मुरादाबाद... कांग्रेस प्रत्याशी बोले- जीता तो स्लाटर हाउस खुलवाऊंगा:रिजवान कुरैशी ने कहा- 2012 से बंद है स्लाटर हाउस, पुलिस करती है उत्पीड़न

मुरादाबाद8 दिन पहले
मुरादाबाद से कांग्रेस के घोषित प्रत्याशी हाजी रिजवान।

मुरादाबाद शहर से कांग्रेस के उम्मीदवार घोषित हुए रिजवान कुरैशी का कहना है कि वह जीते तो 2012 से बंद पड़े स्लाटर हाउस का ताला खुलवाएंगे। कांग्रेस प्रत्याशी ने कहा कि स्लाटर हाउस बंद होने की वजह से पुलिस उनकी कुरैशी बिरादरी का उत्पीड़न करती है। प्रत्याशी घोषित होने के बाद रिजवान कुरैशी ने दैनिक भास्कर से बातचीत में कहा कि वह मेयर का चुनाव कुछ वोटों से हार गए थे। उम्मीद है इस बार लोग वो कमी पूरी करके उन्हें जिताएंगे। चुनावी मुद्दों के बारे में बात करते हुए रिजवान कुरैशी ने कहा कि उनकी प्राथमिकता बंद पड़े स्लाटर हाउस को खुलवाने की होगी। बोले- स्लाटर हाउस बंद होने की वजह से पुलिस उनकी बिरादरी के लोगों का उत्पीड़न करती है। इसलिए यदि वह जीतते हैं तो शहर में मॉडर्न स्लाटर हाउस बनावाएंगे।

तटबंध और रिंग रोड भी होगा मुद्दों में शामिल
कांग्रेस प्रत्याशी रिजवान कुरैशी ने कहा कि शहर में रिंग रोड का निर्माण और रामगंगा किनारे तटबंध उनके चुनावी मुद्दों में शामिल होगा। तटबंध नहीं होने की वजह से बरसात में शहर के रामगंगा से सटे इलाके में जलभराव होता है। जिसकी वजह से लोगों को दिक्कत होती है। इसलिए वह अपने चुनावों में इसे भी मुद्दा बनाएंगे। इसके अलावा संभल डबल फाटक पुल का दोहरीकरण भी उनके चुनावी मुद्दों में शामिल होगा।

सपा विधायक इकराम के भतीजे हैं रिजवान कुरैशी
कांग्रेस की ओर शहर सीट पर प्रत्याशी घोषित किए गए रिजवान कुरैशी सपा विधायक हाजी इकराम कुरैशी के भतीजे हैं। इकराम कुरैशी देहात सीट से सपा के विधायक हैं। रिजवान ने 2017 में कांग्रेस के टिकट पर मेयर का चुनाव लड़ा था। तब उन्हें करीब 74 हजार वोट मिले थे। उस समय वह दूसरे नंबर पर रहे थे। भाजपा के विनोद अग्रवाल ने रिजवान कुरैशी को हराया था। लेकिन कांग्रेस प्रत्याशी ने 74 हजार वोट पाकर सभी को चौंका दिया था। उन्होंने सपा उम्मीदवार को तो पीछे छोड़ा ही साथ ही जीत के भी करीब पहुंच गए थे।

खबरें और भी हैं...