• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • ATS Along With Punjab Police Arrested Suspected Khalistani Terrorist, Recovered Bhindranwala's Poster And Other Material From Aropi

मेरठ:एटीएस ने पंजाब पुलिस के साथ मिलकर संदिग्ध खालिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार किया, अरोपी के पास से भिंडरवाला के पोस्टर व अन्य सामग्री बरामद

मेरठएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मेरठ में एटीएस और पंजाब पुलिस की मदद से एक संदिग्ध खालिस्तानी आतंकवादी को पकड़ा गया है। पंजाब पुलिस उससे पूछताछ करने के लिए ले गई है। - Dainik Bhaskar
मेरठ में एटीएस और पंजाब पुलिस की मदद से एक संदिग्ध खालिस्तानी आतंकवादी को पकड़ा गया है। पंजाब पुलिस उससे पूछताछ करने के लिए ले गई है।
  • आतंकी तीरथ सिंह को गिरफ्तार करने के बाद एटीएस और पंजाब पुलिस पूछताछ के लिए उसे अपने साथ ले गई
  • आरोप है कि यह व्यक्ति सोशल मीडिया के माध्यम से खालिस्तान मूवमेंट से जुड़ा हुआ था, इसपर पुलिस की नजर थी

उत्तर प्रदेश के आंतकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस)  और पंजाब पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में मेरठ से एक खालिस्तानी मूवमेंट से जुड़े संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है। ​गिरफ्तार किये गए आरोपी का नाम तीरथ सिंह है, वह शहर के थापरनगर इलाके में रहता है। गिरफ्तार आतंकी के पास से भिंडरवाला के पोस्टर और  कुछ अन्य संदिग्ध सामग्री भी मिली है। यह व्यक्ति सोशल मीडिया के माध्यम से खालिस्तान मूवमेंट से जुड़ा हुआ था। बताया जा रहा है कि इस आरोपी की पंजाब पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी।

पुलिस के अनुसार तीरथ सिंह मूलरूप से ​हस्तिनापुर के किशनपुरा गांव का रहने वाला है। वह यहां थापरनगर में रह रहा था। बताया जा रहा है ​कि तीरथ सिंह पिछले करीब चार साल से खालिस्तान समर्थक आतंकी संगठन से जुड़ा हुआ था। इस समय वह सोशल मीडिया पर सक्रिय रहकर खालिस्तान मुहिम को आगे बढ़ा रहा था।

मेरठ में चार साल से आटोमोबाइल दुकान में काम कर रहा था

पुलिस की मानें तो तीरथ सिंह आठवीं पास है। वह यहां आटोमोबाइल की शॉप में चार साल से नौकरी कर रहा था। उसके ​पिता रिक्शा चलाते हैं। पांच भाई बहनों में तीरथ सबसे बड़ा है। बताया जा रहा है कि तीरथ ​सिंह खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट का सक्रिय सदस्य है और वह ब्रिटेन निवासी गुरूशरण बीर सिंह के मैसेंजर से जुड़ा था। पंजाब पुलिस के रडार पर आने के बाद उसके खिलाफ मोहाली में केस दर्ज कराया गया था। तीरथ सिंह को गिरफ्तार करने के बाद एटीएस और पंजाब पुलिस पूछताछ के लिए उसे अपने साथ ले गई।