पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Greed Of Son And Daughter in law Makes The Relationship Of Blood Embarrassing, Both Absconding With Retired IAS Father's Rs 24 Lakh

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पिता की कमाई पर बेटे ने हाथ साफ किया:बेटे और बहू की लालच ने खून के रिश्ते को किया शर्मसार, रिटायर्ड IAS पिता के 24 लाख रुपए लेकर दोनों हुए फरार

लखनऊ4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इंस्पेक्टर ने बताया कि मदन पाल ने बेटे और बहू पर चोरी का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। - Dainik Bhaskar
इंस्पेक्टर ने बताया कि मदन पाल ने बेटे और बहू पर चोरी का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है।
  • गोमती नगर विस्तार थाने में बेटियों बहू के खिलाफ पिता ने दर्ज कराया चोरी का मुकदमा

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बेटे और बहू की लालच ने खून के रिश्ते को भी शर्मसार कर दिया। कोरोना महामारी के प्रकोप के बीच बुजुर्ग पिता (रिटायर्ड IAS) ने रहने के लिए घर और खाने के लिए भोजन, पहनने के लिए कपड़े दिए उसके बेटे ने ही पत्नी संग मिलकर उसे एक-एक पैसे के लिए मोहताज कर दिया।

इंस्पेक्टर ने बताया कि मदन पाल ने बेटे और बहू पर चोरी का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। मामले की जांच की जा रही है। आरोपी रजत से भी बात की गई है उन्होंने दो-तीन दिन में दिल्ली से आने के लिए कहा है।

जानकारी के अनुसार, कोरोना काल में लाकडाउन के दौरान बेटे की आर्थिक स्थित खराब हो गई तो उसे वृद्ध पिता (रिटायर्ड IAS) ने संभाला। बेटा अपनी पत्नी संग आकर दिल्ली से उनके साथ रहने लगा। इसी दौरान बेटे और बहू ने मौका पाते ही उनकी अलमारी में रखी करीब 24 लाख रुपए की नकदी और लाखों के जेवर उड़ा दिए. इसके बाद दोनों दिल्ली चले गए।

इंस्पेक्टर गोमतीनगर विस्तार पवन कुमार पटेल ने बताया कि रिटायर्ड IAS मदन पाल शारदा अपार्टमेंट में रहते हैं। उनका बेटा रजत और बहू बरखा दिल्ली में रहते थे। बेटे और बहू से उनकी अनबन भी थी। बेटा बीते फरवरी माह में उनके पास आया और बोला कि कोरोना काल और लॉकडाउन के दौरान उसकी आर्थिक स्थित पूरी तरह से खराब हो गई है। वह पाई-पाई को मोहताज हो गया है। इसके बाद मदन पाल ने बेटे और बहू को अपने साथ रख लिया। दोनों रहने लगे और उनकी सेवा करते थें।

लखीमपुर गए थे पिता, बेटा और बहू पैसे लेकर हुए फरार
मदनलाल को बेटे और बहू पर विश्वास हो गया जिसके बाद 27 मार्च को मदन पाल कुछ काम से लखीमपुर खीरी गए थे। उन्होंने बताया कि 31 मार्च की रात बेटे रजत ने फोन किया कि उसे कुछ जरूरी काम है। वह पत्नी के साथ दिल्ली जा रहा है। चाभी पड़ोस में रहने वाले एक परिचित को दे दी है। मदनपाल एक अप्रैल को घर लौटे और पड़ोसी से चाभी लेकर घर खोला। इसके बाद उन्होंने अलमारी देखी तो उसमें रखे करीब 24 लाख रुपए और लाखों के जेवर गायब थे। बेटे को फोन किया तो उसने फोन रिसीव नहीं किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

और पढ़ें