अखिलेश से हाथ मिलाएंगे शिवपाल ?:74वें स्वतंत्रता दिवस पर शिवपाल यादव ने दी लोगों को बधाई, कहा- समाजवादियों को एक करने के लिए कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार

इटावाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा है कि वह समाजवादियों को एकजुट करने के लिए वह कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार हैं। उनके इस बयान से ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या आगामी विधानसभा चुनाव से पहले वह सपा में शामिल होंगे। - Dainik Bhaskar
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा है कि वह समाजवादियों को एकजुट करने के लिए वह कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार हैं। उनके इस बयान से ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या आगामी विधानसभा चुनाव से पहले वह सपा में शामिल होंगे।
  • शिवपाल ने कहा कि अगले विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादियों को एक होना होगा
  • कहा- वर्तमान सरकार जनता का शोषध हो रहा है उसके खिलाफ हमें लड़ाई लड़नी है

उत्तर प्रदेश में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रमुख शिवपाल सिंह ने 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर कहा कि इशारों ही इशारों में कहा कि समाजवादियों को एक करने के लिए मैं कुछ भी कुर्बानी देने के लिए तैयार हूं। मैं केवल इतना चाहता हूं कि समाजवादी एक हो जाएं। हालांकि इस दौरान उन्होंने पूर्व सीएम अखिलेश यादव का नाम नहीं लिया।

एक कार्यक्रम के दौरान शिवपाल ने कहा- मैंने 2022 की लड़ाई के लिए सब कुछ त्याग करने के लिए कह दिया है, मैं चाहता हूं कि सारे समाजवादी फिर से एक हो जाएं।" लेकिन अगर ऐसा न हुआ तो जो जनता फ़ैसला लेगी में उसका सम्मान करुंगा।

74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह जिले के शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि देने आए थे। यहां शिवपाल सिंह ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की और सभी देशवासियों को बधाई दी। शिवपाल सिंह ने सभी शहीदों को नमन करते हुऐ बताया कि आजादी की लड़ाई में सभी समाजवादियों खासतौर पर डॉक्टर राम मनोहर लोहिया का प्रमुख योगदान रहा है वही आज प्रदेश में योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अभी जो शोषण जनता का हो रहा है उसके खिलाफ हमें लड़ाई लड़नी है।

सभी समाजवादी एक हो जाएं
वहीं 2022 के विधान सभा चुनाव को लेकर शिवपाल सिंह ने कहा कि हम चाहते है कि सभी समाजवादी एक हो जाये और उसके लिए हमने सब कुछ त्याग करने की कह दिया है, फिर भी अगर ऐसा नहीं हुआ तो जो जनता कहेगी हम वैसा करेंगे।