मुजफ्फरनगर..हत्यारे को फिरौती के आरोप में जमानत:उम्रकैद काट रहे देवर ने विधवा भाभी व दो भतीजों की जमीन के लिए कर दी थी हत्या, पैरवी पर दी थी धमकी

मुजफ्फरनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो।

विधवा भाभी व दो नाबालिग भतीजों की जमीन के लिए गोली मारकर हत्या करने में उम्रकैद काट रहे एक हत्यारे देवर को एडीजे-10 कोर्ट ने फिरौती व जान से मारने की धमकी दिये जाने के मामले में जमानत दे दी है।

2011 में मिल मंसूरपुर कालोनी निवासी बबीता व उसके दो नाबालिग पुत्रों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बबीता के भाई अमित कुमार ने तीहरे हत्याकांड का मुकदमा दर्ज कराया था। अमित ने आरोप लगाया था कि उसकी बहन तथा दो भांजो की हत्या दानपाल पुत्र त्रिपाल ने की थी। बबीता दानपाल की विधवा भाभी थी। घटना का मुकदमा फास्ट ट्रेक कोर्ट संख्या एक सुमित पंवार की अदालत में चला था। सुनवाई उपरांत कोर्ट ने आरोपी दानपाल को तीहरे हत्याकांड का दोषी ठहराते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। दोषी पर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था।

मुकदमे की पैरवी पर दानपाल ने दी थी अमित को धमकी

अपनी बहन बबीता तथा दो भांजो की हत्या के मुकदमे की पैरवी अमित कर रहा था। अमित ने 15 सितंबर 2011 को थाना सिविल लाइन में मुकदमा दर्ज कराते हुए आरोप लगाया था कि जब वह तारीख पर कचहरी आया था तथा दानपाल व उसकी पत्नी सोनी पेशी पर आए थे तो उन्होंने उससे फिरौती की मांग करते हुए जान से मारने की धमकी दी थी। आरोप था कि दानपाल उसे मुकदमे की पैरवी करने पर जान से मारने की धमकी दे रहा था। दानपाल तब से ही जेल में निरुद्ध है।

कोर्ट ने धमकी व फिरोती के आरोप में दी जमानत

तीहरे हत्याकांड के आरोप में 30 अक्टूबर 2021 को दोषी ठहराए जाने के बाद उम्रकैद की सजा काट रहे दानपाल की ओर से उसके अधिवक्ता ने फिरोती मांगने तथा धमकी देने के आरोप में कोर्ट में जमानत प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया गया था। जिस पर सुनवाई करते हुए एडीजे-10 अशोक कुमार ने फिरोती मांगने तथा जान से मारने की धमकी देने के आरोप में दानपाल को जमानत प्रदान कर दी।

खबरें और भी हैं...