मुरादाबाद में जयंत का CM योगी पर तंज:बोले- UP के मुख्यमंत्री बेचैन बाबा, आउट ऑफ कंट्रोल बाबा को किसानों की फिक्र नहीं

मुरादाबादएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मुरादाबाद के छजलैट में एक जनसभा को संबोधित करने पहुंचे राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने CM योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा। जयंत ने कहा- UP का CM एक बेचैन बाबा है। बाबा में साधुओं वाला गुण नहीं है। जयंत ने कहा- 'ये बाबा आउट ऑफ कंट्रोल रहते हैं। हर समय गुस्से में रहते हैं। इन्हें इतिहास में दफन मुगलों और औरंगजेब से तो लड़ना है लेकिन भुखमरी, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार से लड़ाई नहीं लड़नी।'

साधुओं की संगत से शांति मिलती है
गुरुवार को दोपहर करीब 3 बजे छजलैट में जनसभा को संबोधित करते हुए जयंत बोले- 'जो भी महंत होते हैं, जिन्होंने साधना, तपस्या करके कोई सिद्धि हासिल की होती है, उनमें गहराई होती है। कोई भी व्यक्ति ऐसे संतों के पास बैठता भी है तो उसे भी शांति का अनुभव होता है।'

जयंत चौधरी की जनसभा।
जयंत चौधरी की जनसभा।

किसान कुचले जा रहे हैं

जयंत ने कहा- प्रदेश में किसान कुचले जा रहे हैं। आए दिन आत्महत्याएं हो रही हैं। बेरोजगारी सिर चढ़कर बोल रही है। डीजल का रेट आकाश को छू रहा है। इन सबसे बेफिक्र मुख्यमंत्री को औरंगजेब से लड़ाई लड़नी है। वो इतिहास में दफन मुगलों से तो लड़ना चाहते हैं कि जनता के सामने खड़ी समस्याओं से लड़ने की उन्हें फिक्र नहीं है।

कैराना में भी जिन्ना को ले आए थे बाबा

जयंत ने कैराना उपचुनाव का उदाहरण दिया। बोले- कैराना उपचुनाव में भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिन्ना से लड़ने की बातें कर रहे थे। किसानों ने उनसे गन्ने की बात की। बोले- हमने लोगों को घर- घर जाकर समझाया। लोग समझ गए कि उनकी लड़ाई इतिहास के पन्नों में दफन जिन्ना या औरंगजेब से नहीं बल्कि जिंदा समस्याओं से है।

PM मोदी पर भी कसा तंज
जयंत ने कहा कि पहले तो मोदी जी जनसभाओं में देश के लोगों के साथ आ भी जाते थे। अब तो उन्होंने कुछ अलग तरह के कपड़े पहनकर जनता से दूरी बना ली है। रालोद नेता ने कहा कि भाजपा देश के किसानों को बेवकूफ बनाने का काम कर रही है।

सरकार आई तो किसानों का बिजली बिल माफ

जयंत ने कहा कि उनकी सरकार आती है तो प्रदेश में किसानों का बिजली बिल माफ कर दिया जाएगा। भविष्य में बिजली बिल को हाफ कर दिया जाएगा। गठबंधन के सवाल पर जयंत का कहना था कि पिछला चुनाव मिलकर लड़ा था। इस बार भी अपने मुद्दों को जनता के बीच ले जा रहे हैं।