मौत का टिकटॉक VIDEO हुआ सच?:मुरादाबाद में कारोबारी ने अपनी मौत का वीडियो बनाया था, कल देर रात गोली मारकर हुई हत्या

मुरादाबाद4 महीने पहले

मुरादाबाद में स्पोर्ट्स के सामान और खिलौनों की दुकान करने वाले युवा व्यापारी कुशांक गुप्ता (30) की बुधवार रात गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या से कुछ महीने पहले कुशांक ने खुद की मौत का एक वीडियो शूट किया था। वीडियो शूट करते वक्त उन्होंने तनिक भी नहीं सोचा होगा कि जल्द ये सच होने वाला है।

BJP नेता पर मुकदमा लिखाने के बाद से सुर्खियों में थे
सिविल लाइंस क्षेत्र में शहर के पॉश एरिया रामगंगा विहार में यह सनसनीखेज वारदात बुधवार रात करीब 8:30 बजे हुई थी। यहां स्टेडियम के पास सिद्धबली स्पोर्ट्स के नाम से दुकान चलाने वाले कुशांक घटना के समय दुकान बंद करके घर जाने की तैयारी कर रहे थे। तभी दुकान पर पहुंचे हमलावर ने कुशांक के सिर पर सटाकर गोली मार दी थी।

करीब सालभर पहले BJP नेता और मूंढापांडे के पूर्व ब्लॉक प्रमुख ललित कौशिक से झगड़े के बाद कुशांक चर्चा में आए थे। तब उन्होंने भाजपा नेता ललित कौशिक के खिलाफ FIR भी दर्ज कराई थी। BJP नेता से जान का खतरा बताते हुए कुशांक ने पुलिस से सुरक्षा मांगी थी। मुकदमे में भाजपा नेता के खिलाफ चार्जशीट दाखिल नहीं होने पर वह दुकान पर धरना देकर भी बैठ गए थे।

वीडियो में मरने का अभिनय करते कुशांक गुप्ता।
वीडियो में मरने का अभिनय करते कुशांक गुप्ता।

पिता ने किराएदार भाइयों को नामजद किया
सिविल लाइंस में अरन्या सिग्नेचर अपार्टमेंट में रहने वाले कुशांक के पिता अशोक गुप्ता ने अपने किराएदार और उसके भाई के खिलाफ FIR दर्ज कराई है। सिविल लाइंस थाने में दर्ज कराई FIR में अशोक गुप्ता ने कहा है, 'घटना के समय मैं अपने बेटे की दुकान बंद कराकर उसे लेने के लिए दुकान के पास पहुंचा था। तभी मैंने देखा कि कोई मेरे बेटे को गोली मारकर भाग गया है। मैं बेटे के पास पहुंचा तो उसने बताया कि प्रयान्शु गोयल पुत्र पंकज गोयल निवासी कवीर नगर, नूरपुर बिजनौर और उसका भाई हिमांशु गोयल बाइक से आए थे। प्रयांशु ने मुझे गोली मार दी है।'
पुलिस ने अशोक गुप्ता की इस तहरीर के आधार पर प्रयांशु और हिमांशु के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है। SSP बबलू कुमार का कहना है कि पुलिस ने तहरीर के आधार पर FIR दर्ज कर ली है। बाकी सभी पहलुओं पर भी पुलिस छानबीन में जुटी है।

देर रात तक SSP बबलू कुमार खुद मौके पर छानबीन में जुटे रहे।
देर रात तक SSP बबलू कुमार खुद मौके पर छानबीन में जुटे रहे।

किराएदार से एक महीने पहले हुआ था झगड़ा
स्टेडियम के पास जहां कुशांक सिद्धबली स्पोर्ट्स चलाते थे, वहां उनका छोटा सा कॉम्प्लेक्स भी है। इसी में प्रथम दल की एक दुकान कुशांक ने नूरपुर निवासी प्रयांशु को रेस्टोरेंट चलाने के लिए किराए पर दी थी। दुकान खाली कराने को लेकर कुशांक का प्रयांशु से झगड़ा हुआ था। दोनों में मारपीट भी हुई थी। तब पुलिस ने महज शांति भंग में यह मामला निपटा दिया था। बताया जाता है कि झगड़े के बाद प्रयांशु ने रेस्टोरेंट बंद करके दुकान खाली तो कर दी थी लेकिन अभी तक दुकान पर उसी का ताला पड़ा हुआ है।

कई बार की थी कुशांक ने सुरक्षा की मांग
करीब सालभर पहले अपनी एक दुकान खाली कराने को लेकर ही कुशांक का BJP नेता ललित कौशिक से विवाद हुआ था। तब कुशांक ने पुलिस में दर्ज कराई FIR में कहा था कि किराएदार का पक्ष ने रहे भाजपा नेता ने अपने ऑफिस में बुलाकर उनसे मारपीट की और धमकी दी। इसके बाद अपनी दुकान का CCTV फुटेज पुलिस को देकर कुशांक ने कहा था कि भाजपा नेता ने हथियारबंद लोगों के साथ दुकान में घुसकर उसने धक्का मुक्की की और जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद से ही लगातार कुशांक सुर्खियों में थे। भाजपा नेता के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल नहीं होने पर वह अपनी दुकान के बाहर धरना देकर बैठ गए थे। कुशांक ने कई बार पुलिस से शिकायत की थी कि समझौता करने के लिए उन्हें धमकियां मिल रही हैं। अपनी और परिवार की जान को खतरा बताते हुए कुशांक ने पुलिस से सुरक्षा की भी मांग की थी।

कुशांक गुप्ता का फाइल फोटो।
कुशांक गुप्ता का फाइल फोटो।

मौत का मनहूस वीडियो बनाने के बाद से थे परेशान
युवा व्यापारी कुशांक गुप्ता पहली बार BJP नेता से झगड़े के बाद अक्टूबर 2020 में सुर्खियों में आए थे। कुशांक की फेसबुक प्रोफाइल बताती है कि खुद की मौत का टिकटॉक शूट करने के बाद से ही वह विवादों में फंसे थे। 2 अक्टूबर 2020 को कुशांक ने यह टिकटॉक फेसबुक पर शेयर किया था। 8 अक्टूबर को उनका भाजपा नेता से विवाद हुआ। इसके बाद से कुशांक, पुलिस और कोर्ट कचहरी के चक्करों में फंसे थे। कभी धमकियां तो कभी धरना, कुशांक लगातार चर्चाओं में थे। उन्होंने कहा था कि उन्हें समझौते के लिए तरह तरह से परेशान किया जा रहा है। कभी नगर निगम वाले दुकान नापने पहुंच जाते हैं तो कभी एमडीए से दुकान सील कराने की धमकी मिलती है। तो कभी रास्ते में रोककर उन्हें धमकाया जाता है। BJP नेता के बाद पिछले एक डेढ़ महीने से कुशांक अपने किराएदार प्रयांशु के साथ विवादों में फंसे थे।