• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Fire Broke Out After Explosion In Firecracker Factory In Saharanpur, Many People Died, Bones Were Scattered, UP Today News Updates In Hindi

पटाखा फैक्ट्री धमाके में अब तक 5 की मौत:पॉलिथिन में इकट्‌ठा किए शव के टुकड़े; हालत ऐसी कि पहचानना मुश्किल, DNA से होगी शिनाख्त

सहारनपुर5 महीने पहले

सहारनपुर में शनिवार शाम पटाखा फैक्ट्री में हुए धमाके में अब तक 5 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। रात भर शवों के टुकड़ों की तलाश चली। हालात इतने वीभत्स हैं कि टुकड़ों से उनकी शिनाख्त कर पाना मुश्किल लग रहा है। धमाके वाली जगह के एक किमी. के दायरे में रात भर पुलिस ने शवों के टुकड़े पॉलिथिन में इकट्‌ठा किए। अब DNA टेस्ट कराकर शवों की शिनाख्त की जाएगी।

बता दें कि शनिवार शाम पटाखा फैक्ट्री में धमाका हुआ। रात करीब 12 बजे तक 4 लोगों के शव मिलने की पुष्टि हुई। इसके बाद रात दो बजे एक और शव के टुकड़े मिले। फैक्ट्री में बारूद में एक-एक कर कई ब्लास्ट होने से आग ने तांडव मचाया था। इस दर्दनाक हादसे में फैक्ट्री मालिक राहुल समेत 5 लोगों की मौत हो गई। धमाका इतना तेज था कि इसकी आवाज करीब 5 किलोमीटर दूर तक सुनाई दी। रातभर पुलिस शवों के टुकड़े ढूंढती रही। अभी एक-दो लोग लापता बताए जा रहे हैं।

5 लोगों के शवों के टुकड़े मिले
धमाकों की वजह से 5 शवों के टुकड़े 500 मीटर दूर तक बिखरे मिले। एक मजदूर की रीढ़ की हड्‌डी पुलिस को आधा किमी दूर खेत में मिली। पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। 6 से ज्यादा घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। एक-दो मजदूर लापता बताए जा रहे हैं। सुबह 4 बजे तक पुलिस ने शवों का पोस्टमॉर्टम कराया।

धमाके के बाद लोगों के शव टुकड़ों में बिखर कर दूर खेतों में पड़े थे। पुलिस ने रातभर टुकड़ों को इकट्‌ठा करने के लिए सर्चिंग की।
धमाके के बाद लोगों के शव टुकड़ों में बिखर कर दूर खेतों में पड़े थे। पुलिस ने रातभर टुकड़ों को इकट्‌ठा करने के लिए सर्चिंग की।

पुलिस का कहना है कि पटाखा फैक्ट्री मालिक राहुल समेत बलवंतपुर के सागर, सलेमपुर के वर्धन की शिनाख्त हुई है। दो शवों के टुकड़े मिले हैं, जिनके सिर नहीं मिले हैं। पुलिस का दावा है कि ये टुकड़े बलवंतपुर के कार्तिक, सलेमपुर के सुमित के हैं। अब इन टुकड़ों का DNA टेस्ट कराया जाएगा।

चार लोगों का सुबह 5 बजे अंतिम संस्कार
पटाखा फैक्ट्री मालिक राहुल समेत सागर, कार्तिक, सुमित के शवों का अंतिम संस्कार सुबह 5 बजे किया गया। वहीं, वर्धन के शव का अंतिम संस्कार सुबह लगभग 10 बजे हुआ। गांव में मातम का माहौल है। पुलिस फोर्स और LIU मौके पर मौजूद है।

शव काफी क्षत-विक्षत होने के कारण आनन-फानन में अंतिम संस्कार किया गया।
शव काफी क्षत-विक्षत होने के कारण आनन-फानन में अंतिम संस्कार किया गया।

हादसे की जांच ATS और LIU करेगी
सरसावा के बलवंतपुर गांव में पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट के कारण पास में खड़ी कार भी क्षतिग्रस्त हो गई। टीवी करीब 500 मीटर दूर खेत में पड़ी मिली। पटाखा फैक्ट्री का लाइसेंस किरण फायर वर्क्स के नाम से था। पटाखा फैक्ट्री का लाइसेंस 15 किलो का था, लेकिन इतना बड़ा हादसा दिखा रहा कि फैक्ट्री में काफी मात्रा में विस्फोटक रखे गए थे। अब मामले की जांच ATS और LIU करेगी।

खेत में चल रही थी फैक्ट्री
ये फैक्ट्री अंबाला रोड पर सरसावा और सुराणा के बीच स्थित है। फैक्ट्री खेत में बनी थी। शनिवार को रोजाना की तरह करीब 10 कर्मचारी यहां काम कर रहे थे। अचानक फैक्ट्री के एक कोने में आग लग गई। इससे पहले कि मजदूर उसको बुझा पाते। आग बारुद तक पहुंच गई। तेज धमाकों के साथ आग फैल गई। इससे मजदूरों को बाहर भागने का मौका तक नहीं मिला।

आग के गुबार 3 किमी दूर तक देखे गए। सूचना पर फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची, लेकिन आग इतनी भीषण थी कि रेस्क्यू ठीक से नहीं हो सका।

वर्धन के परिजनों में कोहराम मचा है। बुआ ममता रोती हुई बोलीं कि मैंने पहले ही कहा था कि फैक्ट्री में मौत है। बेटे को काम पर मत भेजो। मकान बेचने के लिए भी कहा था। वर्धन का शव पूरा नहीं मिला तो उसके सिर का ही अंतिम संस्कार किया गया है।
वर्धन के परिजनों में कोहराम मचा है। बुआ ममता रोती हुई बोलीं कि मैंने पहले ही कहा था कि फैक्ट्री में मौत है। बेटे को काम पर मत भेजो। मकान बेचने के लिए भी कहा था। वर्धन का शव पूरा नहीं मिला तो उसके सिर का ही अंतिम संस्कार किया गया है।

जांच के बाद पता चलेगा कि आग कैसे लगी
बचाव कार्य के बीच अंधेरा होने से जनरेटर मंगवाया गया। आग लगने के सटीक कारणों के बारे में जांच के बाद ही पता चल सकेगा। इसलिए सभी पहलुओं की जांच हो रही है। SSP आकाश तोमर के मुताबिक मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। नुकसान का भी आकलन किया जा रहा है।

DM अखिलेश सिंह ने CMO डॉ. संजीव मांगलिक से बात की। ताकि घायलों को बेहतर इलाज मिल सके। कुछ घायलों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। गंभीर हालत वाले कर्मचारियों को हायर सेंटर रेफर किया गया।

यह भयानक नजारा उस समय का है, जब धमाके के बाद सब कुछ बिखर गया था।
यह भयानक नजारा उस समय का है, जब धमाके के बाद सब कुछ बिखर गया था।

CM योगी ने जताया दुख
CM योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताया है। CM ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। योगी ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को घायलों का सही इलाज कराने के निर्देश दिए हैं।

फायर ब्रिगेड और पुलिस की टीम ने करीब तीन घंटे में आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक सब कुछ जल चुका था।
फायर ब्रिगेड और पुलिस की टीम ने करीब तीन घंटे में आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक सब कुछ जल चुका था।
खबरें और भी हैं...