MLA हाजी इकराम बोले- मेरी सीट अभी होल्ड पर:मुरादाबाद में सपा ने काटा अपने 2 सिटिंग MLA का टिकट, लखनऊ में अखिलेश की चौखट पर दोनों विधायक

मुरादाबाद5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुरादाबाद में सपा ने अपने दो मौजूदा विधायकों का टिकट काट दिया है। - Dainik Bhaskar
मुरादाबाद में सपा ने अपने दो मौजूदा विधायकों का टिकट काट दिया है।

समाजवादी पार्टी ने मुरादाबाद जिले में अपने 2 सिटिंग विधायकों का टिकट काट दिया है। देहात सीट से मौजूदा विधायक हाजी इकराम कुरैशी और कुंदरकी से सिटिंग MLA हाजी रिजवान को टिकट नही मिला है। हालांकि कोई सूची जारी नहीं हुई लेकिन प्रत्याशियों को लखनऊ बुलाकर सिंबल दे दिए गए हैं। बता दें कि मुरादाबाद की 6 विधानसभा सीटों में से फिलहाल 4 सपा के पास हैं।

टिकट कटने के बाद हाजी इकराम कुरैशी ने दैनिक भास्कर से कहा - "अभी मेरा टिकट कटा नहीं है। मेरी सीट अभी होल्ड पर है। मुरादाबाद जिले की 5 सीटों पर प्रत्याशी घोषित किए गए हैं। इनमें कांठ से पूर्व मंत्री कमाल अख्तर, कुंदरकी से संभल MP डॉ. बर्क के पोते जियाउर्रहमान बर्क, मुरादाबाद शहर से पूर्व विधायक यूसुफ अंसारी, ठाकुरद्वारा से सिटिंग MLA नवाबजान खां, बिलारी से सिटिंग MLA मोहम्मद फहीम शामिल हैं।" हाजी इकराम बोले- "मैं अभी लखनऊ में हूं और मेरी देहात सीट पर टिकट अभी फाइनल होना बाकी है। लिस्ट में इस सीट के आगे अभी होल्ड लिखा हुआ है।" बता दें कि मुरादाबाद देहात सीट से हाजी नासिर कुरैशी का टिकट फाइनल होने का दावा किया जा रहा है।

मुरादाबाद देहात सीट से समाजवादी पार्टी के मौजूदा विधायक हाजी इकराम कुरैशी।
मुरादाबाद देहात सीट से समाजवादी पार्टी के मौजूदा विधायक हाजी इकराम कुरैशी।

हाजी रिजवान बोले- हां, कट गया मेरा टिकट
कुंदरकी से समाजवादी पार्टी के मौजूदा विधायक हाजी रिजवान ने दैनिक भास्कर से बातचीत में कहा कि उनका टिकट काट दिया गया है। उनकी जगह कुंदरकी से सपा ने संभल के सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क के पोते जियाउर्रहमान काे टिकट दिया है। हाजी रिजवान ने कहा कि वह लखनऊ में हैं और नेतृत्व के सामने अपनी बात रख रहे हैं। बता दें कि हाजी रिजवान कुंदरकी विधानसभा सीट से 3 बार विधायक रहे हैं।

सीट से समाजवादी पार्टीै के मौजूदा विधायक हाजी रिजवान।
सीट से समाजवादी पार्टीै के मौजूदा विधायक हाजी रिजवान।

2017 में ओवैसी की पार्टी से लड़े थे जियाउर्रहमान
समाजवादी पार्टी के संभल MP डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क ने अपने पोते जियाउर्रहमान को 2017 में संभल सीट से ओवैसी की पार्टी से विधानसभा चुनाव लड़वाया था। जियाउर्रहमान सपा प्रत्याशी नवाब इकबाल महमूद के खिलाफ संभल सीट पर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन से चुनाव लड़े थे। तब वह तीसरे नंबर पर रहे थे। बर्क ने सपा में रहते हुए अपने पोते को तब ओवैसी की पार्टी से लड़ा दिया था।

कमाल अख्तर और जियाउर्रहमान का पुतला फूंका
टिकट फाइनल होने के बाद कांठ में ऊमरी चौराहे पर कुछ लोगों ने पूर्व मंत्री कमाल अख्तर का पुतला जलाया। इस मामले में पुलिस ने FIR भी दर्ज की है। वहीं कुंदकी क्षेत्र में भी कुछ लोगों ने जियाउर्रहमान का पुतला फूंका। कुंदरकी क्षेत्र में जियाउर्रहमान का पुतला फूंकने वाले लोग हाजी रिजवान के समर्थक बताए जा रहे हैं। ऊमरी में कमाल अख्तर का पुतला जलाने वाले भी टिकट की रेस में शामिल सपा अन्य नेताओं के समर्थक बताए जा रहे हैं।

लोकसभा चुनाव में कटा था नासिर का टिकट
मुरादाबाद देहात सीट से सपा के प्रत्याशी बताए जा रहे हाजी नासिर कुरैशी का मीट का व्यापार है। 2019 के लोकसभा चुनावों में नासिर कुरैशी को समाजवादी पार्टी ने मुरादाबाद सीट से टिकट दिया था। लेकिन आजम खां के दखल के बाद हाजी नासिर का टिकट काटकर डॉ.एसटी हसन को टिकट दे दिया गया था। तब अखिलेश यादव ने नासिर को भविष्य में एडजस्ट कर लेने का आश्वासन दिया था।

खबरें और भी हैं...