संभल में बाप के बाद बेटे का अनूठा प्रेम प्रसंग:17 साल पहले कांस्टेबल पिता ने धर्म परिवर्तन कर किया था निकाह, अब बेटा स्कूल में पढ़ने वाली हिंदू लड़की को लेकर फरार

संभल5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस शहर के प्रमुख चौराहों पर लगे CCTV को खंगाल रही है। - Dainik Bhaskar
पुलिस शहर के प्रमुख चौराहों पर लगे CCTV को खंगाल रही है।
  • लड़की की मां ने सदर कोतवाली में दी तहरीर, बहला-फुसलाकर भगाने का लगाया आरोप

उत्तर प्रदेश के संभल में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां हिंदू से मुस्लिम बने एक सिपाही के बेटे पर एक किशोरी को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का आरोप लगा है। आरोपी लड़का 10वीं का स्टूडेंट है तो लड़की 9वीं में पढ़ती है। दोनों एक ही स्कूल में पढ़ते हैं। लड़की हिंदू है। दोनों के पास करीब 15 हजार रुपए भी हैं। बताया जा रहा है कि दोनों का घर 2 किलोमीटर की दूरी पर है। 6 महीने से प्रेम प्रसंग चल रहा था। परिवार को भनक तक नहीं थी। छात्रा की मां ने थाने में शिकायत की है। इसके बाद से पुलिस की अलग-अलग टीमें दिल्ली, मुरादाबाद और अमरोहा में दोनों की तलाश कर रही हैं।

यह पूरा मामला मोहल्ला हल्लू सराय का है। यहां रहने वाले अरविंद कुमार सिपाही हैं। लगभग 17 साल पहले सिपाही अरविंद ने अपना धर्म बदलकर मुस्लिम महिला से निकाह किया था। सिपाही ने पास के ही एक स्कूल में अपने बेटे का 10 वीं में एडमिशन कराया। यहां लड़के का एक 16 साल की हिंदू लड़की से अफेयर हो गया। 6 माह तक चले से प्रेम प्रसंग की परिजनों की भनक तक नहीं लगी। गुरुवार को सिपाही का बेटा किशोरी को लेकर भाग गया।

तीन अलग-अलग टीमें कर रही किशोर-किशोरी की तलाश
कोतवाली प्रभारी विकास सक्सेना ने फरार छात्र के पिता सिपाही को थाने बुलाकर मामले में पूछताछ की। तीन अलग-अलग टीमें बनाकर किशोर-किशोरी को तलाशने दिल्ली, मुरादाबाद और अमरोहा के लिए रवाना किया। कोतवाली प्रभारी विकास सक्सेना ने बताया कि किशोर और किशोरी की बरामदगी के लिए सर्च जारी है। शहर के मुख्य चौराहों के CCTV भी खंगाले जा रहे हैं।

देर रात थाने में ही डटे रहे किशोरी के परिजन
उधर, किशोरी की बरामदगी को लेकर परिजन देर रात सदर कोतवाली पहुंचे। जल्द बरामदगी की मांग की। कोतवाली प्रभारी विकास सक्सेना ने अश्वासन दिया। परिजन काफी देर तक थाने में ही किशोरी की बरामदगी को लेकर डटे रहे।

2004 में बदला था सिपाही ने धर्म, जांच कर रहे हैं
वहीं, संभल के ASP आलोक जायसवाल ने बताया कि सिपाही अरविंद के धर्म बदलने का मामला 2004 का है। उसका सर्विस रिकॉर्ड चेक किया जा रहा है। मामले में विधिक कार्रवाई की जाएगी। अभी फिलहाल यह पता किया जा रहा है कि डिपार्टमेंट के रिकॉर्ड में उसने क्या सूचनाएं अपडेट की हैं। सिपाही का बेटा जिस लड़की को लेकर गया है। सिपाही का नाम भी अभी तक पुलिस रिकॉर्ड में अरविंद ही दर्ज है लेकिन सिपाही के द्वारा एक मुस्लिम महिला से शादी करने की बात जरूर संज्ञान में आई है इस मामले में पुलिस अभी जांच पड़ताल कर रही है।

खबरें और भी हैं...