• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Moradabad
  • Suicide Case In UP: Marriage Was Fixed 8 Days Ago, Written In The Suicide Note I Am Forced To Die, Do Not Leave Even My Girlfriend, Otherwise Your Soul Will Wander

मुरादाबाद...I LOVE मॉम-डैड लिखकर फंदे पर लटका रेलकर्मी:8 दिन पहले ही तय हुई थी शादी, सुसाइड नोट में लिखा- प्रेमिका को मत छोड़ना, नहीं तो मेरी आत्मा भटकेगी

मुरादाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुमित सिंह की कांठ रेलवे स्टेशन पर थी पोस्टिंग। (मृतक सुमित की फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
सुमित सिंह की कांठ रेलवे स्टेशन पर थी पोस्टिंग। (मृतक सुमित की फाइल फोटो)

मुरादाबाद में शुक्रवार को सुसाइड नोट लिखकर रेल कर्मी सुमित फंदे पर लटक गया। सुसाइड नोट की शुरुआत...'LOVE मॉम-डैड' लिखकर की। आगे लिखा- मजबूर हो गया मैं मरने के लिए...सपना (प्रेमिका का परिवर्तित नाम) को भी मत छोड़ना.. नहीं तो मेरी आत्मा भटकेगी।

वहीं, मृतक के पिता ने उसकी प्रेमिका पर परेशान करने की आशंका जताई है। उनका कहना है कि बेटे ने तंग आकर सुसाइड की है। दूसरी तरफ, पुलिस का कहना है कि रेल कर्मी की शादी घर वालों ने प्रेमिका के बजाय किसी और से तय कर दी थी। इसी वजह से उसने आत्महत्या कर ली। मामले कर जांच जारी है।

लड़की वाले रिश्ता पक्का कर शुरुआती रस्म कर गए थे
जिले के ठाकुरद्वारा थाना क्षेत्र में खाईखेड़ा गांव निवासी सुमित पुत्र आशाराम सिंह रेलवे कर्मचारी हैं। कांठ थानाक्षेत्र के नवादड़ी में किराए के मकान में उनका शव सुबह 11 बजे कमरे में फंदे पर लटका मिला। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव को बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है।

मृतक सुमित के पिता ने बताया कि कांठ रेलवे स्टेशन पर पोस्टिंग होने के बाद से कांठ में किराए पर कमरा लेकर रहते थे। 8 दिन पहले ही बेटे की शादी तय हुई थी। लड़की वाले रिश्ता पक्का कर शुरुआती रस्म कर गए थे। शादी की तारीख निकलवाई जा रही थी।

क्या लिखा है सुसाइड नोट में
I LOVE MOM DAD...I LOVE YOU MAA...मजबूर हो गया मैं मरने के लिए। सपना (परिवर्तित नाम) को भी मत छोड़ना। मैं उससे बहुत प्यार करता हूं। उसे अगर नहीं मारा तो मेरी आत्मा भटकेगी। I LOVE SAPNA. मेरे भगवान मेरे मां और पापा...उन्हें सुख न दे पाया। SORRY सबको किसी को दिल दुखाया हो तो। मम्मी और पापा को सही से रखना दीदी।

ATM पिन और मोबाइल का पासवर्ड का किया जिक्र
सुमित ने सुसाइड नोट में अपने ATM का पिन और मोबाइल लॉक का पासवर्ड भी लिखा है। ऐप लॉक के पासवर्ड समेत उसने 5 लाइनें और लिखीं, जिन्हें लिखने के बाद काट दिया। पुलिस ने सुमित के मोबाइल फोन और सुसाइड नोट को कब्जे में ले लिया है, जिसे फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा।

बेटे की पसंद से तय किया था रिश्ता
मृतक के पिता आशाराम ने बताया कि बेटे की रजामंदी से ही पास गांव में रहने वाली लड़की से उसकी शादी तय की थी। बेटा सुमित रिश्ते की रस्म के लिए 8 दिन पहले अपने गांव गए थे। 29 सितंबर की रात ही गांव से लौटकर कांठ वापस आया था। हालांकि, उसकी अभी छुट्टियां भी बाकी थीं। सुमित को 2 अक्टूबर से ड्यूटी ज्वाइन करनी थी। लेकिन, रूम पार्टनर अमित और आकाश के जिद करने पर वह छुट्टियां पूरी किए बिना ही घर से लौट आए थे।

रेल कर्मचारी द्वारा लिखा गया सुसाइड नोट।
रेल कर्मचारी द्वारा लिखा गया सुसाइड नोट।

रूम पार्टनर ट्यूशन से लौटा तो पंखे से लटका था शव
बताया जा रहा है कि सुमित के साथ कमरे में आकाश और अमित रहते थे। आकाश रेलवे में ही कर्मचारी हैं। वह शुक्रवार सुबह यानी आज ड्यूटी पर चला गया था। जबकि अमित पढ़ाई कर रहा था। वो भी सुबह 8 बजे ट्यूशन पर निकल गया। अमित 11 बजे ट्यूशन से लौटा तो कमरे का दरवाजा बंद था। कई बार दस्तक देने के बाद भी बेटे सुमित ने गेट नहीं खोला। अमित ने छत पर जाकर रोशनदान से झांका तो सुमित का शव पंखे से लटका हुआ था। तुरंत उसने अपने रूम पार्टनर और सुमित के पिता आशाराम को फोन करके सूचना दी। अमित ने पुलिस को बताया कि जब वह ट्यूशन पढ़ने गया था तो सुमित सो रहा था।

बेटे को परेशान कर रही थी प्रेमिका
मृतक के पिता आशाराम ने बताया कि उनके बेटे की एक लड़की से दोस्ती थी। लड़की काशीपुर में रहती है और एक अस्पताल में नर्स है। उन्हें आशंका है कि बेटे को उसकी प्रेमिका परेशान कर रही थी। जिसकी वजह से मजबूर होकर उसने आत्महत्या कर ली है।

पुलिस बोली- दूसरी जगह शादी से आहत था युवक
कांठ थाने के इंस्पेक्टर का कहना है कि रेल कर्मी सुमित किसी लड़की से प्रेम करता था। लेकिन घर वालों ने प्रेमिका के बजाय उसकी शादी किसी और से तय कर दी थी। इसी वजह से परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली।

खबरें और भी हैं...