सीएम योगी का दावा 24 घंटे में झूठा साबित:मुरादाबाद में कल योगी ने कहा था, हमने गोहत्या बंद करा दी; आज पुलिस चौकी के ठीक पीछे कटी मिलीं गायें

मुरादाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे के 24 घंटे के भीतर ही मीट तस्करों ने मंडी समिति पुलिस चौकी के पीछे गायों काे काट दिया। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे के 24 घंटे के भीतर ही मीट तस्करों ने मंडी समिति पुलिस चौकी के पीछे गायों काे काट दिया।

मुरादाबाद में मंगलवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने दावा किया था कि उन्होंने गोहत्या बंद करा दी है. लेकिन इस दावे के अगले ही दिन बुधवार को मंडी समिति पुलिस चौकी के ठीक पीछे गायें कटी मिलीं। मुख्यमंत्री ने मुरादाबाद के रतूपुरा में आयोजित सभा में कहा था कि उनकी सरकार ने गोहत्या पर पूरी तरह रोक लगा दी है। आज बैल गाड़ी से बैल कोई चोरी नहीं कर सकता। यदि किसी ने ऐसा किया तो उसे अंजाम भुगतने को तैयार रहना पड़ेगा।

मंडी समिति गेट पर धरना प्रदर्शन करते आक्रोशित लोग।
मंडी समिति गेट पर धरना प्रदर्शन करते आक्रोशित लोग।

एक सितंबर को भी चौकी के पीछे काटी गई थीं गायें

मुरादाबाद के लाइन पार इलाका की मंडी समिति पुलिस चौकी के पीछे गायों को काटे जाने की यह पहली घटना नहीं है। एक सितंबर को भी मंडी समिति चौकी के पीछे गायों के अवशेष मिले थे। उस समय लोगों ने हंगामा किया था। शहर विधायक रितेश गुप्ता ने मौके पर पहुंचकर लोगों को शांत कराया था। पुलिस अभी तक उस घटना का खुलासा नहीं कर सकी है।

धरने पर बैठे आक्रोशित लोग

पुलिस चौकी के ठीक पीछे गायों काे काटे जाने की घटना से लोग नाराज हैं। शहर का लाइन पार इलाका हिंदू बहुल है। इस इलाके को भाजपा का गढ़ माना जाता है। एक महीने के भीतर यह दूसरा मौका है कि यहां गायों की हत्या की गई है। घटना से गुस्साए इलाके के लोग मंडी समिति के गेट पर धरने पर बैठ गए हैं। इनकी मांग है कि गायों की हत्या करने वालों को फांसी दी जाए। साथ ही मंडी समिति पुलिस चौकी पर तैनात सभी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया जाए।

मंडी समिति गेट पर धरना प्रदर्शन करते आक्रोशित लोग।
मंडी समिति गेट पर धरना प्रदर्शन करते आक्रोशित लोग।

दोनों तरफ से बंद है परिसर, फिर भी कट रही गायें

यह घटना मंडी समिति परिसर में चौकी के ठीक पीछे हुई है। पूरा मंडी समिति परिसर बाउंड्री से घिरा है। इसमें एंट्री के सिर्फ दो ही गेट हैं। ऐसे में मीट तस्करों द्वारा इस सुरक्षित इलाके में गायों की हत्या करना पुलिस के लिए खुली चुनौती है।

घटना स्थल पर देखकर साफ पता चलता है कि मीट तस्करों ने गायों को काटा और उनकी खाल उतारकर मांस ले गए। जाहिर है कि यह मिनट दो मिनट का खेल नहीं था। इस पूरे काम में घंटों लगे होंगे। ऐसे में बड़ा सवाल यह भी है कि कैसे पुलिस चौकी के ठीक पीछे यह गायें कटती रहीं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी।

माैके पर पहुंचे SP सिटी
एसपी सिटी अमित कुमार आनंद ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया। एसपी सिटी ने कहा कि अपराधियों को ट्रेस करके जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस पर लग रहे आरोपों की बाबत एसपी सिटी का कहना था कि पुलिस पर लगे आरोपों की विभागीय जांच कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...