पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अजान पर सियासत:अलीगढ़ भाजपा सांसद सतीश गौतम बोले- मंदिरों में नहीं बज रहे घंटे, मंस्जिदों में अजान के लिए लाउडस्पीकर का इस्तेमाल हो बंद

अलीगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद सतीश गौतम ने मस्जिदों में अजान के लिए इस्तेमाल होने वाले लॉउडस्पीकर के प्रयोग को बैन कराने की मांग को लेकर नए विवाद को तूल दिया है।
  • सांसद ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले का दिया हवाला
  • पूर्व विधायक जमीर उल्लाह ने सांसद को बयान को बताया घटिया

विवादित बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वाले अलीगढ़ से भाजपा सांसद सतीश गौतम ने सोमवार को कहा- लॉकडाउन के चलते जब मंदिरों के घंटे नहीं बज रहे तो मस्जिदों से लॉउडस्पीकर से अजान भी नहीं होनी चाहिए। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी तो लाउडस्पीकर से अजान को अवैध माना है। सांसद ने सोमवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर लॉउडस्पीकर बंद कराने की मांग की। इसके बाद अब इस मामले में सियासत भी शुरू हो गई है। पूर्व विधायक जमीउल्लाह ने सांसद के बयान की निंदा की है।

सांसद बोले- सुबह से बजने लगते हैं लाउडस्पीकर, ये बंद हो

सांसद सतीश गौतम ने कहा- सुबह 4 बजे आस पड़ोस की मस्जिदों से लॉउडस्पीकर से अजान होती है। यह नहीं बजना चाहिए। यही हाल पूरे शहर का है। मेरे पड़ोस में बजता है। मेरा कहने का मतलब है कि यह नहीं बजना चाहिए। क्योंकि इलाहाबाद हाईकोर्ट का आदेश है कि, लॉउडस्पीकर पर अजान नहीं होनी चाहिए। जब मंदिरों के घंटे नहीं बज रहे तो ये भी नहीं बजना चाहिए। प्रशासन कानून का पालन कराए।

पूर्व विधायक बोले- सांसद को घटिया बात करने की आदत

पूर्व विधायक जमीर उल्लाह ने कहा- सांसद को अभी कुछ मालूम नहीं है। झूठ बोलने की उनको आदत है। वह झूठी पार्टी के लोग हैं और वह हमेशा झूठ बोलते आए हैं। जज साहब ने स्पष्ट कहा है कि अजान को कोई रोक नहीं सकता। इस्लाम का एक हिस्सा है अजान। कोई नहीं रोकेगा इसको। यह प्रदूषण बोर्ड का मामला है। सांसद को खाली घटिया बात करने की आदत है। इस दौर में जब दुनिया कोरोना से लड़ रही है तो यह मुसलमानों से लड़ रहे हैं। अजान की पाबंदी कहीं नहीं है। पूजा भी होनी चाहिए। आज महिलाएं रोती हुई सड़कों पर घूम रही हैं, इनको इस बात की फिक्र नहीं है। इनको अजान की फिक्र है। 

हाईकोर्ट ने दिया था ये आदेश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शुक्रवार को मस्जिदों में अजान देने के प्रकरण में बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने कहा- मस्जिदों में अजान से कोविड-19 की गाइडलाइन का नहीं उल्लंघन नहीं होता है। लेकिन, लाउडस्पीकर से अजान इस्लाम का हिस्सा नहीं है। किसी भी मस्जिद से लाउडस्पीकर से अजान दूसरे लोगों के अधिकारों में हस्तक्षेप करना है। कोर्ट ने कहा- जिन मस्जिदों के पास लाउडस्पीकर की अनुमति है, वही इसका इस्तेमाल करें। बिना प्रशासन की अनुमति के लाउडस्पीकर से अजान न दें।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें