• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Moradabad
  • The Attacker, Who Came Wearing A Helmet, Ran Away After Firing Bullets At Deepak Chaudhary Alias Minister, The Injured Property Dealer Is Close To Many Leaders

मुरादाबाद में देर रात प्रॉपर्टी डीलर पर फायरिंग:हेलमेट लगाकर आए थे हमलावर, ताबड़तोड़ फायरिंग में प्रॉपर्टी डीलर के हाथ में लगी गोली

मुरादाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुरादाबाद में प्राॅपर्टी डीलर दीपक उर्फ मंत्री पर देर रात हमलावरों ने गोलियां बरसा दीं। - दीपक की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मुरादाबाद में प्राॅपर्टी डीलर दीपक उर्फ मंत्री पर देर रात हमलावरों ने गोलियां बरसा दीं। - दीपक की फाइल फोटो।

मुरादाबाद का चिड़ियाटोला इलाका शुक्रवार देर रात ताबड़तोड़ फायरिंग से दहल उठा। रात करीब 10:30 बजे स्कूटी से दोस्त के साथ घर लौट रहे प्रॉपर्टी डीलर दीपक उर्फ मंत्री पर हमलावरों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं। बाइक पर हेलमेट लगाकर पहुंचे हमलावरों ने 6 राउंड फायर की। हमले में दीपक चौधरी की पीठ और हाथ में गोली लगी। गोली मारने के बाद हमलावर फरार हो गए। दीपक को साईं अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

साईं अस्पताल में घायल प्रॉपर्टी डीलर दीपक चौधरी उर्फ मंत्री।
साईं अस्पताल में घायल प्रॉपर्टी डीलर दीपक चौधरी उर्फ मंत्री।

नेताओं से नजदीकियों को लेकर चर्चाओं में रहा है दीपक

मुरादाबाद के मझोला थाना क्षेत्र में पुतलीघर रोड पर पानी की टंकी के पास रहने वाले दीपक को लोग मंत्री कहकर बुलाते हैं। सरकार किसी भी पार्टी की हो, दीपक उर्फ मंत्री का नेताओं से गहरा नाता रहा है। शुक्रवार को भी घटना के बाद समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक हाजी यूसुफ अंसारी समेत कई नेता साईं अस्पताल पहुंचे। भाजपा के कुछ नेताओं से भी दीपक उर्फ मंत्री की नजदीकियां हैं।

अस्पताल के गेट पर जमा भीड़।
अस्पताल के गेट पर जमा भीड़।

हमले की वजह रंजिश बताई, 3 नाम लिए

साईं अस्पताल में भर्ती दीपक उर्फ मंत्री ने पुलिस को बताया है कि वह हमलावरों को पहचानता है। इंस्पेक्टर मझोला जीत सिंह ने बताया कि घायल ने 3 लोगों के नाम लिए हैं। जिनकी पुलिस तस्दीक कर रही है। इंस्पेक्टर के मुताबिक दीपक ने कहा है कि उस पर पूर्व में भी कुछ लोगों ने हमला किया था। जिसमें उसने मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप है कि उन्हीं लोगों ने फिर से उसे जान से मारने की कोशिश की है।

अस्पताल में तैनात पुलिस।
अस्पताल में तैनात पुलिस।

नगर निगम कर्मचारी संघ का नेता था साथ में

जिस समय दीपक उर्फ मंत्री पर हमला हुआ तो उसके साथ में नगर निगम कर्मचारी संघ का एक पदाधिकारी था। सूत्रों का कहना है कि दोनों लोग लाजपत नगर से आ रहे थे। नगर निगम कर्मचारी संघ का नेता दीपक को पुतलीघर रोड स्थित उसके घर छोड़ने जा रहा था। तभी चिड़िया टोला में बाइक सवार हमलावरों ने गोलियां बरसाा दीं।

पुलिस बयान में बदल दिया साथी का नाम

दीपक ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि घटना के समय उसके साथ अंकुर था। इंस्पेक्टर मझोला ने बताया कि घायल ने अंकुर का नाम बताया है। पुलिस उससे भी पूछताछ कर घटनाक्रम का पता लगाएगी। पुलिस उन लोगों को भी तलाश कर रही है, जिनके नाम दीपक ने अपने बयान में लिए हैं।

डाक्टरों का कहना है कि दीपक को पीठ और हाथ पर मिलाकर कुल 4 फायर इंजरी हैं।
डाक्टरों का कहना है कि दीपक को पीठ और हाथ पर मिलाकर कुल 4 फायर इंजरी हैं।

2 साल पहले चाऊ की बस्ती में हुआ था हमला

दीपक मूल रूप से शामली जिले का रहने वाला है। उसके पिता पुलिस में सिपाही थे। मुरादाबाद में लंबी तैनाती के बाद वह यहीं बस गए। दीपक पर 2 साल पहले मझोला में ही चाऊ की बस्ती में हमला हुआ था। उस समय उसने नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

SP सिटी बोले- जांच के बाद करेंगे कार्रवाई

SP सिटी अमित कुमार आनंद घटना के बाद साईं अस्पताल पहुंचे। उन्होंने बताया कि घायल युवक ने पुरानी रंजिश में हमले की बात कही है। हमलावरों को पहचानने का दावा किया है। पुलिस अभी इसकी छानबीन कर रही है। घायल ने बताया है कि 2 बाइकों पर 5 हमलावर थे।

अस्पताल में लगी भीड़।
अस्पताल में लगी भीड़।

दीपक पर भी पुलिस रख चुकी है निगाह

हमले में घायल दीपक पुलिस की रडार पर भी रह चुका है। हालांकि, उसका नाम पुलिस रिकॉर्ड में कहीं नहीं है। लेकिन, 4 साल पहले इलाहाबाद के कुछ शूटरों के मुरादाबाद में मूवमेंट की सूचना पर पुलिस ने पड़ताल शुरू की थी। उस दौरान दीपक का नाम पुलिस छानबीन में सामने आया था।

तत्कालीन IG ने इसकी जांच भी कराई थी। शूटरों के लाइनपार इलाके में मूवमेंट के बाद पुलिस ने दीपक पर नजरें गढ़ाई थीं। अपराधियों के साथ रिश्तों को लेकर दीपक का नाम कई बार सामने आया है। पुलिस से भी दीपक की गहरी यारी रही है।

खबरें और भी हैं...