पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • DRDO Gets Ready In 16 Days, Virtual Inauguration Of Temporary Kovid Hospital Being Built At BHU With 48 hour Dry Run

बनारस में कोरोना मरीज होंगे सेना के हवाले:48 घंटे के ड्राई रन के बाद PM मोदी करेंगे 750 बेड के DRDO अस्पताल का वर्चुअली उद्घाटन, मरीजों को मिलेगी 250 बेड ICU की भी सुविधा

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में डीआरडीओ ने 750 बेड क� - Dainik Bhaskar
वाराणसी में डीआरडीओ ने 750 बेड क�

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोरोना की स्थिति लगातार खराब होती जा रही है। यहां कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिससे अस्पतालों पर भी दबाव बढ़ गया है। इसे देखते हुए डीआरडीओ ने बीएचयू में 750 बेड के अस्थायी कोविड अस्पताल का निर्माण किया है। इस अस्पताल का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 मई के बाद वर्चुअल समारोह में करेंगे। समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे। इसके बाद 750 बेड के अस्थायी अस्पताल में मरीजों का उपचार शुरू हो जाएगा।

जानकारी के अनुसार, बीएचयू के एंफीथिएटर मैदान पर डीआरडीओ ने कड़ी मेहनत से 16 दिन में 750 बेड का अस्थायी कोविड अस्पताल तैयार किया है। शनिवार को इस अस्पताल में ड्राई रन की प्रकिया शुरू होगी जो अगले 48 घंटे तक चलेगी। इस दौरान सभी उपकरणों की जांच की जाएगी। 750 बेड वाला यह अस्थायी कोविड अस्पताल अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाओं से लैस है।

500 बेड पर आक्सीजन की सुविधा उपलब्ध

बीएचयू के एंफीथिएटर स्टेडियम में बने इस अस्पताल में 250 बेड आईसीयू के हैं। इसके अलावा 500 बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है। सेना के साथ ही बीएचयू के डॉक्टर इस अस्पताल में मरीजों का इलाज करेंगे। इसके साथ ही नर्स और टेक्नीशियन की तैनाती के लिए स्थानीय स्तर पर इंटरव्यू लिए गए हैं। जल्द ही इनकी नियुक्ति की प्रकिया भी पूरी कर ली जाएगी।

अस्थायी कोविड अस्पताल के बारे में जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने बताया कि यहां अन्य अस्पतालों के रेफरल केस और गंभीर किस्म के मरीजों को भर्ती किया जाएगा। सीधे मरीजों को एडमिट नहीं किया जाएगा। अगर बेड खाली रहते हैं तो बाद में मरीजों को सीधे एडमिट भी किया जा सकता है। सपास के जिलों से रेफर मरीज भी यहां एडमिट किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि तीन जोन में बनाए जा रहे 750 बेड के इस अस्पताल में 250 बेड का एक जोन होगा। इसमें वेंटिलेटर से लेकर सभी जीवनरक्षक इंतजाम होंगे। अन्य दो जोन में ऑक्सीजन के बेड हैं। उन पर भी एचएफएनसी और बाईपेप का इंतजाम इमरजेंसी के लिए रहेगा और यह भी 50-50 की संख्या में मोबाइल के तौर पर रहेगा।