मुजफ्फरनगर में गोवंश की दुर्दशा पर चरथावल में जाम:हिंदूवादी संगठनों ने किया हंगामा, BDO को सौंपी ईओ के विरुद्ध तहरीर

मुजफ्फरनगर2 महीने पहले
गोवंश की दुर्दशा का आरोप लगा चरथावल में थानाभवन मार्ग पर जाम लगाकर धरना देते हिंदुवादी संगठन से जुड़े लोग।

मुजफ्फरनगर के चरथावल में गोवंश की दुर्दशा का आरोप लगाते हुए हिंदुवादी संगठनों से जुड़े लोगों ने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। नगर पंचायत ईओ पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए बीडीओ को ईओ के विरुद्ध शिकायती पत्र सौंपा। थाना प्रभारी के नाम दिये गए शिकायती पत्र में ईओ के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की गई। तहरीर में कहा कि एक गोवंश काफी दिनों से बीमार है। ईओ नगर पंचायत से गोवंश का उपचार कराने की मांग की गई, लेकिन उन्होंने उस पर कोई ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते अब गोवंश मरणासन्न है।

चरथावल में पड़ी घायल गोवंश।
चरथावल में पड़ी घायल गोवंश।

गोवंश का उपचार न कराने का आरोप लगा

कस्बा चरथावल में एक गोवंश बीमार अवस्था में मिली थी। बजरंग दल विश्व हिंदू परिषद नेताओं का आरोप है कि गाेवंश को चोट भी लगी थी। जिसकी जानकारी ईओ नगर पंचायत को देते हुए बताया गया था कि गांव अलीपुर में गोवंश पड़ा हुआ है। गाेवंश को कुछ कुत्ते नोच रहे थे, जिसकी एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ था। चरथावल निवासी पंकज दीप ने आरोप लगाया गाेवंश के बारे में ईओ नगर पंचायत चरथावल को 16 सितंबर को ही जानकारी दे दी गई थी। शनिवार को गोवंश की हालत बिगड़ने पर विश्व हिंदु परिषद तथा बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने चरथावल में थाना भवन मार्ग पर जाग लगा दिया। हंगामे की सूचना पर आसपास के कई थानों की पुलिस तथा पीएसी भी मौके पर पहुंची। हिंदूवादी संगठन से जुड़े नेताओं ने आरोप लगाया कि नगर पंचायत कर्मचारी निराश्रित गाेवंश को पशुशाला से बाहर निकाल देते हैं। एक बीमार गोवंश के बारे में जानकारी दी गई। लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया। जिसके बारे में पता चला कि उक्त गोवंश को कुत्ते नोच रहे हैं। आरोप लगाया कि नगर पंचायत ईओ कई गोवंश के मामले में इसी प्रकार की लापरवाही बरत चुकी हैं।

चरथावल बीडीओ सतीश सैनी को शिकायती पत्र सौंपते हिंदुवादी संगठन से जुड़े लोग।
चरथावल बीडीओ सतीश सैनी को शिकायती पत्र सौंपते हिंदुवादी संगठन से जुड़े लोग।

नगर पंचायत सीमा से बाहर का मामला है: नीलम पांडेय

नगर पंचायत ईओ नीलम पांडेय का कहना है कि उन्हें देर रात 8 बजे एक गोवंश के घायल अवस्था में पड़े होने की सूचना मिली थी। जिसके लिए पंचायत कर्मचारियों को इस संंबंध में निर्देशित किया गया। बताया कि कुछ देर बाद उन्हें जानकारी मिली कि इस प्रकार का कोई मामला नहीं है। बताया कि फिर जानकारी मिली कि गांव अलीपुर क्षेत्र में इस तरह की गाय घायल अवस्था में थी। वह क्षेत्र नगर पंचायत की सीमा से बाहर है। बावजूद उन्होंने कर्मचारियों को आदेशित किया कि वह गाेवंश को सुरक्षित स्थान पर भिजवाए। ईओ ने कहा कि उनके विरुद्ध साजिश रची जा रही है।

खबरें और भी हैं...