पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • BHU Professor Claims, Banaras Lifestyle Is Effective In Fighting Corona, Due To These 5 Reasons, Mantel Label Is Getting Stronger

वाराणसी:कोरोना से लड़ने में कारगर है बनारसियों का लाइफ स्टाइल, इन 5 वजहों के कारण मेंटल लेवल को मिल रही मजबूती

वाराणसी4 महीने पहले
डॉ वी एन मिश्रा ने दावा किया कि बनारसियों का इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होने के साथ मेंटल लेबल भी काफी मजबूत है, जिससे कोविड-19 का ज्यादा असर नहीं पड़ेगा।
  • बनारस में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 127 तक पहुंच गई है, अब तक 4 की मौत
  • शहर में 21 मार्च को पहला मामला सामने आया था, 62 दिनों में आंकड़ा यहां तक पहुंचा

उत्तर प्रदेश के वाराणासी में कोरोनावायरस को लेकर तमाम रिसर्च और विश्व में होने वाले बदलाव को लेकर रोज चर्चाएं हो रही हैं। ऐसे में बीएचयू के पूर्व एमएस और सीनियर न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. वीएन मिश्रा ने दावा किया है कि बनारसियों का लाईफ स्टाइल महामारी से लोगों को बचाए हुए है। स्वास्थ मंत्रालय और आयुष मंत्रालय लगातार इम्युनिटी सिस्टम ठीक रखने की बात कह रहा है। डॉ वी एन मिश्रा ने दावा किया कि बनारसियों का इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होने के साथ मेंटल लेवल भी काफी मजबूत है, जिससे कोविड-19 का ज्यादा असर नहीं पड़ेगा।

बनारस के घाटों पर सुबह और शाम टहलने के लिए भी लोग आते हैं। इसके लिए वॉकघाट भी बनाया गया है। जहां लोग गंगा की लहरों के बीच मानसिक सुख का आनंद लेने पहुंचते हैं।
बनारस के घाटों पर सुबह और शाम टहलने के लिए भी लोग आते हैं। इसके लिए वॉकघाट भी बनाया गया है। जहां लोग गंगा की लहरों के बीच मानसिक सुख का आनंद लेने पहुंचते हैं।

ये प्रमुख 5 प्रमुख बातें जो बनारसियों की लाइफ स्टाइल में शामिल हैं

  • 7 किमी लंबे गंगा घाट से हर बनारसी जुड़ा है। लोगों से बातचीत में यह बात सामने आई है कि 7 दिनों में एक से दो दिन लोग घाटों के भ्रमण पर जरूर निकलते है। गंगा उस पार लोग रेत पर ही टहलने घूमने निकल जाते है। घाटों की सीढ़ियों पर अप-डाउन की वजह से एक्ससाइज होता है। कई किमी पैदल चल देने से पता भी नहीं चलता। ये अन्य शहरों में नहीं होता।
  • गलियों का शहर काशी। सैकड़ो किलोमीटर में फैली काशी की गलियों में लाखों की आबादी निवास करती है।गलियों में बसे 90 प्रतिशत से ज्यादे लोग फोर विलर गाड़ियों का इस्तेमाल कम करते है। ये लोग गलियों में पैदल चलना ज्यादे पसंद करते है। इस वजह से रोग प्रतिरोधक क्षमता ज्यादा होती है। गलियों में तफरी करते हुए वॉक कर लेते है।
  • काशी का खान पान-यहां की लस्सी, रबड़ी, ठंडई, दूध, कचौरी सब्जी जलेबी तमाम इलाकों में देशी व्यंजनों की भरमार है। व्यस्त जीवन मे भी 70 प्रतिशत तक लोग नाश्ता 10 बजे तक कर लेते हैं। कचौरी सब्जी जलेबी का सुबह सेवन तो दोपहर को लस्सी, शाम को मीठी दूध जैसे व्यंजन ही लोग पसंद करते है।
  • चाय-पान की दुकानों पर लगने वाली अड़ी (मजमे) की वजह से लोग स्ट्रेस से दूर होते है। (पप्पू चाय की दुकान, लक्ष्मी टी स्टाल) काशी की अड़ीबाजी का अड्डा है। इनमें ठंडई, लस्सी की दुकानें भी शामिल है।अखाड़ों में वर्जिश से स्वस्थ रहते है। वहीं हजारों लोग घाट वाक को जिंदगी को स्वस्थ रखने का सबसे बड़ा माध्यम मानते हैं।
  • काशी की पूरी आबादी गंगा पर निर्भर है। हर जाति के लोगों का लगाव गंगा से है। हर काशीवासी गंगा किनारे घूमने जरूर आता है। मेंटल स्ट्रेस होने पर लोग अक्सर अस्सी, दशाश्मेध, राणामहल, मणिकर्णिका, राजघाट, हरिश्चन्द्र, केदारघाट समेत अन्य घाटों पर जाकर बैठते हैं। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता, इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होता है।
  • वाराणसी में गंगा में स्नान करने के बाद सुबह लोग जल लेकर भोलेनाथ के मंदिर में जलाभिषेक के लिए जाते हुए। आम दिनों में यहां पैर रखने की जगह नहीं होती है लेकिन इस समय सीमित लोग ही यहां आ रहे हैं।
लॉकडाउन के दौरान बनारस की गलियां भी सूनी हो गई है। गोदौलिया की गलियों में ऐसा ही सन्नाटा दिखायी दे रहा है।
लॉकडाउन के दौरान बनारस की गलियां भी सूनी हो गई है। गोदौलिया की गलियों में ऐसा ही सन्नाटा दिखायी दे रहा है।

काशी में कोरोना की स्थिति

वाराणसी में 21 मार्च को पहला केस सामने आया था। लॉकडाउन के पहले फेज में केवल 9 केस थे, जबकि दूसरे फेज में 55 मरीज सामने आए थे। इसमें दवा व्यवसाई की गलती से 14 लोग संक्रमित हुए थे। लाॅकडाउन के तीसरे फेज में आंकड़ा 96 तक पहुंचा तो लॉकडाउन फेज चार में 28 प्रवासियों के साथ आंकड़ा 127 तक पहुंच गया।

लॉकडाउन के दौरान घाटों का नजारा। आम दिनों में तो लोग यहां भारी संख्या में आते हैं लेकिन इस समय सन्नाटे जैसी स्थिति है।
लॉकडाउन के दौरान घाटों का नजारा। आम दिनों में तो लोग यहां भारी संख्या में आते हैं लेकिन इस समय सन्नाटे जैसी स्थिति है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें