पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मथुरा में पकड़ा गया बदमाश:एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में 50 हजार का इनामी अपराधी गोली लगने से घायल; अस्पताल में भर्ती कराया गया, कई मामलों में पुलिस को तलाश थी

मथुराएक महीने पहले
एसटीएफ को उस वक्त बड़ी कामयाबी हाथ लगी जब यहां के नौझील थाना क्षेत्र में मुठभेड़ के दौरान 50 हजार के इनामी रामू बावरिया को पकड़ लिया।
  • इनामी बदमाश और एक्सेल गैंग के मास्टरमाइंड रामू बावरिया को गिरफ्तार कर लिया
  • वह अपने साथियों के साथ मिलकर यमुना व पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर लूटपाट करता था

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में मंगलवार रात एसटीएफ को उस वक्त बड़ी कामयाबी हाथ लगी, जब यहां के नौझील थाना क्षेत्र में मुठभेड़ के दौरान 50 हजार का इनामी बदमाश और एक्सेल गैंग के मास्टरमाइंड रामू बावरिया को गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ में बदमाश के पैर में गोली लगी, जिसे उपचार के लिए उसको अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घायल बदमाश रामू, बबलू बावरिया गिरोह का सक्रिय सदस्य है। वह अपने साथियों के साथ मिलकर यमुना और पैरीफेरल एक्सप्रेसवे पर चारपहिया वाहनों के सामने एक्सेल मारकर लूटपाट व महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम देता था। बदमाश पर हरियाणा के पलवल और उत्तर प्रदेश के मथुरा, अलीगढ़ सहित कई अन्य जनपद में आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

लूटपाट और दुष्कर्म की कई वारदातों को दिया था अंजाम
एसएसपी एसटीएफ राजकुमार मिश्रा ने बताया कि मंगलवार रात को बदमाशों के बारे में जानकारी मिली थी। जिसके बाद यूपी एसटीफ की नोएडा यूनिट और नौझील थाना पुलिस की टीम ने घेराबंदी की। इसके बाद टीम की बावरिया गैंग से मुठभेड़ हो गई, जिसमें 50,000 रुपए के इनामिया वांछित अभियुक्त रामू पुत्र रामपाल निवासी बल्लभगढ़, फरीदाबाद गोली लगने से घायल हो गया।

रामू और उसके गैंग ने उत्तर प्रदेश के यमुना एक्सप्रेसवे, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पैरीफेरल और केएमपी रोड पर कई घटनाओं को अंजाम दिया था। रामू कुख्यात बबलू बावरिया गैंग का सक्रिय सदस्य है। बबलू एसटीफ की टीम से अलीगढ़ में मुठभेड़ में घायल हुआ था और उपचार के दौरान बबलू की मृत्यु हो गई थी। रामू हाइवे पर लूटपाट और महिलाओं से दुष्कर्म के कई मामले में वांछित था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें