पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रख्यात शिक्षाविद और कुशल प्रशासक का अवसान:BHU के पूर्व कुलपति प्रो. सिम्हाद्री का कोरोना की वजह से निधन, पोस्ट कोविड निमोनिया से थे पीड़ित

वाराणसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रख्यात शिक्षाविद और कुशल प्� - Dainik Bhaskar
प्रख्यात शिक्षाविद और कुशल प्�

वाराणसी स्थित काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के पूर्व कुलपति और प्रख्यात समाजशास्त्री प्रो. वाईसी सिम्हाद्री का शनिवार को विशाखापट्टनम स्थित एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। 79 वर्षीय प्रो. सिम्हाद्री पोस्ट कोविड-19 निमोनिया से संक्रमित थे। उनके निधन की सूचना lसे शोक की लहर पैदा हो गई। BHU के मानस पुत्रों ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।

BHU के अलावा तीन अन्य विश्वविद्यालय के कुलपति भी रहे प्रो. सिम्हाद्री

आंध्रप्रदेश यूनिवर्सिटी में समाजशास्त्र के प्रोफेसर के तौर पर अपने शैक्षणिक कैरियर की शुरुआत करने वाले प्रो. सिम्हाद्री ने काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) के 21वें कुलपति के तौर पर 31 अगस्त 1998 से 20 फरवरी, 2002 तक अपनी सेवा दी थी।

प्रो. सिम्हाद्री एक प्रख्यात शिक्षाविद और कुशल प्रशासक के तौर पर जाने जाते थे। वह पटना विश्वविद्यालय, आंध्रा विश्वविद्यालय और आचार्य नागार्जुन विश्वविद्यालय के कुलपति भी रहे। इसके अलावा उन्होंने कई अन्य उच्च शिक्षण संस्थानों का भी नेतृत्व किया था। इसके अलावा वह कई यूनिवर्सिटी के विजिटिंग प्रोफेसर रहे। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ, यूनेस्को और यूनाइटेड नेशन्स यूनिवर्सिटी के साथ भी काम किया था।

कुशल नेतृत्व के लिए BHU परिवार सदैव याद रखेगा

BHU के प्रभारी कुलपति प्रो. वीके शुक्ला ने कहा कि बतौर कुलपति प्रो. सिम्हाद्री को उनके कुशल नेतृत्व और कार्यकुशलता के लिए हम सभी सदैव याद करेंगे। एक संस्थान के रूप में विश्वविद्यालय के विकास और विश्वविद्यालय परिवार के कल्याण के लिए एक अभिभावक के तौर पर प्रो. सिम्हाद्री के योगदान को उनके समय में BHU से जुड़ा रहा हर एक सदस्य सदैव याद रखेगा।

विश्वविद्यालय परिवार प्रो. सिम्हाद्री के निधन से गहरे दुख में है। प्रो. सिम्हाद्री के शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए हम सभी यह कामना करते हैं कि संकट की इस घड़ी में परमपिता उन्हें शक्ति दें।

खबरें और भी हैं...