पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • UP: Hathras Rape Victim Post Mortem Report | Safdarjung Hospital Doctors Claimed, Says Victim Death Due To Strangulation

हाथरस दुष्कर्म पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट:सफदरजंग अस्पताल का दावा- पीड़ित का बार-बार गला दबाया गया, टूट गई थी सर्वाइकल; स्पाइन दुष्कर्म की पुष्टि नहीं, प्राइवेट पार्ट में पीरियड के लक्षण थे

लखनऊ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृत पीड़िता।- फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
मृत पीड़िता।- फाइल फोटो
  • सफदरजंग अस्पताल के तीन डॉक्टरों के पैनल ने किया था पोस्टमार्टम
  • ऑटोप्सी रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं, गर्दन दबाए जाने के की हुई पुष्टि
  • मौत के कारणों के लिए विसरा प्रिजर्व किया गया
  • अलीगढ़ के मेडिकल कॉलेज के बाद दिल्ली के सफदरगंज हॉस्पिटल के डॉक्टरों की आई रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले की मृत 19 साल की दलित युवती की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। परिवार वालों ने दावा किया था कि दुष्कर्म के बाद युवती की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई और उसकी जीभ भी काट दी गई थी। लेकिन दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के तीन डॉक्टरों के पैनल की ऑटोप्सी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि लड़की के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ है। प्राइवेट पार्ट में पीरियड के दिनों के लक्षण मिले हैं। रेप की पुष्टि नहीं हुई है। गर्दन पर चोट के निशान मिले हैं, जो कि गला दबाने के हैं। मौत के कारणों का पता लगाने के लिए विसरा प्रिजर्व किया गया है।

दो अस्पतालों की मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं

युवती की मेडिकल जांच अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में हुई थी। उसमें भी दुष्कर्म की पुष्टि नहीं की गई थी। कमोबेश वही रिपोर्ट अब दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों ने दी है। सफदरगंज हॉस्पिटल के तीन डॉक्टरों के पैनल ने अपनी रिपोर्ट में यह दावा किया है कि लड़की के साथ कोई भी रेप की पुष्टि नहीं हुए है। उसके प्राइवेट पार्ट में जो लक्षण हैं, वह नॉर्मल डे के हैं। डॉक्टरों का दावा है कि, लड़की की गला दबाया गया है। खिंचाव के निशान हैं, जिससे उसके चोटें लगी हैं। फिलहाल मौत होने की भी पुष्टि उस चोट से नहीं हुई है। डॉक्टरों ने मौत के कारणों को जानने के लिए विसरा प्रिजर्व कर लिया है।

फोरेंसिक रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं
हाथरस की घटना पर एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि गले में चोट के कारण पीड़ित युवती की मौत हुई है। फोरेंसिक लैब की रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है। कानून व्यवस्था कुछ लोगों द्वारा ये जानबूझ कर प्रदेश का सामाजिक सद्भाव बिगाड़ा गया। सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। गलत तथ्यों के आधार पर शासन और पुलिस को बदनाम किया जा रहा है। ऐसे करने वालों के बयानों का हम परीक्षण कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि घटना के दिन के दो वीडियो आज सामने आए हैं। पीड़िता के साथ मारपीट की बात उसमें कही गई है। पीड़िता या उसकी मां ने दुष्कर्म की बात नहीं कही थी। पीड़िता ने एक वीडियो में अपनी जीभ भी दिखाई है जो कटी नहीं थी। 22 सितंबर को पहली बार पीड़िता ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था। हाथरस में स्थानीय प्रशासन ने धारा 144 लगाई है। मेडिकल कारणों को देखते हुए धारा 144 लगाई गई है। पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गले की चोट और शॉक से मौत की बात है।

क्या है पूरा मामला?

हाथरस जिले के थाना चंदपा इलाके के गांव में 14 सितंबर को 4 लोगों ने 19 साल की युवती से गैंगरेप किया था। आरोपियों ने युवती की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी और उसकी जीभ भी काट दी थी। दिल्ली में इलाज के दौरान पीड़ित की मौत हो गई। चारों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...