मुजफ्फरनगर...लेडी डॉन मीनू त्यागी अंबेडकर नगर जेल शिफ्ट:विधानसभा चुनाव से पहले छह बड़े अपराधियों को भेजा गया अलग-अलग जेल

मुजफ्फरनगर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बड़कली मोड़ सामूहिक हत्याकांड की मुख्य आरोपी है मीनू त्यागी। - फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
बड़कली मोड़ सामूहिक हत्याकांड की मुख्य आरोपी है मीनू त्यागी। - फाइल फोटो

सतीश त्यागी हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रही और बड़कली मोड़ सामूहिक हत्याकांड की मुख्य आरोपी, कुख्यात गैंगस्टर मीनू त्यागी को अंबेडकर नगर जेल शिफ्ट कर दिया गया है। जिला जेल से दूसरी जेलों में शिफ्ट होने वालों में मीनू त्यागी गैंग का शार्प शूटर सर्वेंद्र सहित पांच बदमाश शामिल हैं। जिला जेल से कुख्यात बदमाशों की प्रशासनिक शिफ्टिंग को मौजूदा विधानसभा चुनाव से पूर्व सरकार की बड़ी कार्रवाई के रूप में देखा जा रहा है।

पति की हत्या के बाद मीनू ने संभाली थी गैंग

जेल बड़े बदमाशों की ऐशगाह बनती जा रही है। ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जिनसे पता चलता है कि बड़े गैंगस्टर और शातिर बदमाश सुरक्षित रहकर जेल से ही जरायम की दुनिया पर हुकूमत करते हैं। कुख्यात गैंगस्टर विक्की त्यागी की पत्नी और सतीश त्यागी हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रही मीनू त्यागी पर जिला जेल से ही आपराधिक साम्राज्य चलाने के आरोप लगते रहे हैं । मीनू के पति विक्की त्यागी की हत्या सात वर्ष पूर्व कोर्ट परिसर में ही गोलियों से भूनकर कर दी गई थी। पति की हत्या के बाद गैंग की कमान मीनू त्यागी ने संभाल ली थी।

मीनू त्यागी को शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव बहेड़ी निवासी लकड़ी कारोबारी सतीश त्यागी हत्याकांड में 2017 में उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। कई अन्य मुकदमों सहित मीनू त्यागी 2011 में बड़कली मोड़ सामूहिक हत्याकांड में भी मुलजिम है। शासन के आदेश पर मीनू त्यागी को अंबेडकर नगर और सतीश त्यागी हत्याकांड में उसके साथ उम्रकैद काट रहे सर्वेन्द्र को कासगंज जिला जेल शिफ्ट किया गया है। जबकि सहारनपुर के सट्‌टा किंग और माफिया सनी चिडहा को उन्नाव, शातिर बदमाश अनुज को चित्रकूट एवं गैंगस्टर मनोज को गोरखपुर और रविन्द्र को जिला जेल से लखनऊ जेल शिफ्ट किया गया है।

शासन के आदेश पर किया गया दूसरी जेलों में शिफ्ट

जिला जेल अधीक्षक सीताराम शर्मा का कहना है कि शासन के आदेश का अनुपालन करते हुए बंदियों को दूसरी जेलों में शिफ्ट किया गया है। बताया कि सभी बंदियों और अपराधियों को स्पष्ट संदेश है कि जिला जेल में अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जेल का संचालन जेल मैनुअल के अनुसार ही किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...