कानपुर पुलिस की रडार पर अब सहयोगी:विकास दुबे के लिए काम करने वाली दो महिलाओं समेत 3 गिरफ्तार; 10 पुलिसवालों की चौबेपुर थाने में पोस्टिंग

कानपुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इस तस्वीर में रेखा अपने बच्चों के साथ दिख रही है। महिला पर आरोप है कि मुठभेड़ की रात इसने जान बचाने के लिए छिपे पुलिसकर्मियों की जानकारी बदमाशों को दी। - Dainik Bhaskar
इस तस्वीर में रेखा अपने बच्चों के साथ दिख रही है। महिला पर आरोप है कि मुठभेड़ की रात इसने जान बचाने के लिए छिपे पुलिसकर्मियों की जानकारी बदमाशों को दी।
  • पुलिस ने ढाई लाख के इनामी विकास दुबे का सहयोग करने और पुलिस की मदद न करने के आरोप में कार्रवाई की
  • एसएसपी ने 10 पुलिसकर्मियों का पुलिस लाइन से तबादला कर चौबेपुर थाने भेजा, आज सुबह सबकी ज्वाइनिंग हुई

जिले के बिकरु गांव में अब गैंगस्टर विकास दुबे के लिए काम करने वाले लोग पुलिस की रडार पर हैं। सोमवार देर रात चौबेपुर पुलिस ने दो महिलाओं के साथ एक और व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, देर रात चौबेपुर थाना में भी बड़े तौर पर फेरबदल किया गया। एसएसपी कानपुर ने 10 सिपाहियों का तबादला पुलिस लाइन से चौबेपुर थाने में किया है। सभी ने मंगलवार सुबह ड्यूटी ज्वाइन कर ली है।

इस बीच, पांचवें दिन बाद भी विकास अपने अन्य साथियों के साथ पुलिस पकड़ दूर है। पुलिस ने पड़ोसी सुरेश वर्मा, रिश्तेदार क्षमा और नौकरानी रेखा अग्निहोत्री पर धारा 120 बी के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। नौकरानी रेखा का पति कल्लू उर्फ दयाशंकर अग्निहोत्री दो दिन पहले ही पुलिस मुठभेड़ में पकड़ा गया था।

चौबेपुर पुलिस ने बताया कि जांच में सामने आया कि घटना की रात विकास का पड़ोसी सुरेश वर्मा पुलिस पर फायरिंग के दौरान बदमाशों की हौसला अफजाई कर रहा था। वह चिल्लाकर बदमाशों से कह रहा था कि आज कोई बचकर ना जाए और पुलिस वाले जान बचाने के लिए छिप रहे थे। बदमाशों को सिपाही की लोकेशन की जानकारी भी दे रहा था। 

एसएसपी ने 10 पुलिसकर्मियों का चौबेपुर थाने में तबादला किया।
एसएसपी ने 10 पुलिसकर्मियों का चौबेपुर थाने में तबादला किया।

मुठभेड़ में विकास की रिश्तेदार ने पुलिस की मदद नहीं की
आरोप है कि मठभेड़ के समय कुछ पुलिसवाले जान बचाने के लिए आसपास के मकान में शरण लेना चाह रहे थे। लेकिन, पड़ोसी क्षमा ने घर का दरवाजा नहीं खोला और अंदर जाकर बदमाशों को घर के बाहर पुलिसवालों के होने की जानकारी दी। जिसके चलते छह पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। वहीं, दूसरी महिला रेखा अग्निहोत्री पकड़ी गई। वह विकास को घर की ओर आने वाले पुलिस वालों की सूचना दे रही थी। इसके साथ जान बचाने के लिए दीवार की आड़ में छुपे कुछ पुलिसकर्मियों की जानकारी भी रेखा ने बदमाशों को दी थी, जिससे बदमाशों ने पुलिसवालों पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर हत्या कर दी थी। थाना प्रभारी कृष्ण मोहन राय चौबेपुर ने बताया कि सभी आरोपियों पर केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।