झांसी, बांदा, चित्रकूट और उन्नाव में ओले गिरे:मुरादाबाद- प्रयागराज में रिमझिम बारिश, मौसम विभाग का मेरठ-गाजियाबाद सहित यूपी के 23 जिलों के लिए अलर्ट

उत्तर प्रदेश8 महीने पहले
रविवार को मुरादाबाद और प्रयागराज में मूसलाधार बारिश हुई।

उत्तर प्रदेश में मौसम तेजी से करवट ले रहा है। रविवार को मुरादाबाद और प्रयागराज में रिमझिम बारिश हुई। झांसी, बांदा, चित्रकूट और उन्नाव में आज ओले गिरे हैं। उन्नाव के थाना फतेहपुर 84, सफीपुर, बांगरमऊ समेत विभिन्न क्षेत्रों में रात से शुरू हुई बारिश पूरे दिन जारी रही। यहां करीब 105 एमएम वर्षा रिकार्ड की गई। 1998 के बाद जनवरी में इतनी अधिक बारिश का रिकार्ड भी बना। बारिश होने से किसानों का काफी नुकसान हुआ है।

बांदा में बारिश के साथ ओले गिरने से किसानों की फसल बर्बादी की कगार पर पहुंच गई है। सरसों, चना, मसूर, अरहर, मटर, गेंहू आदि फसलों को नुकसान पहुंचा है। किसान राम सजीवन ने बताया ओलावृष्टि से खेती में बहुत बड़ा नुकसान हुआ है। सरसों और मटर खेत में गिर गई है। मसूर और चने को भी काफी नुकसान हुआ है। खेत में लबलब पानी भरा हुआ है जिससे गेहूं को भी नुकसान पहुंचा है।

झांसी में आज ओले गिरे हैं।
झांसी में आज ओले गिरे हैं।

उधर मुरादाबाद में सुबह में धूप निकली थी। लेकिन शाम होते ही यहां पर अचानक बारिश शुरू हो गई। पिछले 4 दिन से रुक-रुक कर हो रही बारिश ने ठंड और भी बढ़ा दी है। बारिश की वजह से शहर के कई इलाकों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई हैं। शहर का लो लाइन एरिया जलभराव के संकट से जूझ रहा है। यहां पढ़ें पूरी खबर

प्रयागराज में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। बारिश की वजह से ठंड बढ़ गई है। रुक-रुक कर हो रही बारिश से आवागमन पर भी असर पड़ा है।

प्रयागराज में बारिश के चलते आवागमन पर भी असर पड़ा।
प्रयागराज में बारिश के चलते आवागमन पर भी असर पड़ा।

उधर झांसी से करीब 70 किलोमीटर दूर एमपी के टीकमगढ़ में रविवार को आकाशीय बिजली गिरने से एक गर्भवती महिला गंभीर रूप से झुलस गई। उसे झांसी मेडिकल कॉलेज लाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। घटना टीकमगढ़ जिले के चंदेरा के कछिया गुढ़ा गांव में हुई। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। यहां पढ़ें पूरी खबर

प्रदेश के 23 जिलों में बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने प्रदेश के 23 जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया है। 45 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने का भी अनुमान है। वेस्ट यूपी के कई शहरों में आसमान में बादलों का डेरा है। बिजली गिरने का भी अलर्ट है। मौसम विभाग की सलाह है कि मौसम पर नजर रखते हुए लाेग सुरक्षित स्थानों में रहें।

इससे पहले रविवार सुबह ललितपुर व आसपास ओले भी गिरे हैं। बेमौसम बारिश व ओले गिरने से यहां फसलें चौपट हो गई है। कानपुर-लखनऊ में तीन दिनों से रिमझिम बारिश का दौर जारी है। आज भी सुबह से कई स्थानों पर बूंदाबांदी हुई है। इस साल अक्टूबर से दिसंबर तक लखनऊ में सामान्य की तुलना में 200 % बारिश हो चुकी है। पिछले साल इन तीन महीनों में 46.5% ही बारिश हुई थी।

इन 23 जिलों में बारिश का अलर्ट

गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, हापुड़, मेरठ, बागपत, शामली, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, ललितपुर, बरेली, पीलीभीत, हरदोई, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी, बांदा, चित्रकूट, रायबरेली, कौशांबी, प्रयागराज, प्रतापगढ़, संत रविदास नगर, जौनपुर

वेस्ट यूपी में 26 साल का बारिश का रिकॉर्ड टूटा

वेस्ट यूपी में 1995 के बाद जनवरी माह में इतनी बारिश हुई है। इसने 26 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक मेरठ में 24 घंटे में 43 MM बारिश दर्ज की गई है। बता दें कि 1995 में 54MM बारिश हुई थी। पहाड़ों पर बने विक्षोभ के चलते यूपी, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड में मौसम बदला है। वेस्ट यूपी में पिछले 5 दिनों से

बारिश का मौसम है। अगले दो दिन तक भी बारिश के आसार हैं। वहीं, ललितपुर में हुई ओलों की बरसात, मटर, चना मसूर की फसलों को नुकसान हुआ है।

वेस्ट यूपी में लगातार बारिश
शनिवार रात में भी कानपुर, लखनऊ, मेरठ व आसपास के जिलों और एनसीआर में बारिश हुई। इससे ठंड और भी बढ़ गई है। अभी 48 घंटे और बारिश के आसार बने हुए हैं। NCR के मेरठ, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, बागपत, बुलंदशहर, हापुड़, सहारनपुर के अलावा शामली, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, बरेली, शाहजहांपुर जिलों में बारिश की संभावना है। आगरा और अलीगढ़ मंडल के जिलों के अलावा मध्य यूपी में भी बारिश रहेगी। झांसी में लखनऊ व पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में भी बारिश का मौसम है।

मेरठ में देर रात हुई बारिश का फोटो
मेरठ में देर रात हुई बारिश का फोटो

पहाड़ों पर बर्फ, मैदानी इलाकों में बारिश
पहाड़ों पर लगातार बर्फ गिरने से वेस्ट यूपी, दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह से सर्दी बढ़ी है। पिछले दिनों बारिश से NCR का न्यूनतम तापमान 3 डिग्री तक पहुंच गया था। मौसम विभाग के अनुसार, वेस्ट यूपी ही नहीं, बल्कि एक साथ कई राज्यों में बारिश से मौसम बदल गया है।। उत्तराखंड, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा समेत कई राज्यों में बारिश की अगले दो दिन तक संभावना है। मैदानी इलाकों में बारिश ने मौसम बदल दिया है।

लगातार हो रही बारिश
पिछले 4 दिनों से मौसम बदला हुआ है। आसमान में बादल छाए रहे और तेज हवाओं व हल्की बूंदाबांदी से ठंड बढ़ी है। रात में हल्की हवाओं ने सर्दी और भी बढ़ा दी। मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक एन सुभाष के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से मेरठ समेत वेस्ट यूपी में पिछले 4 दिन से मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है।

सहारनपुर में 4 दिन से सड़कें सूख नहीं पाई है।
सहारनपुर में 4 दिन से सड़कें सूख नहीं पाई है।

सब्जियों के साथ फसलों को भी नुकसान

मेरठ के कबट्टा गांव में गेहूं की फसल डूबी हुई
मेरठ के कबट्टा गांव में गेहूं की फसल डूबी हुई

कृषि विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. रितेश शर्मा का कहना है कि बेमौसम बारिश से कुछ फसलों को भी नुकसान है। कई हिस्सों में जहां ओला गिरा है वहां सरसों, आलू, गाजर और गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचा है। बारिश से खेत में पानी भर जाता है, जिससे आलू मिट्‌टी में ही गलने लगता है।

बारिश के साथ हवा चलने से सरसों की पत्ती टूटने लगती है और गन्ने की छिलाई बंद हो जाती है। अभी भी बारिश होने की संभावना है। कुछ क्षेत्रों में आलू, गाजर, मटर, टमाटर को नुकसान हुआ है। गेहूं की फसल जमी नहीं है उसमें भी नुकसान है।