पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षकों के काम की खबर:मुरादाबाद में शिक्षकों के कोविड वैक्सीनेशन के लिए अलग से कैंप, बीएसए ने 3413 शिक्षकों की सूची स्वास्थ्य विभाग को सौंपी

मुरादाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिक्षकों के लिए विशेष वैक्सीनेशन कैंप। - Dainik Bhaskar
शिक्षकों के लिए विशेष वैक्सीनेशन कैंप।

मुरादाबाद में बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत शिक्षकों के कोविड वैक्सीनेशन को एक मुहिम शुरू की गई है। बीएसए ने जिले के 3413 ऐसे शिक्षक - शिक्षिकाओं की सूची तैयार कराई है जिन्होंने अभी तक कोविड वैक्सीनेशन नहीं कराया है। इन शिक्षकों को वैक्सीन लगाने के लिए मुरादाबाद बीआरसी पर एक कैंप लगाया गया है।

जिले के आधे से ज्यादा शिक्षकों का होना है वैक्सीनेशन
बीएसए योगेंद्र कुमार ने बताया कि कोरोना के खिलाफ जंग में शिक्षकों की भूमिका समाज को जागरूक करने के उद्देश्य से भी और भी अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है। यदि शिक्षक ही वैक्सीन नहीं लगवाएंगे तो समाज में दूसरे लोगों को संदेश कैसे देंगे। वैक्सीन प्रोग्राम में शिक्षकों की भागीदारी का पता लगाने के लिए बीएसए ने ऐसे शिक्षकों की लिस्ट तैयार कराई जिन्होंने अभी तक कोविड का टीका नहीं लगवाया है। यह आंकड़ा 3413 निकला जो आधे से भी अधिक है। मुरादाबाद में कुल 6000 शिक्षक बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत हैं।

गांधी पार्क स्कूल में लगेगी वैक्सीन
बीएसए की पहल पर शिक्षकों के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से शहर के गांधी पार्क जूनियर हाईस्कूल में विशेष कैंप लगाया गया है। यह बीआरसी केंद्र भी है। जनपद में कहीं भी तैनात शिक्षक यहां पहुंचकर अपना टीकाकरण करा सकते हैं। यहां प्रतिदिन 100 शिक्षकों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में जहां भी 100 से अधिक शिक्षक इकट्ठा होंगे वहां भी स्वास्थ्य विभाग की ओर से कैंप लगाकर टीकाकरण किया जाएगा।

शिक्षक बच्चों से पूछेंगे, मम्मी-पापा ने टीका लगवाया
बीएसए ने बताया कि स्कूल खुलने पर शिक्षक अपनी-अपनी कक्षाओं में बच्चों से पूछेंगे कि उनके मम्मी पापा ने वैक्सीन लगवाई है या नहीं। जिन बच्चों के परिजनों ने वैक्सीन नहीं लगवाई होगी उन्हें शिक्षक वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करेंगे। लेकिन यह तभी होगा जब खुद शिक्षक ने वैक्सीन लगवा रखी हो। इसलिए बीएसए ने जिले के सभी शिक्षकों के वैक्सीनेशन को यह कैंप लगवाए हैं।

खबरें और भी हैं...