यूपी में जहरीली शराब पीने से 5 की मौत:स्थानीय विधायक का दावा-16 मौतें हुई हैं, पर पुलिस का इंकार; एसओ समेत 4 पुलिसकर्मी निलंबित, 5 आरोपी भी गिरफ्तार

अंबेडकर नगर5 महीने पहले
हालत बिगड़ने के बाद दो को सरकारी अस्पताल रेफर कर दिया गया है।
  • 5 लोग अस्पताल में भर्ती, 2 की हालत गंभीर; लॉकडाउन के बावजूद अंबेडकरनगर-आजमगढ़ के बॉर्डर पर बिक रही थी देसी शराब

उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के बीच हो रही देसी शराब की तस्करी के साइडइफेक्ट दिखने लगे हैं। अंबेडकरनगर जिले में जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, 5 की हालत गंभीर है। सभी का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। तीन लोग सरकारी अस्पताल रेफर किए गए हैं। मामला जैतपुर क्षेत्र के मखदूमपुर की चौहान बस्ती का है।

शराब पीने से मौत की जानकारी सबसे पहले सपा विधायक सुभाष राय ने पुलिस को दी। विधायक का दावा है कि 5 नहीं 16 लोगों की जान गई है। लेकिन पुलिस इस बात से इंकार कर रही है। पुलिस ने देर शाम मामले में कार्रवाई करते हुए 5 लोगों को गिरफ्तार कर भी लिया है। साथ ही एसपी आलोक प्रियदर्शी ने जैतपुर एसओ पंडित त्रिपाठी, उप निरीक्षक कैलाश सिंह यादव, कांस्टेबल राहुल गुप्ता, गुलाबचंद समेत 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है।

ग्रामीण बोले- आजमगढ़ जिले से आई थी शराब

घटना के बाद एसपी आजमगढ़ सुधीर सिंह भी मौके पर पहुंचे। जांच में अंबेडकरनगर की घटना मिली। इसीलिए अंबेडकरनगर के जैतपुर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। हालांकि गांव वालों का कहना है कि शराब आजमगढ़ से लाई गई थी। इस घटना के बाद आबकारी विभाग और स्थानीय पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

ये स्थानीय सपा विधायक सुभाष् राय की फेसबुक पोस्ट है। जिसमें वह 16 लोगों की मौत का दावा कर रहे हैं।
ये स्थानीय सपा विधायक सुभाष् राय की फेसबुक पोस्ट है। जिसमें वह 16 लोगों की मौत का दावा कर रहे हैं।

जल्दबाजी में तीन शवों का अंतिम संस्कार भी कर दिया

बताया जा रहा है कि गांव का सोनू चौबे आजमगढ़ जिले की सीमा पर स्थित मित्तूपुर बाजार से देसी शराब लेकर आया था। रविवार को सोनू चौबे के अलावा बगल के गांव मखदूमपुर के रहने वाले राम शुभम चौहान, अमित चौहान, जैसराज, महेश ने भी शराब पी थी। शराब पीने के बाद सभी की हालत बिगड़ने लगी। जिसे देखकर ग्रामीणों ने जलालपुर के एक निजी अस्पताल में सभी को भर्ती कराया। वहां अमित चौहान की मौत हो गई, जबकि सोनू चौबे व सेवानिवृत्त सूचना अधिकारी राम शुभग चौहान ने अगले दिन दम तोड़ दिया। शराब पीने से हुई मौत की घटना को ग्रामीणों ने छिपाकर आनन-फानन में तीनों शवों का अंतिम संस्कार भी कर दिया। इन तीन के अलावा दो और लोगों की मौत हो गई।

सपा विधायक ही सबसे पहले प्रभावित गांवों में पहुंचे थे। उनकी सूचना के बाद ही पुलिस भी मौके पर पहुंची।
सपा विधायक ही सबसे पहले प्रभावित गांवों में पहुंचे थे। उनकी सूचना के बाद ही पुलिस भी मौके पर पहुंची।

तीन गंभीर पीड़ित जिला अस्पताल भेजे गए
शराब पीने से मखदूमपुर निवासी जैसराज व महेश की हालत गंभीर बताई जा रही है। दोनों को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। मृतक रामशुभग के घर से शराब की शीशियां मिली हैं। क्षेत्रीय विधायक की मानें तो शराब पीने से 16 मौतों के अलावा करीब इतने ही लोगों की हालत खराब है।

डीएम और एसपी ने घर-घर तलाशी शराब

जिले के डीएम सैमुवल पॉल एन और एसपी आलोक प्रियदर्शी ने शिवपालपुर और मखदूमपुर गांव के हर घर मे सर्च अभियान चलाकर शराब की तलाशी भी की है। ग्रामीणों से पूछताछ के बाद डीएम और एसपी आजमगढ़ जिले के पवई बाजार भी पहुंचे। जहां से जहरीली शराब लाई गई थी। जिसके बाद पुलिस ने शराब कांड के मुख्य आरोपी मोतीलाल सहित 4 अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। एसपी का कहना है कि आगे की कार्रवाई जांच के आधार पर की जाएगी।

खबरें और भी हैं...