• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Muzaffarnagar
  • A Chance To Make A Future With Your Favorite Books; Free Internet Facility On Computer For 1 Hour With Reading In AC Library, Books Will Also Be Able To Be Brought Home

मुजफ्फरनगर में UP की पहली पुलिस लाइब्रेरी:मनपसंद किताबों के संग भविष्य बनाने का मौका; एसी लाइब्रेरी में पढ़ने के साथ 1 घंटे फ्री इंटरनेट की सुविधा, घर भी मंगवा सकेंगे किताबें

मुजफ्फरनगर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतियोगी परीक्षाओं (यूपीएससी, एसएससी, यूपी पीएससी, एनडीए, सीडीएस, टीईटी व एएफसीएटी) की तैयारी कर अपने भविष्य को बेहतर बना सकेंगे। यह लाइब्रेरी पढ़ने के शौकीनों के लिए बिलकुल फ्री है। - Dainik Bhaskar
प्रतियोगी परीक्षाओं (यूपीएससी, एसएससी, यूपी पीएससी, एनडीए, सीडीएस, टीईटी व एएफसीएटी) की तैयारी कर अपने भविष्य को बेहतर बना सकेंगे। यह लाइब्रेरी पढ़ने के शौकीनों के लिए बिलकुल फ्री है।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में सूबे की पहली पुलिस लाइब्रेरी बनाई गई है। इस एसी लाइब्रेरी में हर उम्र के लोगों खासकर बच्चों की किताबें मौजूद हैं। पुलिस कर्मी के बच्चे लाइब्रेरी में आकर न केवल कला-साहित्य से जुड़ी अपनी मनपसंद किताबें पढ़े सकेंगे, बल्कि प्रतियोगी परीक्षाओं (यूपीएससी, एसएससी, यूपी पीएससी, एनडीए, सीडीएस, टीईटी व एएफसीएटी) की तैयारी कर अपने भविष्य को बेहतर बना सकेंगे। यह लाइब्रेरी पढ़ने के शौकीनों के लिए बिल्कुल फ्री है।

बच्चों ने किया पुलिस लाइब्रेरी का उद्घाटन
एसएसपी अभिषेक यादव और सीडीओ आलोक यादव के साथ बच्चों ने पुलिस लाइन में बनी लाइब्रेरी का उद्घाटन किया। एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि लाइब्रेरी में बैठकर पढ़ने के साथ 1 घंटे तक कम्प्यूटर का यूज कर सकेंगे। पुलिसकर्मी या उनके परिवार के लोग अगर किताबों को घर पर ले जाकर पढ़ना चाहते हैं तो उन्हें सिर्फ 50 रुपए में मेम्बरशिप कार्ड मिलेगा जो एक महीने तक वैलिड है।

एसएसपी अभिषेक यादव सहित बच्चों ने किया लाइब्रेरी का उद्घाटन।
एसएसपी अभिषेक यादव सहित बच्चों ने किया लाइब्रेरी का उद्घाटन।

ऑन डिमांड पुस्तक की सुविधा
अगर कोई पुलिसकर्मी पुस्तक मंगवाना चाहता है जो, लाइब्रेरी में मौजूद नहीं है तो वह ऑनडिमांड उपलब्ध कराई जाएगी। ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए लाइब्रेरी में 4 कम्प्यूटर हैं जो, इंटरनेट से कनेक्टेड हैं। लोग पुस्तकालय में बैठकर पढ़ने के साथ 1 घंटे तक कम्प्यूटर का यूज भी कर सकेंगे। वो भी बिलकुल फ्री में।

एक छत के नीचे सजी किताबों की दुनिया
एसी लाइब्रेरी में एक छत के नीचे ही शौकीनों को उनकी जरुरत की पुस्तकें पढ़ने का मौका मिलेगा। लाइब्रेरी में बैठकर पढ़ना फ्री है। यानी इसके लिए आपको कोई पैसा नहीं खर्च करना होगा। यहां आने वाले लोगों को रोजाना न्यूज पेपर पढ़ने का मौका मिलेगा, ताकि वो देश-दुनिया में होने वाली घटनाओं से रूबरू हो सकें। इसके अलावा लाइब्रेरी में प्रमुख मासिक पत्रिकाएं भी उपलब्ध रहेंगी। पुलिसकर्मी या उनके परिवारजन जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए भी लाइब्रेरी में सभी जरूरी पुस्तकें मौजूद हैं। इसके अलावा लाइब्रेरी में हिंदी व इंग्लिश के प्रमुख उपन्यास, अध्यात्म, महापुरुषों की जीवनी व प्रेरणादायक किताबें भी पढ़ने को मिलेंगी।

और बेहतर बनाने के लिए दें अपने सुझाव
पुलिस लाइब्रेरी को समय के साथ और बेहतर बनाने के लिए आप अपने सुझाव भी दे सकते हैं। आपके सुझाव के लिए लाइब्रेरी में बॉक्स लगा है। इस बॉक्स में आप अपने सुझाव पेपर पर लिखकर डाल सकते हैं। आपके दिए सुझाव पर अमल कर लाइब्रेरी को और बेहतर बनाने की कोशिश की जाएगी।

खबरें और भी हैं...