पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भारत-चीन टकराव का असर:कारोबारियों ने चीनी रिश्ते पर लगाया 'अलीगढ़ का ताला'; बोले- 100 करोड़ का था कारोबार, अब स्वदेशी अपनाएंगे

अलीगढ़2 महीने पहले
अलीगढ़ के ताले पूरे देश में मशहूर हैं। लेकिन इस उद्योग भी चीन ने अपनी जड़ें जमा ली थीं। लेकिन चीन से तनाव के बाद अब कारोबारी कोई व्यापारिक रिश्ता नहीं रखना चाहते हैं। पूर्व में किए गए ऑर्डर भी रद्द कर दिए गए हैं।
  • लॉक एंड हार्डवेयर निर्माता एसोसिएशन अध्यक्ष ने कहा- भले ही हमें नुकसान हो मगर चीन से अब रिश्ते नहीं रखना चाहते
  • 15 जून को गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए थे 20 भारतीय जवान, चीन के भी 40 मारे गए मगर उसने कबूला नहीं
  • इसके बाद से देश में चीन के सामानों के बहिष्कार की लहर, देशभर में जलाए गए चाइनीज सामान

15 जून को लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। चीन के भी 40 सैनिक मारे जाने की रिपोर्ट है, लेकिन उसने यह कबूला नहीं है। चीन ने सिर्फ इतना कहा कि उसका एक कमांडिंग ऑफिसर मारा गया। इसके बाद दोनों देशों के बीच तल्खी बढ़ गई है। चाइनीज सामानों के बहिष्कार की पूरे देश में लहर चल पड़ी है। अलीगढ़ के हार्डवेयर व्यापारियों ने चीन के सामान का बहिष्कार करने कर निर्णय लिया है। अब यहां के व्यापारी प्रधानमंत्री मोदी के आत्मनिर्भर व स्वदेशी फार्मूले से प्रेरणा लेकर आगे क्वालिटीयुक्त सस्ते प्रोडक्ट बनाने की तैयारियों में जुट गए हैं। 

चीन से हर साल 100 करोड़ का कारोबार

लॉक एंड हार्डवेयर निर्माता एसोसिएशन के अध्यक्ष पवन खंडेलवाल का कहना है कि, चीन से अलीगढ़ के व्यापारी ड्रॉर चैनल्स, ऑटो हिंजेज, पिन सिलेंडर, ट्यूबलर लॉक सहित कई अन्य तरह के हार्डवेयर सामान इम्पोर्ट कर देश में एक्सपोर्ट करते आ रहे हैं। लेकिन अब भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के चलते फिलहाल व्यापार की रफ्तार थम गई है। अलीगढ़ में चीन से सालाना लगभग 100 करोड़ रुपए का व्यापार किया जाता है। लेकिन जिस तरह से चीन से तनाव बढ़ा है, उससे अलीगढ़ के कारोबार पर बड़ा असर पड़ा है। 20 जवानों के शहीद होने के बाद ज्यादातर कारोबारी चीन के सामान का बहिष्कार करने के लिए आगे आ रहे हैं। 

एक सुर में बोले व्यापारी, अब हम नहीं रखना चाहते रिश्ते

हार्डवेयर कारोबार शोभित अग्रवाल और यश पाराशर का कहना है- "अब हम लोग चीन के साथ व्यापारिक रिश्ते नहीं रखना चाहते हैं। क्योंकि जिस तरह से चीन के द्वारा गलत तरह से गलवान घाटी पर हमारे जवानों पर कायरतापूर्ण हमला किया गया, वह निंदनीय है। इसको देखते हुए और देश के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर और स्वदेशी के फार्मूले से प्रेरणा लेकर आगे क्वालिटी और सस्ते प्रोडक्ट बनाने की तैयारियों जुटे हैं।"

कारोबारियों ने आर्डर कैंसिल किया

पवन ने बताया- "अलीगढ़ में लगभग 20 बड़े व्यापारी ऐसे हैं, जो चीन से व्यापार करते हैं। हमारे द्वारा चीन से जो माल का ऑर्डर दिया गया था, उसे कैंसिल कर दिया गया है। अब हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फार्मूले आत्मनिर्भर और स्वदेशी को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगे। जिससे हमारा देश आर्थिक तौर पर और मजबूत होगा।"

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें