सिल्वर मेडल विजेता प्रियंका का हुआ जोरदार स्वागत:मुजफ्फरनगर पहुंचने पर गांव वासियों ने दिया आशीर्वाद, सामाजिक और सियासी हस्तियां रहीं मौजूद

मुजफ्फरनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रियंका गोस्वामी का पैतृक गांव गढमलपुर सांगड़ी पहुंचने पर हुआ जोरदार स्वागत। - Dainik Bhaskar
प्रियंका गोस्वामी का पैतृक गांव गढमलपुर सांगड़ी पहुंचने पर हुआ जोरदार स्वागत।

कामनवेल्थ गेम्स में भारत को वाक रेस में सिल्वर मेडल दिलाने वाली प्रियंका गोस्वामी का मुजफ्फरनगर पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। खुली गाड़ी में गांव गढ़ी सखावत पहुंची प्रियंका को प्रशंसकों ने हाथों पर उठा लिया। प्रियंका को उनके प्रशंसक वहीं से पैतृक गांव गढमलपुर सांगड़ी लेकर पहुंचे। पूर्व विधायक उमेश मलिक, पूर्व मंत्री योगराज सिंह आदि ने प्रियंका को आशीर्वाद दिया। प्रियंका के साथ उसके पिता मदनपाल गिरी भी मौजूद रहे।

बुजुर्गों ने प्रियंका को दिया आशीर्वाद।
बुजुर्गों ने प्रियंका को दिया आशीर्वाद।

बड़े बुजुर्गों ने प्रियंका को दिया आशीर्वाद

गांव गढमलपुर की बेटी प्रियंका गोस्वामी ने विपरीत हालात में भी अपनी प्रतिभा साबित की है। प्रियंका गोस्वामी के पिता मदन पाल गोस्वामी परिवहन विभाग में बस कंडक्टर की नौकरी करते थे। नौकरी चले जाने पर मदन पाल के परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर हो गई थी। फिर भी प्रियंका ने हार नहीं मानी।

क्षेत्र वासियों को अभिवादन स्वीकार करते प्रियंका गोस्वामी।
क्षेत्र वासियों को अभिवादन स्वीकार करते प्रियंका गोस्वामी।

वाक रेस में अपनी किस्मत आजमाने वाली प्रियंका ने सफलता की ऊंचाई को छुआ। 26 वर्षीय ओलंपियन ने 10 किलोमीटर वाक रेस प्रतिस्पर्धा में बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में देश की ओर से प्रतिभाग किया था। 6 अगस्त को हुई वाक रेस प्रतियोगिता में प्रियंका गोस्वामी ने देश के लिए सिल्वर मेडल जीता। मेडल जीतने के बाद से ही प्रियंका का गांव गढ़मलपुर सागड़ी सहित जिला और देश में उत्साह है। बर्मिंघम से घर पहुंचने पर प्रियंका का जोरदार स्वागत किया गया। प्रियंका बुधवार को मेरठ स्थित घर से अपने गांव गढ़मलपुर सागड़ी पहुंची। प्रियंका की कार के साथ तिरंगे झंडे लगे ट्रैक्टरों का काफिला भी था।

खबरें और भी हैं...