पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Advertisement Printed On The Front Page Of English Newspaper, UP Was Shown Changing, Picture Of Calcutta Flyover With Yogi

विज्ञापन पर घिरी योगी सरकार:योगी के विज्ञापन में लगी कोलकाता के मां फ्लाईओवर की फोटो; आप का तंज- बंगाल से फ्लाईओवर उठाकर लाई UP सरकार

लखनऊ4 दिन पहले
विवाद बढ़ने पर अंग्रेजी अखबार ने गलती मानते हुए विज्ञापन को डिजिटल प्लेटफॉर्म से हटा दिया।

उत्तर प्रदेश सरकार का विज्ञापन एक बार फिर से विवादों के घेरे में है। इस बार अंग्रेजी अखबार 'इंडियन एक्सप्रेस' में प्रकाशित विज्ञापन को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। इसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ कोलकाता के मां फ्लाईओवर के विकास की तस्वीरें लगा दी गई हैं। पास ही जेडब्ल्यू मेरियट होटल भी दिखाई दे रहा है। सोशल मीडिया पर इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लोग ट्रोल कर रहे हैं।

इस विज्ञापन को लेकर तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस समेत कई विपक्ष के नेताओं ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी तस्वीर शेयर करते हुए कहा, 'ऐसा विकास न सुना होगा न देखा होगा। कलकत्ता का फ्लाईओवर खींचकर लखनऊ ले आए हमारे CM आदित्यनाथ जी। भले ही विज्ञापन में ले आए लेकिन लाए तो।'

तृणमूल का तंज- पार्टी बचाने के लिए लाचार हैं मोदी
टीएमसी के नेता मुकुल रॉय ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'श्री नरेंद्र मोदी अपनी पार्टी को बचाने के लिए इतने लाचार हैं कि सीएम बदलने के अलावा उन्हें विकास और बुनियादी ढांचे की तस्वीरों का भी सहारा लेना पड़ा है।'

समाजवादी पार्टी ने भी कसा तंज
समाजवादी पार्टी ने भी उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। लिखा, 'मुख्यमंत्री के झूठ की फिर खुल गई पोल! विज्ञापनों में जनता का पैसा पानी की तरह बहाने वालों के पास दिखाने के लिए अपना किया कोई काम नहीं, तो कोलकाता में हुए निर्माण की तस्वीर छाप कर जनता को कर रहे गुमराह, शर्मनाक! यह है झूठ बोलने में नंबर 1 भाजपा सरकार। जिसके "दिन है बचे चार"!'

इंडियन एक्सप्रेस ने मानी गलती, हटाई तस्वीर
इंडियन एक्सप्रेस में रविवार को प्रकाशित उत्तर प्रदेश सरकार के इस विज्ञापन में योगी आदित्यनाथ की बड़ी सी फोटो है। उनके साथ अलग-अलग इंडस्ट्री, ऊंची इमारतें और फ्लाईओवर की तस्वीर भी लगाई गई है। ये फ्लाईओवर की तस्वीर कोलकाता की है। इसी को लेकर हंगामा शुरू हो गया। विवाद बढ़ा तो इंडियन एक्सप्रेस ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करके खुद की गलती स्वीकार की। ये भी बताया कि विज्ञापन विभाग की गलती के चलते ऐसा हुआ है और अब इस विज्ञापन को डिजिटल प्लेटफार्म से हटा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...