पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैद से नहीं रिहाई से डर लगता है:UP की 9 जेलों के 21 कैदियों ने पेरोल लेने से किया इंकार; बोले- साहब, बाहर से ज्यादा जेल सुरक्षित है

लखनऊ14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कोरोना से बचाव के लिए पेरोल पर मिल रही रिहाई लेने से उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद 21 कैदियों ने इंकार कर दिया। इन कैदियों ने कहा- साहब बाहर जाकर क्या करेंगे जेल में ज्यादा सुरक्षित हैं?

डीजी जेल आनंद कुमार के मुताबिक, कोर्ट ने कोविड से बचाव के लिए कैदियों और बंदियों को अतंरिम जमानत, पेरोल पर रिहा करने का आदेश दिया है। सभी 71 जेलों से अब तक 2152 बंदियों को रिहा किया जा चुका है। कोर्ट से जैसे जैसे जमानत मंजूर हो रही कैदियो की रिहाई की प्रक्रिया आगे बढ़ाई जा रही है। लेकिन 9 जेलों के 21 कैदियो ने यह पेरोल लेने से मना कर दिया। डीजी का कहना है कि यह कैदी जेल के भीतर खुद को ज्यादा सुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

इन जेलों के 21 कैदियों को नहीं चाहिए आजादी

जिलाकैदियों की संख्या
झांसी1
मेरठ1
महाराजगंज2
जिला जेल आगरा1
गाजियाबाद4
रायबरेली2
नोएडा1
गोरखपुर2
जिला जेल लखनऊ7

योगीराज से खौफ खा रहे अपराधी?
जेल सूत्रों का कहना है पेरोल लेने से इनकार करने वाले सभी कैदी सजायाफ्ता हैं। प्रदेश सरकार जिस तरह अपराधियों के खिलाफ अभियान चला रही उससे यह कैदी बेहद खौफजदा हैं। इनमें से ज्यादातर की सजा एक साल के भीतर ही पूरी होने वाली है। अब वह सजा पूरी होने से पहले जेल से बाहर निकलकर पुलिस का जोखिम मोल नही लेना चाहते हैं।

वहीं, कुछ मामलों में इन कैदियों की निजी दुश्मनी भी एक वजह है। जेल से बाहर निकलने पर इन कैदियों को उसका भी खतरा है।

खबरें और भी हैं...