वाली और बीमार महिला टीचर्स से चुनाव संबंधी कार्य नहीं लिए जाएं।महिला टीचर्स की बड़ी संख्या में BLO ड्यूटी लगाए जाने पर संघ पहले ही एतराज जता चुका है। महिला शिक्षक संघ ने मांग की है कि गर्भवती टीचर्स की चुनाव संबंधी कार्यों में ड्यूटी हरगिज नहीं लगाए जाए। इससे महिला टीचर्स के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के साथ ही गर्भ में पल रहे शिशु पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है।

एकल अभिभावकों को छूट देने की मांग

महिला शिक्षक संघ की जिलाध्यक्ष शिखा गुप्ता ने बताया कि संगठन के प्रदेश नेतृत्व ने राज्य निर्वाचन आयुक्त को भी इस बाबत ज्ञापन दिया है। संघ का कहना है कि एकल अभिभावकों को चुनाव संबंधी ड्यूटियों से मुक्त रखा जाए। जिन टीचर्स को असाध्य बीमारी हैं उन्हें भी चुनाव ड्यूटी से दूर रखा जाए। इसी तरह 58 वर्ष की आयु पूरी कर चुकी शिक्षकों को भी चुनाव कार्यों में नहीं लगाए जाने की मांग की है।

पीरियड लीव की मांग उठा चुका है संघ

महिला शिक्षक संघ महिला टीचर्स के लिए पीरियड लीव की मांग काफी दिनों से कर रहा है। संघ का कहना है कि बिहार की तर्ज पर महिला टीचर्स और कर्मचारियों को प्रदेश में भी तीन दिन की स्पेशल

महिला शिक्षक संघ ने दिया ज्ञापन।
महिला शिक्षक संघ ने दिया ज्ञापन।
खबरें और भी हैं...