पुलिस कस्टडी में राजस्थान के पूर्व डिप्टी CM दिल्ली रवाना:कांग्रेस नेता प्रमोद संग लखीमपुर निकले थे, मुरादाबाद पुलिस ने 4.5 घंटे हिरासत में रखा; पायलट बोले- सत्याग्रह की राह नहीं छोड़ेंगे

मुरादाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखीमपुर खीरी जा रहे राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम् को मुरादाबाद में हिरासत में लिया गया है।

लखीमपुर हिंसा के बाद से ही यूपी में राजनीतिक दलों का जमावड़ा लगने लगा है। इसी कड़ी में बुधवार को राजस्थान के पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट और कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम लखीमपुर खीरी के लिए निकले।

मुरादाबाद के हाईवे पर मूंढापांडे टोल के पास से दोनों नेताओं को शाम करीब पौने सात बजे हिरासत में ले लिया गया। बाद में देर रात 11:30 बजे सचिन पायलट और कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम को दिल्ली रवाना कर दिया गया है। मुरादाबाद में सर्किट हाउस से निकलते समय पायलट ने कहा कि उन्हें न तो लखीमपुर खीरी जाने की इजाजत है और न ही मुरादाबाद में रुकने की परमिशन दी जा रही है। कहा कि मुरादाबाद प्रशासन उन्हें UP बॉर्डर लेकर जा रहा है। पायलट को उनकी कार के बजाए ADM सिटी की सरकारी गाड़ी में बैठाया गया है।

हमसे बांड भरने को कहा गया
आचार्य प्रमोद कृष्णम ने बताया कि मुरादाबाद प्रशासन ने दोनों नेताओं को धारा 144 उल्लंघन के नोटिस रिसीव कराए थे। इसके बाद प्रशासन ने उनसे बांड पर साइन करने को कहा। प्रमोद कृष्णम ने बताया कि उन्होंने और सचिन पायलट ने बांड भरने से मना कर दिया। इसके बाद प्रशासन ने पुलिस कस्टडी में उत्तर प्रदेश की सीमा तक छोड़ने का फैसला किया है। प्रमोद कृष्णम ने कहा कि उनकी मर्जी के बिना पुलिस कस्टडी में दिल्ली ले जाया जा रहा है।

मुरादाबाद में हिरासत में लिए गए राजस्थान के पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट और कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम्।
मुरादाबाद में हिरासत में लिए गए राजस्थान के पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट और कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम्।

सर्किट हाउस में रखे गऐ थे सचिन पायलट और कृष्णम्
हिरासत में लेने के बाद जिला प्रशासन सचिन पायलट और आचार्य प्रमोद कृष्णम को सर्किट हाउस ले गए। यहां दोनों को अलग-अलग कमरों में रखा गया है। पूरे इलाके को पुलिस ने छावनी मे तब्दील कर दिया। सर्किट हाउस के बाहर भारी तादाद में पुलिस तैनात की गई।

धारा 144 के उल्लंघन का नोटिस रिसीव कराया
हिरासत में लिए जाने के बाद आचार्य प्रमोद कृष्णम ने दैनिक भास्कर को फोन पर बताया कि उन्हें और सचिन पायलट को मुरादाबाद प्रशासन ने धारा 144 के उल्लंघन का नोटिस तामील कराया है। प्रमोद कृष्णम ने बताया कि उनके साथ कांग्रेस के 40 से 50 कार्यकर्ताओं को भी सर्किट हाउस में हिरासत में रखा गया है।

सर्किट हाउस को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।
सर्किट हाउस को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

DM बोले - बातचीत करने को ले जा रहे
सचिन पायलट और प्रमोद कृष्णम को हिरासत में लेने के बाद जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि दोनों नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने की इजाजत नहीं है। उन्होंने कहा कि दोनों को बातचीत करने के लिए गेस्ट हाउस ले जाया गया है। जहां उन्हें समझाया जाएगा कि उन्हें आगे जाने की परमिशन नहीं है।

सर्किट हाउस में किसी को भी अंदर प्रवेश की इजाजत नहीं है।
सर्किट हाउस में किसी को भी अंदर प्रवेश की इजाजत नहीं है।

BJP सरकार ने संवैधानिक मूल्यों को कुचला
मुरादाबाद में हिरासत में लिए जाने के बाद सचिन पायलट ने एक ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने लिखा है- 'लखीमपुर खीरी जाते समय मुझे और आचार्य प्रमोद को उत्तर प्रदेश प्रशासन द्वारा मुरादाबाद में रोक दिया गया है। लोकतंत्र व संवैधानिक मूल्यों को कुचलकर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को आहत किया है।'

सचिन पायलट ने ट्वीट कर सरकार पर हमला बोला है।
सचिन पायलट ने ट्वीट कर सरकार पर हमला बोला है।

सर्किट हाउस के बाहर जुटे कांग्रेस कार्यकर्ता
सर्किट हाउस के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के जुटने का सिलसिला शुरू हो गया है। लेकिन पुलिस किसी को भी अंदर जाने नहीं दे रही है। कांग्रेस नेता अनुभव मेहरोत्रा ने बताया कि उन्होंने अंदर जाने की कोशिश की तो प्रशासन ने रोक दिया।

पुलिस कह रही है कि अंदर से नेताओं ने ही किसी से मिलने से मना किया है। जबकि उन्होंने प्रमोद कृष्णम से बात की तो उन्होंने कहा कि उन्होंने कार्यकर्ताओं को रोकने को नहीं कहा। धीरे - धीरे सर्किट हाउस पर कांग्रेसियों की भीड़ बढ़ रही है।

सर्किट हाउस के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटने लगी है।
सर्किट हाउस के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटने लगी है।
खबरें और भी हैं...