मुजफ्फरनगर...जयंत, नाहिद और करतार के मुकदमे शामली ट्रांसफर:कैराना में विशेष MP-MLA कोर्ट में होगी सुनवाई, जयंत के मुकदमे में लग चुकी है FR

मुजफ्फरनगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तीनों राजनेताओं पर शामली जनपद के अलग-अलग थानों में दर्ज तीन मुकदमों की सुनवाई मुजफ्फरनगर के एमपी-एमएलए कोर्ट में चल रही थी। - Dainik Bhaskar
तीनों राजनेताओं पर शामली जनपद के अलग-अलग थानों में दर्ज तीन मुकदमों की सुनवाई मुजफ्फरनगर के एमपी-एमएलए कोर्ट में चल रही थी।

रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी, कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन और हरियाणा सरकार में मंत्री रहे करतार सिंह भड़ाना के मुकदमे शामली के कैराना में गठित विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में ट्रांसफर कर दिए गए हैं। तीनों राजनेताओं पर शामली जनपद के अलग-अलग थानों में दर्ज तीन मुकदमों की सुनवाई मुजफ्फरनगर के एमपी-एमएलए कोर्ट में चल रही थी।

राजनेताओं पर विचाराधीन मुकदमे निश्चित समय सीमा में निस्तारित करने के उद्देश्य से हाईकोर्ट के आदेश पर जनपद में विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट का गठन किया गया था। शामली और मुजफ्फरनगर जनपद के विभिन्न थानों में दर्ज मुकदमों की फाइल उक्त कोर्ट में ट्रांसफर कर दी गई थी।

तब से अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश गोपाल उपाध्याय मुकदमों की सुनवाई कर रहे थे। इस दौरान 2018 में नवसृजित जनपद शामली के कैराना में जिला अदालत का गठन कर दिया गया था। लेकिन, विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट का गठन न होने के कारण अदालत से संबंधित मुकदमों की सुनवाई मुजफ्फरनगर में ही हो रही थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट और जिला जज के आदेश पर शामली के कैराना में गठित विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में तीन मुकदमों को ट्रांसफर कर दिया गया।

रालोद मुखिया जयंत चौधरी के मुकदमे में लग चुकी है FR
कैराना की विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में जो मुकदमे ट्रांसफर किए गए हैं, उनमें से एक रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी पर 2017 विधानसभा चुनाव में आचार संहिता उल्लंघन का था। हांलाकि उक्त मुकदमे में साक्ष्य के अभाव में पुलिस कोर्ट में फाइनल रिपोर्ट (FR) लगा चुकी है। लेकिन, कई नोटिस जारी होने के बावजूद उक्त मामले में वादी मुकदमा कपिल भारद्वाज ने इस संबंध में कोर्ट में पेश होकर एफआर पर अनापत्ति नहीं की है। जिसके चलते मुकदमा समाप्त नहीं हुआ है।

भड़ाना आचार संहिता उल्लंघन, नाहिद हैं रेल रोकने के आरोपी
शामली के कैराना ट्रांसफर किए गए तीन मुकदमों में से एक खतौली विधायक करतार भड़ाना दूसरा कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन से संबंधित है। हरियाणा में मंत्री रहे करतार भड़ाना ने कैराना से 2014 में रालोद प्रत्याशी के तौर पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था। एक अप्रैल 2014 को वादी मुकदमा थाना बाबरी जनपद शामली के एसआई सत्यनारायण ने बुटराड़ा में बिना अनुमति चुनावी सभा किए जाने पर करतार सिंह भड़ाना पर मुकदमा दर्ज कराया था। वहीं कैराना विधायक नाहिद हसन पर 2015 में शामली में रेल रोकने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था।

खबरें और भी हैं...