मुजफ्फरनगर के आंगनवाड़ी केंद्रों पर तालाबंदी का खतरा:शहरी क्षेत्र के आंगनवाड़ी केंद्र भवनों का 20 माह से नहीं दिया गया किराया

मुजफ्फरनगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने केंद्र भवनों का किराया अदा करने की मांग जिला प्रशासन से की। - Dainik Bhaskar
आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने केंद्र भवनों का किराया अदा करने की मांग जिला प्रशासन से की।

मुजफ्फरनगर शहरी क्षेत्र में चलने वाले 236 आंगनवाड़ी केंद्रों का किराया 20 महीनों से नहीं दिया गया है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने डीएम कार्यालय पहुंचकर इस मामले में ज्ञापन सौंपा। उन्होंने डीएम को बताया कि आंगनवाड़ी केंद्रों पर तालाबंदी का संकट खड़ा हो गया।

प्रशासनिक अधिकारी को ज्ञापन सौंपती आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अलका चौधरी।
प्रशासनिक अधिकारी को ज्ञापन सौंपती आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अलका चौधरी।

डीएम कार्यालय पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
डीएम कार्यालय पहुंचे कार्यकर्ताओं ने कहा कि 2021-22 वित्तीय वर्ष के दौरान शहरी क्षेत्र में संचालित आंगनवाड़ी केंद्र के भवनों का किराया शासन से नहीं आया है। उन्होंने बताया कि किराया भवन मालिक के बैंक अकाउंट में भेजा जाता है। शहरी क्षेत्र के 236 आंगनवाड़ी केंद्रों का 20 माह से किराया नहीं दिए जाने की वजह से भवन मालिक उन्हें खाली करने को कह रहे हैं।

कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट पहुंचकर इस संबंध में ज्ञापन देकर उचित कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि सभी भवन मालिक केंद्र को खाली करने का दबाव डाल रहे हैं। उन्होंने डीएम से पूछा कि ऐसी स्थिति में वह क्या करें? आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने इस मामले में जिला प्रशासन से मार्गदर्शन मांगा है। इस मौके पर अलका चौधरी, उपासना, बबली रानी, शबनम, अनीता, बबीता, ममता, रिहाना, सोनू, सुमन आदि शामिल रहीं।

खबरें और भी हैं...