टीका नहीं रोक पा रहा कोरोना संक्रमण:मुजफ्फरनगर में वैक्सीन लगवा चुके लोग भी कोरोना पॉजिटिव, 5 साल के दो बच्चे भी पॉजिटिव

मुजफ्फरनगर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शुक्रवार देर शाम 129 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। - प्रतिकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
शुक्रवार देर शाम 129 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। - प्रतिकात्मक फोटो।

कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के हमले को टीके की ढाल भी नहीं रोक पा रही है। आंकलन करें तो तीसरी लहर के दौरान संक्रमित पाए मरीजों में बच्चों को छोड़ दें तो लगभग सभी टीके की दोनों डोज ले चुके हैं। साफ है कि टीका लगने के बाद भी लोग कोरोना वायरस संक्रमण से बच नहीं पा रहे। राहत की खबर ये है कि तीसरी लहर के दौरान जिले में संक्रमित मिले 257 मरीजों में से एक को भी अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं पड़ी है। हांलाकि इनमें तीन मरीजों में ओमिक्रोन वैरियंट की भी पुष्टि बाद में हुई।

शुक्रवार देर शाम आई रिपोर्ट के अनुसार, जनपद में 129 लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए। इनमें पांच वर्ष आयु तक के दो बच्चे भी शामिल हैं। इस तरह तीसरी लहर के दौरान जनपद में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 257 पर पहुंच गया। इनमें बच्चों की संख्या नौ है। स्वास्थ्य विभाग के आंकलन के अनुसार तीसरी लहर के दौरान अब तक जितने भी लोगों में संक्रमण पाया गया है उनमें बच्चों को छोड़कर 90 प्रतिशत से अधिक मरीज टीके की दोनों डोज लगवा चुके हैं।

स्वास्थ्य विभाग का एक कर्मी तीसरी बार पाजिटिव

स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत एक कर्मचारी तो ऐसा है जिसे तीसरी बार कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। उक्त कर्मचारी टीके की दोनो डोज लगवा चुका है। हैरत की बात तो यह है कि वह पहली, दूसरी और अब तीसरी लहर में भी पाजिटिव पाया गया।

प्रतिदिन दोगुना हो रहे कोरोना संक्रमित मरीज

कोरोना वायरस संक्रमण की गति इस बार पहले से कई गुना तेज है। यदि आंकलन करें तो मंगलवार को केवल 17 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई थी। बुधवार को कोरोना पाजिटिव मिलने वालों की संख्या 27 पाई गई जबकि गुरुवार को यह संख्या 60 पर पहुंच गई। शुक्रवार को आई रिपोर्ट के अनुसार जिले के 129 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। इस तरह हर दिन मरीजों की संख्या दोगुना हो रही है। सीएमओ डा. एमएस फौजदार का कहना है कि तीसरी लहर के दौरान देखने में आ रहे है कि कोरोना वायरस संकमण की गति तेज है, लेकिन फिलहाल सुकून ये है कि मरीजों को हास्पिटलाइज कराने की आवश्यकता नहीं पड़ रही।

खबरें और भी हैं...