दलित-पिछड़ो के बारात घर पर सचिवालय का विरोध:मुजफ्फरनगर कलक्ट्रेट पर अति पिछड़ा वर्ग संघर्ष माेर्चा का धरना, सचिवालय कहीं और बनवाने की मांग

मुजफ्फरनगर4 महीने पहले
कलक्ट्रेट पर धरना देते भारतीय अति पिछड़ा वर्ग संघर्ष मोर्चा के कार्यकर्ता।

मुजफ्फरनगर कलक्ट्रेट में भारतीय अति पिछड़ा वर्ग संघर्ष मोर्चा ने धरना दिया। आरोप लगाया कि जिला प्रशासन के इशारे पर गांव लखनौती में दलित तथा पिछड़ा वर्ग के बारात घर पर प्रशासन ग्राम सचिवालय का निर्माण करा रहा है। इससे दोनों समाज के लाेगों के सामने समस्या खड़ी हो जाएगी। परिवार में शादी तथा धार्मिक आयोजन के लिए गांव में जगह नहीं मिलेगी।

कलक्ट्रेट में बारात घर निर्माण के विरोध में धरने पर बैठे ग्रामीण।
कलक्ट्रेट में बारात घर निर्माण के विरोध में धरने पर बैठे ग्रामीण।

दलित और पिछड़ो के उत्पीड़न का आरोप

भारतीय अति पिछड़ा वर्ग संघर्ष मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहन प्रजापति के नेतृत्व में पुरकाजी क्षेत्र के गांव लखनौती के लोगों ने डीएम कार्यालय के सामने धरना दिया। मोहन प्रजापति ने आरोप लगाया कि गांव के दलित तथा अति पिछड़ा वर्ग का उत्पीड़न किया जा रहा है। बताया कि बीडीओ एवं सचिव गांव लखनौती में दलित तथा पिछड़ा वर्ग के बारात घर में सचिवालय बनाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि बारात घर की भूमि एक व्यक्ति ने दलित समजा के लोगों को दान की थी। जिसके लिए चंदा एकत्र कर बारात घर बनाया गया। बताया कि वहां एक रविदास मंदिर भी है। बारात घर में विवाह शादी तथा धार्मिक आयोजन होते हैं। उन्होंने कहा कि साजिशन उक्त स्थान पर ग्राम सचिवालय निर्माण का प्रयास चल रहा है। जिसका भारतीय अति पिछड़ा वर्ग संघर्ष मोर्चा विरोध करता है। उन्होंने कहा कि विरोध स्वरूप धरना शुरू किया गया है। चेतावनी दी कि यदि बीडीओ एवं सचिव ने यह फैसला नहीं बदला तो धरना आंदोलन में बदल जाएगी। बताया कि संघर्ष मोर्चा उग्र आंदोलन करने के लिए मजबूर होगा। आरोप लगाया कि जिस प्रधान का गांव वासियों ने जिताया वही अब उनके विरुद्ध कार्य कर रहा है।

कलक्ट्रेट पर धरने में ये लोग रहे शामिल

धरने का संचालन सुमित प्रजापति ने किया। उन्होने कहा कि दलित तथा अति पिछड़ा वर्ग प्रशासन का उत्पीड़न किसी भी सूरत में स्हन नहीं करेगा। इन्द्रमल प्रजापति, सचिन प्रजापति, निर्मला देवी आदि शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...