जेल से चुनाव जीतने वाले MLA को मिली बेल:सपा विधायक नाहिद हसन 10 महीने से हैं बंद, कोर्ट ने घोषित किया था भगोड़ा

मुजफ्फरनगर2 महीने पहले

शामली की कैराना सीट से सपा विधायक नाहिद हसन को हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। उन्होंने जेल में रहते हुए 25 हजार से ज्यादा वोटों से चुनाव जीता था। अब माना जा रहा है कि वह एक-दो दिन में जेल से बाहर आ जाएंगे। नाहिद हसन करीब 10 महीने से चित्रकूट जेल में बंद हैं। इसके पहले वह मुजफ्फरनगर जेल में थे। दो महीने पहले ही उन्हें चित्रकूट जेल में शिफ्ट किया गया है। 2019 में शामली की विशेष अदालत ने नाहिद हसन को भगोड़ा घोषित किया था और पूरे एरिया में मुनादी करवाई थी।

नाहिद हसन के अधिवक्ता ने बताया कि गैंगस्टर के मुकदमे में हाईकोर्ट ने उन्हें जमानत दी है। धमकी देने और अमानत में खयानत के मुकदमे में सुप्रीम कोर्ट नाहिद हसन को एक महीने पहले ही जमानत दे चुका है। यह सुनवाई 19 अक्टूबर को हुई थी।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ विधायक नाहिद हसन। (फाइल फोटो)
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ विधायक नाहिद हसन। (फाइल फोटो)

15 जनवरी से जेल में बंद हैं सपा विधायक
विधानसभा चुनाव से पहले 15 जनवरी, 2022 को कैराना पुलिस ने नाहिद हसन को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। उन पर गैंगस्टर एक्ट लगाया गया था। स्थानीय कोर्ट से उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी गई थी। इसके बाद उन्होंने जमानत के लिए हाईकोर्ट में अर्जी लगाई गई थी। बुधवार को उनकी जमानत मंजूर कर ली गई। विधायक को हाईकोर्ट से राहत मिलने पर समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

कोर्ट में पेशी के लिए जाते सपा विधायक नाहिद हसन। (फाइल फोटो)
कोर्ट में पेशी के लिए जाते सपा विधायक नाहिद हसन। (फाइल फोटो)

जेल से ही सपा के टिकट पर लड़ा था चुनाव
2018 में कैराना के मोहल्ला अफगानन के रहने वाले मोहम्मद अली ने सपा विधायक नाहिद हसन और उनकी मां पूर्व सांसद तबस्सुम हसन समेत 40 लोगों के खिलाफ 21 फरवरी, 2021 को गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। स्थानीय कोर्ट ने नाहिद की जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। इसके बाद उन्होंने हाइकोर्ट में याचिका दायर की थी, लेकिन वहां से भी जमानत नहीं मिली थी।

नाहिद हसन और उनके पिता मुनव्वर हसन- फाइल फोटो।
नाहिद हसन और उनके पिता मुनव्वर हसन- फाइल फोटो।

पिता, दादा से विरासत में मिली राजनीति
कैराना विधानसभा से प्रत्याशी वर्तमान सपा विधायक नाहिद हसन को राजनीति विरासत में मिली है। नाहिद के पिता मुनव्वर हसन सभी सदनों के सदस्य रहे। नाहिद की मां तबस्सुम हसन भी कैराना से सांसद रह चुकी हैं। नाहिद के दादा अख्तर हसन भी लोकसभा सांसद रहे हैं। 2017 में भी नाहिद कैराना से सांसद रहे।

मुस्लिम गुर्जर बिरादरी से ताल्लुक रखने वाले नाहिद कैराना में जातीय समीकरणों के आधार पर मजबूत हैं। वहीं दादा, पिता की राजनीतिक विरासत के कारण मतदाताओं के मन में संवेदना रखते हैं।

  • यह खबरें भी पढ़ें

शामली में नॉमिनेशन भरने जा रहे सपा प्रत्याशी गिरफ्तार: गैंगस्टर में कोर्ट ने भगोड़ा घोषित किया था

शामली में सपा प्रत्याशी नाहिद हसन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी गैंगस्टर एक्ट मामले में की गई है। बताया जा रहा है कि नाहिद हुसैन नॉमिननेशन फाइल करने जा रहा था तभी पुलिस ने उसे दबोच लिया। पुलिस ने उसे फास्ट ट्रैक कोर्ट में पेश किया। यहां से उसे जेल भेज दिया गया है। सोमवार को सरकारी वकील और नाहिद के वकील इस मामले में कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। सुनवाई के दौरान पुलिस फोर्स और पीएसी मौजूद रही। सपा प्रत्याशी पर करीब 17 मुकदमे दर्ज हैं।

बता दें, 2019 में शामली की विशेष अदालत ने नाहिद को भगोड़ा घोषित किया था और पूरे एरिया में मुनादी करवाई थी। सितंबर 21 में उन्होंने कोर्ट में सरेंडर किया था, कुछ घंटों के बाद उन्हें जमानत मिल गई थी। पुलिस ने उनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट भी लगा दिया था। पूरी खबर यहां पढ़ें

कैराना विधायक नाहिद हसन बीमार: डॉक्टरों ने कराया CT स्कैन और अल्ट्रासाउंड

मुजफ्फरनगर जिला जेल में गैंगस्टर के मामले बंद कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के बाद जिला अस्पताल ले जाया गया। भारी पुलिस सुरक्षा के बीच जहां चिकित्सकों ने उनका चेकअप कर सीटी स्कैन सहित विभिन्न जांच कराई।

जनवरी 2022 को नाहिद हसन को शामली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। स्थानीय कोर्ट ने नाहिद हसन की जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। जिसके उपरांत हाईकोर्ट से भी नाहिद को निराशा हाथ लगी थी। नाहिद हसन ने जिला जेल से ही कैराना सीट से विधायक का चुनाव जीता था। 6 महीने से अधिक जिला जेल में बंद है। शानिवार को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कते आने के बाद उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पूरी खबर यहां पढ़ें

नाहिद बोले- कोर्ट का सम्मान करता हूं, फैसला मंजूर होगा: 10 साल पुराने मामले में सहारनपुर की MP/MLA कोर्ट में हुई पेशी

सहारनपुर की MP/MLA कोर्ट में कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन 10 साल पुराने मामले में पेश हुए। वह चित्रकूट से दोपहर एक बजे पुलिस वाहन में पहुंचे थे। उनके पहुंचते ही कोर्ट में समर्थकों की भीड़ जुट गई।

पुलिस को बुलाया गया और सभी को कोर्ट परिसर से बाहर निकाला गया। ACGM मयंक प्रकाश की कोर्ट में सुनवाई हुई। जज ने मामले में 25 नवंबर की तारीख दी है। पुलिस ने नाहिद हसन को लेकर चित्रकूट के लिए रवाना हो गई है। पूरी खबर यहां पढ़ें